एनआइटी में आरंभ हुआ वाइवा, होगी आनलाइन परीक्षा

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) में बुधवार से विभिन्न सेमेस्टर का वाइवा शुरू हो गया। अभी पहले सेमेस्टर और अंतिम सेमेस्टर का वाइवा लिया जा रहा है। इसके बाद आइनलाइन परीक्षाएं भी आयोजित होंगी।

JagranPublish: Thu, 20 Jan 2022 02:08 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 02:08 AM (IST)
एनआइटी में आरंभ हुआ वाइवा, होगी आनलाइन परीक्षा

पटना । राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) में बुधवार से विभिन्न सेमेस्टर का वाइवा शुरू हो गया। अभी पहले सेमेस्टर और अंतिम सेमेस्टर का वाइवा लिया जा रहा है। इसके बाद आइनलाइन परीक्षाएं भी आयोजित होंगी। बुधवार से पीएचडी सीई के अंतिम सेमेस्टर का भी वाइवा हो रहा है। इसके बाद एमटेक, पीएचडी सिविल इंजीनियर के पहले सेमेस्टर का वाइवा 20 और 21 जनवरी को लिया जाएगा। वहीं एमसीए, पीएचडी इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिग का वाइवा 20 और 21 जनवरी को होगा।

-------

10 से बीपीएससी लेगा सहायक वन संरक्षक का साक्षात्कार

जागरण संवाददाता, पटना : बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की ओर से सहायक वन संरक्षक की नियुक्ति के लिए 10 फरवरी से साक्षात्कार आयोजित होगा। इस बाबत आयोग के संयुक्त सचिव सह परीक्षा नियंत्रक अमरेंद्र कुमार ने अधिसूचना जारी कर दी है। इन अभ्यर्थियों की बीते 10 जनवरी को मेडिकल जांच की गई थी।

अभ्यर्थियों को अपने सभी मूल प्रमाणपत्रों के अतिरिक्त दो सेट में छायाप्रति की स्वअभिप्रमाणित कापी के साथ साक्षात्कार में आना है। सभी अभ्यर्थियों को टीके का प्रमाणपत्र भी साथ ले आना है।

--------

पीपीयू थर्ड सेमेस्टर का परिणाम जारी

जागरण संवाददाता, पटना : पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय (पीपीयू) ने पीजी थर्ड सेमेस्टर का परिणाम जारी कर दिया। पीपीयू के परीक्षा नियंत्रक डा. आरके मंडल ने बताया कि परिणाम विवि की आधिकारिक वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया है। छात्र-छात्राएं यहां से देख सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक-दो दिनों में पीजी प्रथम व द्वितीय सेमेस्टर का भी परिणाम जारी कर दिया जाएगा। इसको लेकर तेजी से कार्रवाई की जा रही है।

-------

अब इग्नू से हो सकेगा व्यावसायिक शिक्षण व प्रशिक्षण: अब इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय से व्यावसायिक शिक्षण व प्रशिक्षण संभव होगा। इसके लिए इग्नू और कौशल विकास मंत्रालय (एमएसडीई) के बीच समझौता किया गया है। इसके माध्यम से से अब राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थानों जैसे राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण संस्थान (एनएसटीआइ), औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ), प्रधानमंत्री कौशल केन्द्र (पीएमकेके) और जन शिक्षण संस्थान (जेएसएस) में प्रशिक्षण हासिल कर रहे छात्रों को उच्च शिक्षा मुहैया करायी जाएगी। वे पीजी कर सकेंगे।

इग्नू के वरीय क्षेत्रीय निदेशक अभिलाष नायक ने बताया कि छात्रों को अब इग्नू के तीन वर्षीय डिग्री कार्यक्रम में शामिल होने का अवसर मिलेगा और उच्च शिक्षा प्राप्त करने में आसानी होगी। इस साझेदारी के तहत प्रगति की निगरानी और समीक्षा करने के लिए एमएसडीई और इग्नू दोनों के प्रतिनिधियों के साथ एक परियोजना संचालन समिति होगी। एमओयू की पहली कड़ी में राज्य के सभी सरकारी व गैर सरकारी आइटीआइ को रुचि की अभिव्यक्ति (ईओआइ) भेजने को पत्र लिखा गया हैं, ताकि इस संस्थानों में वर्क सेन्टर स्थापित करने के लिए जरूरी औपचारिकताएं शुरू की जा सकें।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept