Menu
blogid : 28977 postid : 4

यशोदानंदन की परीक्षा

ajay16
Ajay Shrivastava's Blog
  • 2 Posts
  • 0 Comment

मन को मोहित करने वाली सुगंधित शीतल पवन चल रही थी। श्रीकृष्ण ने देखा आकाश में श्याम (काले) मेघ भी आ रहे थे। ये मनोरम दृश्य देखकर वहीं छोटे पर्वत पर बैठकर श्रीकृष्ण बांसुरी बजाने लगे। कुछ समय पश्चात बांसुरी के स्वर को विराम लगा ही था कि गले में मृदंग लटकाकर एक मल्लकाय (पहलवान जैसा) व्यक्ति वहां आया- तू कृष्ण है न।  भगवान श्रीकृष्ण उसको देखकर कुछ डरे- हां, पर तुम कौन हो?

भगवान श्रीकृष्ण को डराने वाला कौन था? जानने के लिए दी गयी लिंक पर आएं-

https://sanskarajayv4shrivastava.blogspot.com/2018/07/blog-post_12.html



Tags: