बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने पीएम नरेंद्र मोदी को दिया धन्‍यवाद, फिर कर दी बड़ी मांग

शराबबंदी कानून (Prohibition Law) वापसी की मांग कर सरकार के लिए असहज स्थिति बनाने वाले पूर्व मुख्‍यमंत्री और हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्‍यवाद दिया है। साथ ही बड़ी मांग भी कर डाली है।

Vyas ChandraPublish: Sat, 22 Jan 2022 01:05 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 02:35 PM (IST)
बिहार के पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने पीएम नरेंद्र मोदी को दिया धन्‍यवाद, फिर कर दी बड़ी मांग

पटना, आनलाइन डेस्‍क। शराबबंदी कानून (Prohibition Law) वापसी की मांग कर सरकार के लिए असहज स्थिति बनाने वाले पूर्व मुख्‍यमंत्री और हम के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने एक बार फिर विशेष राज्‍य का दर्जा (Special Status to Bihar) दिए जाने की मांग उठाई है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से इसकी मांग ट्वि‍टर के माध्‍यम से की है। उन्‍होंने अपने ट्व‍िटर हैंडल पर लिखा है कि बिहार के विकास के लिए अलग-अलग मद में हजारों करोड़ रुपये देने के लिए माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को धन्‍यवाद। वैसे विशेष फंड के साथ यदि केंद्र सरकार बिहार को विशेष राज्‍य का दर्जा दे दे तो राज्‍य बेहतर ढंग से आगे बढ़ पाएगा। यही न्‍याय संगत भी होगा।  

(पूर्व सीएम जीतन राम मांझी का ट्वीट।)

विशेष राज्‍य और जातीय जनगणना के मुद्दे पर साथ 

बता दें कि विशेष राज्‍य और जातीय जनगणना (Caste Based Census) सत्‍ताधारी दल जदयू का प्रमुख एजेंडा है। सहयोगी हिंदुस्‍तानी अवाम मोर्चा समेत विपक्षी दलों ने इस मुद्दे पर सरकार का साथ दिया है। हालांकि, इस मामले में भाजपा के सुर अलग हैं। इस कारण भाजपा और जदयू के बीच कई बार मनभेद साफ नजर आ जाता है। लेकिन इन मुद्दों पर सरकार का समर्थन करने वाले पूर्व सीएम बीच-बीच में अपने बयानों से खासकर जदयू को मुश्किल में डाल देते हैं। इनमें से एक है शराबबंदी कानून। इस कानून में संशोधन की मांग करने वाले मांझी ने नालंदा और सारण में जहरीली शराब से मौत की बात सामने आने पर सरकार से इस कानून को खत्‍म करने की मांग ही कर दी। उन्‍होंने आरोप लगाया कि इस कानून से केवल गरीबों पर शामत आ रही है। माफिया और बड़े लोग तो बचे ही रह जाते हैं। जब विरोध होने पर पीएम कृषि कानूनों को वापस ले सकते हैं तो फिर बिहार के सीएम इसे अपनी प्रतिष्‍ठा का विषय क्‍यों बनाए हुए हैं। 

Edited By Vyas Chandra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept