Menu
blogid : 532 postid : 210

आईपीएल 5 : नाम बड़े दर्शन छोटे

Indian Premier League(IPL)
IPL Cricket
  • 44 Posts
  • 29 Comments

iplइंडियन प्रीमियर लीग का पांचवां संस्करण लोगों के सर चढ़ कर बोल रहा है. जैसे-जैसे मैच खेले जा रहे हैं इसका रोमांच और बढ़ता जा रहा है. आधे से अधिक मैच खेले जा चुके हैं जिसमें कुछ टीमों का प्रदर्शन बहुत अच्छा तो कुछ का बहुत ही खराब देखने को मिला लेकिन कुछ टीमें अपना औसत प्रदर्शन देने में कामयाब रहीं. बुरे प्रदर्शन में टीम के उन खिलाड़ियों का नाम है जिन्हें खरीदने में आईपीएल के मालिकों ने काफी धन लुटाए. अब वह इन्हे खरीदकर काफी पछता रहे होंगे. आइए नजर डालते हैं कौन-कौन से ऐसे भारतीय खिलाड़ी हैं जो अपने मालिकों के उम्मीदों पर खरे नहीं उतरे.

यूसुफ पठान: अपनी तूफानी बल्लेबाजी से बॉलरों के चेहरे को उदास करने भारत के धुरंधर बल्लेबाज यूसुफ पठान के संबंध में ऐसा माना जाता है यह खिलाड़ी आईपीएल के लिए ही बना है. जब यह खिलाड़ी शेन वॉर्न की कप्तानी में राजस्थान रॉयल्स की तरफ से खेल रहा था तब राजस्थान टीम ने कई कीर्तिमान रचे और आईपीएल के पहले संस्करण में विजेता साबित हुआ. इसी दौरान यूसुफ पठान अपने खेल के लिए दुनियाभर में जाने जाने लगे जिससे आईपीएल में उनकी कीमत और ज्यादा बढ़ गई. 2011 की आईपीएल बोली में शाहरुख खान की टीम कोलकाता ने उन्हें 21 लाख डॉलर में ख़रीदा था. लेकिन इस खिलाड़ी ने उम्मीद के अनुसार अपनी ओर से अच्छा प्रदर्शन करके नहीं दिखाया. आईपीएल पांच में यूसुफ पठान ने 13 मैच खेले हैं जिसमें उन्होंने 13.00 की औसत से 117 रन बनाए है. उनका स्ट्राइक रेट 101.73 रहा.

महेन्द्र सिंह धोनी: मिस्टर कूल के नाम से प्रसिद्ध भारत के सफलत कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी का लक विश्वकप 2011 के बाद बहुत ही ज्यादा खराब चल रहा है. पिछले एक साल में भारत ने इनकी कप्तानी में कई महत्पूर्ण सीरीज गंवाए जिसको देखते हुए धोनी को कप्तानी से हटाए जाने की बात की जाने लगी. इनके खराब प्रदर्शन का दौर टेस्ट और वनडे के साथ-साथ आईपीएल में भी देखने को मिल रहा है. चेन्नई सुपर किंग की तरफ से खेलने वाला यह कप्तान जब अपने रंग में था तो अपने आईपीएल टीम को एक नई उंचाइयों पर ले गया और दो बार टीम को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया. लेकिन आईपीएल के पांचवें संस्करण में इस खिलाड़ी ने 15 मैचों में 26.00 की औसत से 264 रन बनाए.

विराट कोहली: पिछले एक साल से इस खिलाड़ी ने अपने बेहतर प्रदर्शन से लोगों को प्रभावित किया. टीम संकट के दौर से गुजरती है तो इस खिलाड़ी ने लाजवाब प्रदर्शन करके टीम को कई बार उबारा. इनके प्रदर्शन से भारतीय टीम के साथ इन्हें भी काफी लाभ पहुंचा. एशिया कप में इन्हे टीम का उपकप्तान चुना गया. आईपीएल-4 के उम्मा प्रदर्शन नें इन्हे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु का पसंदीदा खिलाड़ी बना दिया लेकिन आईपीएल-5 में इस खिलाड़ी नें अपने मालिक को निराश किया. बैगलोर के इस खिलाड़ी ने इस संस्करण में अब 10 मैच खेले 192 रन बनाए इनका औसत रहा 21.33 रहा.

रविंद्र जडेजा: भारतीय टीम के उभरते हुए हरफनमौला खिलाड़ी रविंद्र जडेजा ने जब क्रिकेट की दुनिया में कदम रखा तो कोई नहीं जानता था कि यह खिलाड़ी तरक्की की कई इबारत लिखेगा. आईपीएल के पांचवें संस्करण की बोली में इस खिलाड़ी को खरीदने के लिए सबसे ज्यादा बोली लगाई गई. आईपीएल में बेहतर प्रदर्शन की बदौलत भारतीय टीम में जगह पाने वाला यह खिलाड़ी आईपीएल-5 में रनों के लिए काफी तरसता हुआ दिखाई दे रहा है. इनके खराब प्रदर्शन ने चेन्नई सुपर किंग के मालिकों की चिंताएं बढ़ा दी हैं. इन्होंने अपने 15 मैचों में अब तक 17.00 की औसत से 177 रन बनाए हैं.

Read Hindi News