Menu
blogid : 319 postid : 1142876

ले-देकर इन 10 फॉर्मूलों पर ही बनती हैं बॉलीवुड की सबसे ज्यादा फिल्में

बीते दशकों में बॉलीवुड में कुछ फिल्में हटकर बन रही है. लीक से हटकर बनी फिल्में हमेशा तो बॉक्स ऑफिस पर कामयाब नहीं हो पाती लेकिन दर्शकों के किसी खास वर्ग की उम्मीदों पर जरूर खरा उतरती हैं. लेकिन दूसरी तरफ कुछ समय पहले बॉलीवुड में कई कॉमन प्लॉट पर फिल्में बना करती थी. जैसे किसी फिल्म को देखते हुए आपको भी ख्याल आया होगा कि इस फिल्म की कहानी तो उस फिल्म जैसी है. आइए हम आपको बताते है बॉलीवुड के ऐसे कॉमन कांसेप्ट (विषय) जिनपर कई फिल्में बन चुकी हैं.

jab we met

अमीर-गरीब की दीवार

80-90 के दशकों में कहानी का ये फॉर्मूला काफी हिट माना जाता था. जिनमें ज्यादातर हीरो गरीब होता था और हीरोइन अमीर. हीरो-हीरोइन की लवस्टोरी में अमीर और गरीब होना सबसे बड़ी दीवार थी. इस फॉर्मूले पर बनी फिल्म हैं मैंने प्यार किया, बॉबी, राजा हिन्दुस्तानी, इश्क, दिल.

raja hindustani

पहले से किसी रिश्ते में होना

इस फॉर्मूले पर बनी फिल्मों में एक बात कॉमन होती थी जिसमें हीरो-हीरोइन के आपस में मिलने से पहले, दोनों में से कोई पहले से ही किसी रोमांटिक या जर्बदस्ती के रिश्ते में बंधा होता है. इस फॉर्मूले पर बनी फिल्म हैं,  हंसी तो फंसी, तन्नू वेड्स मन्नू, वीर-जारा, हमको दीवाना कर गए, अजब प्रेम की गजब कहानी.

tannu weds mannu

पारिवारिक रंजिश

हीरो-हीरोइन दोनों को है प्यार लेकिन बीच में है परिवार की दुश्मनी की दीवार. जी हां, कुछ ऐसे प्लॉट पर अनगिनत फिल्में बन चुकी है. जैसे कयामत से कयामत तक, इश्कजादे, सौदागर, सनम बेवफा, रामलीला.

ramleela

Read : बॉलीवुड की वो हॉरर फिल्में जिन्हें आप रात में देख लें तो आपकी नींद उड़ जाएगी

बचपन का प्यार और बिछड़ना

बचपन से एक दूसरे को पसंद करने वाले लड़का-लड़की, वक्त से पहले ही बिछड़ जाते हैं और फिर कई उतार-चढ़ाव के बाद फिर से मिल जाते हैं. जीना सिर्फ मेरे लिए, बेताब, मुकद्दर का सिकंदर, मुझसे दोस्ती करोगे, हम किसी से कम नहीं ऐसी फिल्मों में शामिल हैं.

mujhse dosti karoge1

घूमने-फिरने के दौरान हुआ प्यार

हीरो-हीरोइन दोनों एक ही जगह घूमने जाते हैं लेकिन एक दूसरे को नहीं जानते. ऐसे में कुछ ऐसी घटनाएं होती हैं जिससे वो दोनों एक दूसरे को जानने लगते हैं और दोनों में प्यार हो जाता है. जब वी मेट, डीडीएलजे, ये जवानी है दीवानी, तमाशा, हद कर दी आपने ऐसी फिल्मों में शुमार हैं.

jab-we-met-may-29

सॉयको लवर

प्यार कभी-कभी पागलपन बन जाता है. इस प्लॉट पर बनी फिल्मों को देखकर तो कम से कम ऐसा ही लगता है. डर, कोई मेरे दिल से पूछे, एक हसीना थी, मर्डर, गायब ऐसी फिल्मों में शामिल हैं.

dar

अपने प्यार का बदला

अपने प्यार का बदला लेने के लिए हीरो किसी सरहद या कानून की परवाह न करते हुए विलेन के घर में घुसकर चुनौती देता है. हेट स्टोरी, गजनी, बदलापुर, एक विलेन, एनएच10 ऐसी ही फिल्मों के उदाहरण हैं.

badlapur

प्यार का दुखद अंत

लाख कोशिशों के बाद भी हीरो- हीरोइन मिल नहीं पाते. ऐसी फिल्मों का जिक्र करें तो सबसे पहले तेरे नाम, देवदास, आवारापन, रॉकस्टार, मसान जैसी फिल्मों का नाम याद आता है.

masaan

Read : लीक से हटकर इन किताबों पर बनी है बॉलीवुड की ये 10 खास फिल्में

शादी के बाद प्यार होना

जबर्दस्ती या किसी दूसरी वजह से हीरो या हीरोइन में से कोई पहले से ही शादीशुदा होता है. जिसके बाद उनकी लाइफ में किसी खास की एंट्री होती है और दोनों को प्यार हो जाता है. जैसे सिलसिला, कभी अलविदा न कहना, लाइफ इन ए मेट्रो, हमारी अधूरी कहानी, अर्थ.

silsila

परिवार या दोस्त के लिए प्यार की कुर्बानी

अपनी दोस्ती या परिवार की वजह से अपने दिल पर पत्थर रखकर अपने प्यार छोड़ने पर आधारित फिल्में भी बॉलीवुड में खूब बनती है. जैसे साजन, एक दूजे के लिए, तेरे नाम, मैं प्रेम की दीवानी हूं, सागर...Next

sajan

Read more

बॉलीवुड के मशहूर सितारे, जिन्होंने बिना तलाक लिए की शादी

सेलिब्रिटीज बेचारे! जिनके पांव हमेशा कब्र में होते हैं और जो कभी भी मर सकते हैं

अपनी शादी में नीतू सिंह और ऋषि कपूर हो गए थे बेहोश, जानिए ऐसा क्या हुआ था