सारण में बच्चों का भविष्य संवार रहे बमबम सिंह

सारण जिला के दिघवारा प्रखंड के शीतलपुर पंचायत स्थित बाबूटोला गांव के एक शिक्षक भौतिक संसाधनों से परे सादगी के माहौल में झोपड़ीनुमा अपने विद्यालय में अपने बच्चों को पढ़ाकर कैरियर की सफलता की सीढि़यां चढ़ा रहे हैं। शिक्षक बमबम सिंह यहां एक मिसाल बने हुए हैं और इनका विद्यालय कैरियर मेकर लोगों को प्रेरणा दे रहा है। इनके विद्यालय से गांव की 11 बेटियां बिहार पुलिस में चयनित होकर प्रदेश की सेवा में दम दिखा रही हैं।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 11:07 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 11:07 PM (IST)
सारण में बच्चों का भविष्य संवार रहे बमबम सिंह

सारण। सारण जिला के दिघवारा प्रखंड के शीतलपुर पंचायत स्थित बाबूटोला गांव के एक शिक्षक भौतिक संसाधनों से परे सादगी के माहौल में झोपड़ीनुमा अपने विद्यालय में अपने बच्चों को पढ़ाकर कैरियर की सफलता की सीढि़यां चढ़ा रहे हैं। शिक्षक बमबम सिंह यहां एक मिसाल बने हुए हैं और इनका विद्यालय कैरियर मेकर लोगों को प्रेरणा दे रहा है। इनके विद्यालय से गांव की 11 बेटियां बिहार पुलिस में चयनित होकर प्रदेश की सेवा में दम दिखा रही हैं। फिलहाल 18 बच्चे बिहार पुलिस की लिखित परीक्षा में सफल हुए हैं। शिक्षक बमबम सिंह पिछले आठ साल से गांव के बच्चों को शिक्षित करने व उनके कैरियर को बनाने का निशुल्क अभियान चला रहे हैं। बच्चों की नौकरी लगने पर जो आर्थिक मदद बच्चों द्वारा दी जाती है, उससे परिवार की परवरिश कर रहे हैं। शिक्षक बमबम सिंह बच्चों को शिक्षा देने के साथ ही अपने खेत में ही उन्हें शारीरिक प्रशिक्षण देकर कैरियर बनाने को तैयार करते हैं। इससे इतर वह गांव के कई निरक्षर महिला व पुरुष को भी अक्षरदान देने और छोटे छोटे बच्चों को स्कूल जाने का सामाजिक अभियान चला रहे हैं। अपने बच्चों की शिक्षा के लिए काफी मेहनत करते हैं। झोपड़ीनुमा विद्यालय के पास उग आने वाले झाड़ झकार को खुद सफाई करते है। यही नहीं, वहां समय समय पर पौधारोपण भी करते रहते है और पर्यावरण संरक्षण के लिए दूसरे लोगों को भी जागरूक करते हैं। इनके इस कार्य के लिए सामाजिक स्तर से लोग इन्हें कई बार सम्मानित भी कर चुके हैं। शिक्षक बमबम सिंह बताते हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बेटी बचाओ, बेटी पढाओं के नारे के साथ लोगों को जागरूक करते हुए बेटियों को पढ़ाने पर जोर दे रहे हैं। उसका परिणाम है कि बाबूटोला गांव सहित आसपास के गांव की 11 बेटियां 2021 में बिहार पुलिस में चयनित हुई। वे अपने पूरे इलाके को मातृ शक्ति के रूप में विख्यात करना चाहते हैं। बिहार पुलिस 2021 में इन बेटियों का हुआ चयन बिहार पुलिस में जिन बेटियों का चयन हुआ है उनमें दिघवारा प्रखंड के शीतलपुर चकिया निवासी हरिद्वार शर्मा की बेटी अपराजिता कुमारी, शीतलपुर शर्मा टोला निवासी रमेश कुमार शर्मा की बेटी दिव्या कुमारी, शीतलपुर बाबू टोला निवासी सत्येंद्र सिंह की बेटी रेशमी कुमारी, इसी गांव के रंजीत कुमार सिंह की बेटी काजल कुमारी, शीतलपुर डीह निवासी रवींद्र सिंह की बेटी काजल कुमारी, इसी गांव के उमेश चंद्र मिश्रा की बेटी पूजा कुमारी, शीतलपुर नया टोला निवासी संजय शुक्ला की बेटी खुशबू शुक्ला, त्रिलोकचक पंचायत के कनकपुर निवासी अजित सिंह की बेटी मेनका कुमारी के अलावे दरियापुर के सुरेंद्र राय की बेटी चंदा कुमारी, बेला हरिहरपुर निवासी संजय कुमार पांडेय की बेटी सुनिमा कुमारी, हरिहरपुर पंचायत के हिगुआ निवासी बीरबल राय की बेटी ज्योति कुमारी शामिल हैं। मेनिका व अपराजिता का चयन बीएमपी में हुआ है, जबकि अन्य बेटियां जिला पुलिस के लिए चुनी गई हैं।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम