बढ़ते अपराध व जहरीली शराब से मौत पर जाप का धरना

जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को जिला समाहरणालय के समक्ष बढ़ते अपराध जहरीली शराब से हो रही मौतें व बढ़ते दुष्कर्म के खिलाफ जिलाध्यक्ष बबलू भगत की अगुवाई में धरना दिया गया।

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 07:45 PM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 07:45 PM (IST)
बढ़ते अपराध व जहरीली शराब से मौत पर जाप का धरना

जागरण संवाददाता, पूर्णिया। जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ताओं ने सोमवार को जिला समाहरणालय के समक्ष बढ़ते अपराध, जहरीली शराब से हो रही मौतें व बढ़ते दुष्कर्म के खिलाफ जिलाध्यक्ष बबलू भगत की अगुवाई में धरना दिया गया। इस दौरान व्यवसायियों की सुरक्षा की मांग भी की गई। मंच संचालन पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष मु. इसराइल आजाद ने किया ।बाद में मांगों से संबंधित ज्ञापन भी जिलाधिकारी को सौंपा गया।

धरना को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष श्री भगत ने कहा कि डबल इंजन की सरकार में आम लोग बेहाल हैं ।सुशासन में अपराध चरम पर है। बेटियां अपने घर और शहर में भी सुरक्षित नही है। जहरीली शराब से लोग मर रहे हैं, जो शराबबंदी की पोल खोल रहा है। जन अधिकार युवा परिषद के प्रदेश महासचिव सह प्रवक्ता राजेश यादव ने कहा कि व्यापारी वर्ग हो या आम लोग कोई भी खुद को आज सुरक्षित महसूस नहीं कर रहे हैं।पुलिस कानून व्यवस्था को बहाल करने की बजाय शराब माफिया से यारी और जमीन की दलाली में व्यस्त है। सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए कि शराबबंदी के बाद भी जहरीली शराब की बिक्री कैसे हो रही है ।नैतिकता का तकाजा है कि उन्हें दारोगा और चौकीदार को बलि का बकरा बनाने की बजाय खुद त्यागपत्र दे देना चाहिए। प्रदेश उपाध्यक्ष श्री आजाद ने कहा कि कानून-व्यवस्था का हाल यह है कि राजधानी में भी व्यापारी सुरक्षित नही हैं। शराब माफिया के आगे तो राज्य सरकार नतमस्तक है। व्यापारियों के हित में पार्टी सड़क पर उतरने से परहेज नही करेगी।इस मौके पर जाप के कार्यकारी अध्यक्ष प्रेम किशोर सिंह , अल्पसंख्यक अध्यक्ष डब्लू खान, मुंशी यादव अरुण यादव, सुड्डू यादव, डा जावेद, आलोक अकेला, सुमित यादव, करण यादव, विनय यादव, आदिल आरजू, अंबर आलम, आशीष यादव,अभिषेक आनंद, विशाल यादव, राहुल यादव, शंकर कुमार, रवि यादव, सोनू यादव व सरवन यादव मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept