आठ बम फोड़े, मुखिया प्रत्याशी के भांजा डकैतों से भिड़ा तो मारी गोली

सीतामढ़ी। डकैती के दौरान लुटेरों ने आठ बम फोड़े और दहशत फैला दी। साहस का परिचय देते हुए मुखिया प्रत्याशी मीना देवी व पैक्स अध्यक्ष विरंजन के भांजे ने डकैतों से लोहा लिया तो उसके जांघ में गोली मार दी।

JagranPublish: Sat, 04 Dec 2021 11:13 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 11:13 PM (IST)
आठ बम फोड़े, मुखिया प्रत्याशी के भांजा डकैतों से भिड़ा तो मारी गोली

सीतामढ़ी। डकैती के दौरान लुटेरों ने आठ बम फोड़े और दहशत फैला दी। साहस का परिचय देते हुए मुखिया प्रत्याशी मीना देवी व पैक्स अध्यक्ष विरंजन के भांजे ने डकैतों से लोहा लिया तो उसके जांघ में गोली मार दी। उसको सीतामढ़ी के एक अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। बॉर्डर इलाके में ताबड़तोड़ डकैती की घटना को लेकर बैकफुट पर चल रही पुलिस से लोग बेहद खफा हैं। सोनबरसा में कल रात्रि में हुए डकैती के घटना स्थल का निरीक्षण किया गया एसपी हर किशोर राय खुद भी पहुंचे। स्थानीय थानाध्यक्ष और एसएसबी के असिसटेंट कमांडेंट को चौकसी बढ़ाने का निर्देश दिया। इसके बाद एसपी ने बेला थाने पर गांव वालों तथा पुलिसकर्मियों के साथ बैठक की। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर गृहभेदन व डकैती पर रोक लगाने के लिए जनप्रतिनिधियों से भी विचार-विमर्श किया।---------------------

बेटे से बोला डकैत- तुम्हारी मां चुनाव लड़ रही, पैसे निकालो वरना मार दूंगा करीब आधा दर्जन से अधिक डकैतों ने मेन गेट का ताला काटकर घर के अन्दर प्रवेश किए। घर में सोए हुए अध्यक्ष के पुत्र सुशील कुमार पर सबसे पहले पिस्टल तानी। डकैत बोला तुम्हारी मां मुखिया का चुनाव लड़ रही है। कल बैंक से पैसा निकाले हो तुम लोग वह निकालो वरना गोली मार दूंगा। हल्ला सुनकर विरंजन महतो दौड़े। डकैतो ने कमरे में कैद कर दिया। दूसरे लोग लूटपाट जारी रखे हुए थे। सुशील डकैतों को चकमा देकर भागा ओर शोर मचाने लगा। हल्ला सुनकर अध्यक्ष का भांजा रितेश डकैतों से भिड़ा। उसको गोली मारने के बाद ताबड़तोड़ फायरिग करते हुए भागे। लोगों को कहना है एक बाइक सवार डकैतों को रास्ता दिखाया जिससे सभी नेपाल की तरफ भाग निकले।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept