Menu
blogid : 319 postid : 1387848

गब्‍बर सिंह से भल्‍लाल देव तक, इन सितारों ने रिजेक्‍ट कर दिए थे विलेन के ये दमदार किरदार

बॉलीवुड में फिल्‍मों की कहानियां आमतौर पर हीरो-हीरोइन को केंद्रित करके लिखी जाती हैं। ज्‍यादातर फिल्‍मों की लाइमलाइट भी ये लीड कैरेक्‍टर्स की चुराते हैं। मगर कुछ ऐसी फिल्‍में भी बनी हैं, जिनमें लीड कैरेक्‍टर के बराबर नेगेटिव किरदार भी चर्चा में रहे। कई फिल्‍मों में ऐसे खलनायकों के रोल रहे हैं, जिनका उस फिल्‍म को हिट कराने में बराबर योगदान रहा। हीरो की ही तरह विलेन के इन किरदारों को भी लोगों ने खूब पसंद किया। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि फेमस विलेन के कई ऐसे रोल हैं, जो किसी और को ऑफर किए गए थे। मगर उन सितारों के मना करने के बाद दूसरों ने उस किरदार को निभाया और जबरदस्‍त हिट हुए। आइये आपको ऐसे ही पांच हिट विलेन किरदारों के बारे में बताते हैं, जिन्‍हें बड़े सितारों ने करने से मना कर दिया था।

villain

भल्लाल देव-जॉन अब्राहम

john abraham

फिल्म ‘बाहुबली’ के हर किरदार की पहचान बन गई है। जिस तरह लोग प्रभास को बाहुबली के नाम से जानने लगे हैं, उसी तरह राणा दग्‍गुबती को फिल्‍म के दमदार खलनायक ‘भल्लाल देव’ के नाम से ही पहचाना जाने लगा है। फिल्‍म में बाहुबली के पॉजिटिव किरदार की तरह ही भल्‍लालदेव के निगेटिव किरदार ने भी लोगों की खूब वाहवाही बटोरी। मगर आपको हैरानी होगी कि भल्लाल देव के रोल के लिए बॉलीवुड अभिनेता जॉन अब्राहम निर्माताओं की पहली पसंद थे। हालांकि, जॉन इस रोल को निभाने के लिए तैयार नहीं हुए और फिल्म राणा की झोली में चली गई।

राहुल मेहरा-आमिर खान

Aamir Khan

फिल्म ‘डर’ में शाहरुख खान ने राहुल मेहरा के किरदार में सबका दिल जीत लिया। रोमांटिक हीरो के रूप में मशहूर शाहरुख को पहचान दिलाने वाला यह किरदार नेगेटिव था। हालांकि, इस रोल के लिए पहले आमिर खान को चुना गया था। मगर उस वक्त आमिर कई फिल्मों में रोमांटिक हीरो के रूप में नजर आ चुके थे और लोगों को उनका यह रूप पसंद था। यही वजह रही कि आमिर ने राहुल मेहरा बनना उचित नहीं समझा और अंत में शाहरुख को यह रोल मिल गया।

क्राइम मास्टर गोगो-टीनू

Tinnu Anand

शक्ति कपूर अब भी ‘क्राइम मास्टर गोगो’ के रूप में दर्शकों का मनोरंजन करते हैं। मगर हिंदी सिनेमा के सबसे बेहतरीन खलनायकों में से एक क्राइम मास्टर गोगो के रूप में निर्माताओं की पहली पसंद शक्ति कपूर नहीं थे। इस रोल के लिए अभिनेता टीनू आनंद को चुना गया था, लेकिन किन्हीं कारणों से वे इसे नहीं निभा पाए।

मोगैंबो-अनुपम खेर

Anupam-Kher

अमरीश पुरी की आवाज में ‘मोगैंबो खुश हुआ’ डायलॉग और जानदार बन जाता है। श्रीदेवी और अनिल कपूर की फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में अमरीश पुरी मोगैंबो बनकर आए और छा गए। मगर ‘मोगैंबो’ के रोल के लिए अभिनेता अनुपम खेर का ऑडिशन लिया गया था। बताया जाता है कि फिल्म में उनका काम करना भी लगभग तय हो चुका था, लेकिन अनिल कपूर के कहने पर फिल्म के डायरेक्टर शेखर कपूर और निर्माता बोनी कपूर ने इस रोल के लिए अमरीश पुरी को चुना।

गब्बर सिंह-डैनी डेन्जोंगपा

danny denzongpa

शोले की चर्चा होते ही गब्‍बर का नाम सबसे पहले जुबां पर आता है। गब्‍बर का ‘कितने आदमी थे’ डायलॉग आज भी उतना ही रोमांचक लगता है, जितना कि फिल्‍म की रिलीज के समय लगता रहा होगा। मगर आपको जानकर हैरानी होगी कि गब्‍बर सिंह का यह किरदार अमजद खान से पहले डैनी डेन्जोंगपा निभाने वाले थे। बताया जाता है कि यह किरदार लिखा ही डैनी के लिए गया था, क्योंकि डैनी उस दौर के सबसे मशहूर खलनायक थे। मगर ‘शोले’ की शूटिंग में देरी होने की वजह से डैनी के सामने डेट्स की समस्या आ गई और ना चाहते हुए भी उन्हें यह रोल छोड़ना पड़ा...Next

Read More:

देश की वो जगह, जहां इस खौफ के कारण 150 साल से नहीं मनाई गई होली!

इरफान पठान का चौंकाने वाला खुलासा- टीम इंडिया में उनसे जलते थे कुछ खिलाड़ी

दुबई के इस आलीशान होटल में रुकी थीं श्रीदेवी, इतना है एक रात का किराया