पुलिस रही मूकदर्शक और गुस्साए लोगों ने फूंक दिया हाईवा

जागरण संवाददाता शेखपुरा रविवार की दोपहर बरबीघा-सरमेरा राष्ट्रीय राजमार्ग 82 पर म

JagranPublish: Sun, 15 May 2022 11:34 PM (IST)Updated: Sun, 15 May 2022 11:34 PM (IST)
पुलिस रही मूकदर्शक और गुस्साए लोगों ने फूंक दिया हाईवा

जागरण संवाददाता, शेखपुरा : रविवार की दोपहर बरबीघा-सरमेरा राष्ट्रीय राजमार्ग 82 पर माउर गांव के सामने सड़क हादसे में जहां तीन की मौत हो गई वहीं गुस्साए लोगों ने सड़क जाम करते हुए हादसे को अंजाम देने वाले हाईवा ट्रक को भी पुलिस के सामने ही आग के हवाले कर दिया। गांव और स्थानीय लोगों के द्वारा हाइवा ट्रक में आग लगाया गया और वहीं खड़ी पुलिस मूकदर्शक बनी रही। इतना ही नहीं ट्रक धू-धू कर जलता रहा परंतु 5 घंटे के बाद एक किलोमीटर की दूरी पर बरबीघा थाने से एंबुलेंस आग बुझाने के लिए पहुंचा। इस हादसे में ओवरलोड ऑटो हादसे का प्रमुख कारण बना । ऑटो पर शादी समारोह के बाद खाली हुए बड़े-बड़े बर्तन लदे हुए थे। लोगों के बैठने की बहुत कम जगह थी। किसी तरह पांच लोगों को बैठाया गया। जिसमें अगली सीट पर ड्राइवर के बगल में भी लोग बैठे। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो अचानक ऑटो दाहिने तरफ से बाएं तरफ मुड़ गया और तेज रफ्तार हाईवा की चपेट में आ गया और वहीं दो बच्चों की मौके पर मौत हो गयी। एक ने इलाज के लिए जाते हुए रास्ते में दम तोड़ दिया।

-- इस हादसे में तीन बेटियों की मौत हो गई। जिसमें धरसेनी निवासी चुनचुन महतो की बेटी 15 वर्षीया रानी और 6 वर्षीया सुहानी का नाम शामिल हैं । इस हादसे में उनके साले की पांच वर्षीया बेटी सुप्रिया की भी मौत हो गई। ग्रामीणों ने बताया कि चुनचुन को तीन बेटी और एक बेटा है। जिसमें बड़ी और छोटी बेटी की मौत हो गई। वहीं खुद जीवन और मौत से जूझ रहे हैं। चालक राहुल पंडित भी जीवन और मौत से अस्पताल में जूझ रहे हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept