तेज पछुआ हवा और शीतलहर से जनजीवन प्रभावित

जागरण टीम हाजीपुर पिछले दिनों हुई बारिश के बाद कई दिनों से जारी पछुआ हवा और श्

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 12:08 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 12:08 AM (IST)
तेज पछुआ हवा और शीतलहर से जनजीवन प्रभावित

जागरण टीम, हाजीपुर :

पिछले दिनों हुई बारिश के बाद कई दिनों से जारी पछुआ हवा और शीतलहर का प्रकोप हाड़ कंपा देने वाली ठंड से आम जनजीवन प्रभावित है। दिन-रात जारी तेज हवा की शीतलहर एवं कनकनी भरी ठंड बढ़ने से लोग बेहाल हो रहे हैं। शहरी क्षेत्र से लेकर ग्रामीण इलाके तक में इसका असर देखा जा रहा है। मंगलवार को दोपहर बाद हल्की धूप भी निकली लेकिन तेज हवा और शीतलहर ने लोगों को भीषण ठंड का एहसास कराते रहा। की ठंड से जहां आम जन-जीवन प्रभावित है, वही पशु-पक्षी और पालतु मवेशी भी इस प्रकोप से प्रभावित हो रहे हैं। लोगों को परेशानियों से जूझना रहा है। लोग अपने घरों में ही दुबकने को विवश हो रहे हैं। पर आम दिनों की तरह आवागमन में भी कमी देखी जा रही है। नगर परिषद कहीं अलाव की व्यवस्था नहीं की है। जंदाहा में शाम होते ही घरों में दुबकने को विवश हैं लोग संवाद सूत्र, जंदाहा : कड़ाके की ठंड के कारण गरीब एवं मजदूरों की परेशानी बढ़ रही है। तेज पछुआ हवा के कारण कनकनी एवं हाथ-पैर काम नहीं कर पाने से कामकाज भी प्रभावित हो रहे हैं। रहा है। भीषण ठंड के बावजूद सरकारी स्तर पर अलाव की व्यवस्था नहीं की गई है। बाजार के कुछ सार्वजनिक स्थलों पर सीओ ने अलाव की व्यवस्था कराई है। लेकिन शाम होते ही लोग अपने घरों में दुबकने को विवश हैं। अंचल अधिकारी निशांत कुमार ने बताया कि सरकारी स्तर से बाजार के करीब 20 स्थलों पर अलाव की व्यवस्था कराई गई है। दूसरी ओर जनप्रतिनिधियों ने ग्रामीण चौक-चौराहे पर अलाव की व्यवस्था किए जाने की मांग की है। नगर इलाके में चौक-चौराहे पर नहीं जल रहे अलाव संवाद सहयोगी, महनार : तापमान में गिरावट के कारण बढ़ी ठंड से आम जनजीवन पर प्रतिकूल प्रभाव है। ठंड का सबसे अधिक असर गरीब-मजदूरों पर देखा जा रहा है। खेत आदि में काम करने वाले मजदूरों के अलावा रिक्शा-ठेला चलाने वाले भी परेशान हैं। पर घूम-घूम कर सामग्री बेचने वाले ठंड से हलकान दिख रहे हैं। नगर में मकर से पूर्व सार्वजनिक स्थानों पर अलाव की व्यवस्था की गई थी। लेकिन अभी तक अलाव की व्यवस्था नहीं है। इससे सबसे अधिक परेशानी किनारे रहकर अपनी रोजी-रोटी कमाने वाले लोगों को झेलनी पड़ रही है। उन्हें इधर-उधर दुबक कर ठंड गुजारना पड़ रहा है। लोगों ने अलाव जलाने की मांग की है। मजदूर तबके के लोगों की शीतलहर से मुश्किलें बढ़ी संवाद सूत्र, सहदेई बुजुर्ग : दिनभर सूरज की आंख मिचौनी और लगातार चल रही पछुआ हवा के कारण ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। दिन के मुकाबले रात का तापमान अधिक कम रह रहा है। जिससे लोगों को घरों में भी ठिठुरन का अहसास हो रहा हैं। लोग अपने शरीर में गर्माहट के लिए कई तरह के उपाय कर रहे है। मजदूरों को कपड़े एवं अन्य आवश्यक संसाधनों के अभाव में उन्हें ज्यादा मुश्किल हो रही है, जिन्हें सड़क किनारे या झोपड़ियों में रहना पड़ रहा है। ठंड से अंधड़ाबढ़ चौक, सहदेई बुजुर्ग रेलवे स्टेशन, अस्पताल, बाजारों, चौक-चौराहे पर लोगों की उपस्थिति काफी कम देखी गई। इसके बावजूद कहीं अलाव की व्यवस्था नहीं दिख रही। देसरी में ठंड में भी कहीं अलाव की व्यवस्था नहीं संवाद सूत्र, देसरी : प्रखंड के चौक-चौराहे से लेकर अन्य जगहों पर कही अलाव की व्यवस्था नही है। इससे के इस भीषण मौसम में लोगों को भारी परेशानी झेलना पड़ रहा है। हालांकि सीओ योगेंद्र सिंह ने बताया कि आवंटन कम है फिर भी प्रखंड मुख्यालय, गाजीपुर और चांदपुरा में अलाव की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा आवश्यकता के अनुसार अन्य जगहों को चिन्हित कर अलाव की व्यवस्था का प्रयास जारी है। अलाव की व्यवस्था, लेकिन लोगों की परेशानी बढ़ी संवाद सूत्र, राजापाकर : कई दिनों से चल रही पछुआ हवा से जनजीवन अस्त व्यस्त है। हालांकि प्रखंड मुख्यालय के पोस्ट आफिस चौक, शनीचर हाट चौक, कुशवाहा चौक, हाईस्कूल चौक सहित विभिन्न चौक- चौराहे पर सरकारी अलाव की व्यवस्था की गई है। लेकिन भीषण ठंड में खासकर गरीब, रिक्शा-ठेला चालक, महादलित परिवारों को परेशानी हो रही है। आज दिनभर धूप का दर्शन नहीं होने से कनकनी बढ़ी रही। इसके चलते चौक-चौराहे और बाजार की शाम होते ही सुनसान हो गई। तापमान गिरने से लोग परेशान दिख रहे हैं। बिदुपुर में कहीं भी नहीं जल रहा सरकारी अलाव संवाद सूत्र, बिदुपुर : भीषण ठंड के बावजूद प्रशासन की अलाव व्यवस्था नहीं है। इससे बावजूद चौक-चौराहे पर दैनिक मजदूरों, रिक्शा-टेंपो चालकों एवं अन्य लोगों को भीषण शीतलहर में कांपना रहा है। प्रशासन की उदासीनता से बाजार, चकौसन, बाजार, नावानगर, मायाराम हाट, माइल, भैरोपुर, कंचनपुर, पानापुर धर्मपुर आदि जगहों पर कही भी अलाव नही देखी जा रही है। हालांकि सीओ रवि राज अलाव की व्यवस्था कराने की बात कह रहे हैं, परंतु आम तौर पर यह देखने को कहीं नहीं मिल रहा है। राघोपुर में शाम होते ही बंद हो जा रहे चौक-चौराहे संवाद सूत्र, राघोपुर : पिछले दिनों से बर्फीली पछुआ हवा ने आम जनमानस की मुसीबतें बढ़ा दी है। ठंड इतनी महसूस हो रही है कि शाम ढलते ही चौक चौराहे पर दुकानों का शटर बंद होने लग रहा है। चौक-चौराहे पर लोगों के आवागमन भी कम ही दिख रही। वही अलाव की व्यवस्था नहीं किए जाने से लोगों की परेशानी बढ़ रही है। आम लोग घरों में जलाकर अलाव से राहत पा रहे हैं। स्थानीय लोगों की शिकायत है कि सीओ के स्तर से कोई व्यवस्था नहीं की गई है। वहीं अन्य अधिकारी-कर्मचारी भी इसके लिए गंभीर नहीं हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept