Menu
blogid : 7002 postid : 1388205

जब सचिन-गांगुली के बल्‍ले से जमकर बरसे रन, पहली निदहास ट्रॉफी का था फाइनल मैच

भारत, बांग्लादेश और श्रीलंका के बीच 6 मार्च से होने वाली निदहास ट्रॉफी के लिए टीम इंडिया का एलान हो चुका है। इस सीरीज में भारत ने कई युवा खिलाड़ियों को मौका दिया है। वहीं, कप्तान विराट कोहली समेत एमएस धोनी, जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को आराम दिया गया है। विराट की गैर-मौजूदगी में रोहित शर्मा टीम की कमान संभालेंगे। यह सीरीज श्रीलंका के लिए बेहद खास है, क्‍योंकि इसका आयोजन श्रीलंका की आजादी के 70 साल पूरे होने के मौके पर किया जा रहा है। इससे पहले यह टूर्नामेंट श्रीलंका की आजादी के 50 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में साल 1998 में खेला गया था। उस सीरीज के फाइनल मुकाबले में सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली की जोड़ी ने ऐसी पारी खेली थी कि रिकॉर्ड बन गया था।

sachin ganguly

तीसरी टीम थी न्‍यूजीलैंड

sachin ganguly3

भारतीय टीम निदहास ट्रॉफी 2018 के लिए श्रीलंका पहुंच चुकी है। इस ट्रॉफी की शुरुआत साल 1998 में ही हुई थी। 20 साल पहले जब इस ट्रॉफी का आयोजन किया गया था, तो भारत, श्रीलंका और न्यूजीलैंड के बीच टूर्नामेंट खेला गया था। इसमें प्रत्येक टीम को तीन-तीन मैच खेलने थे। फाइनल से पहले तीनों मैच जीतकर श्रीलंका पहले स्थान पर और भारत दूसरे स्‍थान पर था, जबकि न्यूजीलैंड की उम्मीदों पर बारिश ने पानी फेर दिया था। इस कारण फाइनल में न्यूजीलैंड की टीम टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी।

सचिन-गांगुली में 252 रनों की मजबूत पार्टनरशिप

sachin ganguly1

7 जुलाई, 1998 को भारत और श्रीलंका के बीच कोलंबो के प्रेमादास स्टेडियम में फाइनल मैच खेला गया था। मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्‍तानी में भारतीय टीम ने 6 रनों से निदहास ट्रॉफी 1998 जीती थी। इस जीत में मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर और सौरव गांगुली का अहम योगदान रहा। इन दोनों की मजबूत 252 रनों की पार्टनरशिप की बदौलत भारत यह ट्रॉफी जीतने में कामयाब हुआ था। भारत ने श्रीलंका के सामने 307 रनों का लक्ष्य रखा था। श्रीलंकाई खिलाड़ियों ने अच्छी बल्लेबाजी की, लेकिन वे भारतीय गेंदबाजों के आगे टिक नहीं पाए और भारत ने 6 रनों से फाइनल मैच जीत लिया था।

तोड़ दिया था बड़ा रिकॉर्ड

SACHIN SOURAV

सचिन तेंदुलकर ने 8 चौकों और 2 छक्कों की मदद से 128 रन बनाए, जिसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया था। सचिन का साथ देते हुए सौरव गांगुली ने भी शानदार 109 रनों की पारी थी। उस समय सचिन-गांगुली की इस 252 रनों की पार्टनरशिप ने पहले विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड भी तोड़ा था। वहीं, श्रीलंकाई खिलाड़ी अरविंदा डी सिल्वा को 368 रन और 1 विकेट लेने के लिए प्लेयर ऑफ द सीरीज चुना गया था। इस बार श्रीलंका के 70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित होने वाली निदहास ट्रॉफी बांग्लादेश, भारत और श्रीलंका के बीच खेली जाएगी। इस टी-20 अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट के सभी मैच कोलंबो के प्रेमादास स्टेडियम में खेले जाएंगे...Next

Read More:

कंट्रोवर्सी में भी कम नहीं हैं कोहली, जानें उनके कॅरियर के विराट विवादएक दिन के लिए मुख्‍यमंत्री बना था यह नेता, विवादों से रहा नाता31 मार्च तक निपटा लें ये जरूरी काम, नहीं तो हो जाएगा नुकसान!