जल्द होगा आरा-सासाराम रेलखंड का अपना प्लेटफार्म : डीआरएम

रोहतास। मुगलसराय रेल मंडल के डीआरएम किशोर कुमार ने शनिवार को स्थानीय रेलवे स्टेशन

JagranPublish: Sat, 10 Jun 2017 07:53 PM (IST)Updated: Sat, 10 Jun 2017 07:53 PM (IST)
जल्द होगा आरा-सासाराम रेलखंड का अपना प्लेटफार्म : डीआरएम

रोहतास। मुगलसराय रेल मंडल के डीआरएम किशोर कुमार ने शनिवार को स्थानीय रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने स्टेशन के पुराने व नए प्रशासनिक भवन के अलावा टिकट काउंटर समेत अन्य स्थानों की सघन जांच की। साथ ही यहां आरा- सासाराम रेलखंड के लिए निर्माणाधीन नए प्लेटफार्म का निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश कार्य एजेंसी को दिया, ताकि परिचालन के लिए तैयार डीएफसीसी रेल लाइन को शुरू किया जा सके।

दलबल के साथ अचानक पहुंचे डीआरएम को देख रेलवे के स्थानीय अधिकारी भी दंग रह गए। मंडल रेल प्रबंधक ने कहा कि आरा- सासाराम रेलखंड के लिए बन रहे प्लेटफार्म का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा करने का निर्देश संवेदक को दिया गया है। प्लेटफार्म बन जाने के बाद आरा व पटना के लिए यहां से खुलने वाली ट्रेनें नए प्लेटफार्म से ही खुलेंगी। साथ ही डीएफसीसी पर परिचालन शुरू करने में आ रही दिक्कतें भी दूर हो जाएगी। इस दौरान यात्रियों ने स्टेशन पर साफ- सफाई व टिकट काउंटर पर होने वाली परेशानियों को भी उठाया। लगभग डेढ़ माह से सफाई ठेका खत्म होने से प्रभावित सफाई कार्य के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस समस्या का समाधान शीघ्र दूर कर लिया जाएगा, साथ ही स्टेशन प्रबंधक को शौचालय व प्रतिक्षालय में एक्झिसट पंखा लगाने का निर्देश दिया। अधिकारी के आने की सूचना मिलते ही अधिकारियों ने स्टेशन परिसर का पूरा लूक ही बदल ही दिया था। जीटी रोड से स्टेशन तक के संपर्क पथ में दोनों तरफ सजी दुकानों को भी हटा लिया गया था। साथ ही सतर्कता भी बढ़ा दी गई थी। टीम में एसपीएस यादव, आलोक कुमार के अलावा स्टेशन प्रबंधक उमेश कुमार, आरपीएफ कमांडेंट पंकज प्रकाश समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।

गौरतलब है कि दुर्गावती से सासाराम तक बने डीएफसीसी रेल लाइन का ट्रायल पिछले साल 31 मार्च को ही विभाग ने किया था,लेकिन सासाराम में आरा- सासाराम रेलखंड के क्रां¨सग करने से अब तक फ्रेट कैरिडोर रेल लाइन पर तकनीकी कारणों से मुख्य संरक्षा आयुक्त द्वारा परिचालन शुरू करने को ले अंतिम रूप से हरी झंडी नहीं दी जा सकी है। अलग प्लेटफार्म व अलग लाइन होने के बाद मालवाहक रेल लाइन पर परिचालन का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। विभागीय सूत्रों की माने तो करवंदिया तक डीएफसीसी का निर्माण कार्य लगभग पूरा हो गया है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept