This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

ठगी के शिकार शिक्षक ने लिया जालसाज से बदला, चाकू गोदकर कर दी हत्या Patna News

स्कॉर्पियो के लिए लोन दिलाने के नाम पर ठगे जाने से आक्रोशित सरकारी शिक्षक लक्ष्मी ने विक्रम की हत्या कर दी। जानें कैसे उसने दिया वारदात को अंजाम।

Sun, 21 Jul 2019 08:28 AM (IST)
ठगी के शिकार शिक्षक ने लिया जालसाज से बदला, चाकू गोदकर कर दी हत्या Patna News

पटना, जेएनएन। स्कॉर्पियो के लिए लोन दिलाने के नाम पर ठगे जाने से आक्रोशित सरकारी शिक्षक लक्ष्मी बेसरा ने जालसाज विक्रम झा की चाकू गोदकर हत्या कर दी। वारदात कोतवाली थानान्तर्गत पटना जंक्शन के समीप आदर्श होटल के कमरा नंबर 201 में शनिवार की भोर में हुई। घटना के बाद होटल कर्मियों ने शिक्षक को पकड़ लिया और उसे पुलिस के हवाले कर दिया।

थानाध्यक्ष राम शंकर सिंह ने बताया कि होटल के कमरे से घटना में प्रयुक्त चाकू बरामद किया गया है। कमरे को सील कर दिया गया है। घटना का कारण ठगी करने से आहत होना बताया जा रहा है। सभी बिंदुओं पर छानबीन चल रही है। इधर, विक्रम के घरवालों को इत्तिला कर दी गई है। उनके आने पर रविवार को शव का पोस्टमॉर्टम कराया जाएगा।

सहरसा से लेकर आया पटना
आरोपित लक्ष्मी बेसरा पूर्णिया जिले के धनदाहा थाना क्षेत्र का रहने वाला है। वह एनएस मिडिल स्कूल में शिक्षक हैं। वहीं, विक्रम झा उसी जिले के बड़हरा कोठी थाना क्षेत्र का निवासी था। लक्ष्मी ने पुलिस को बताया कि विक्रम ने स्कॉर्पियो खरीदने के लिए लोन दिलाने के नाम पर 70 हजार रुपये लिए थे। करीब एक महीने तक टहलाने के बाद विक्रम बुधवार को उसे सहरसा लेकर गया था, जहां उससे 35 हजार रुपये और खर्च करवा दिए। इसके बाद शुक्रवार को उसे साथ लेकर पटना आ गया।

होटल से निकलने नहीं दे रहा था विक्रम
लक्ष्मी का कहना है कि विक्रम उसे आदर्श होटल लेकर आया। यहां दोनों कमरा नंबर 201 में ठहरे। विक्रम उसे कमरे से बाहर निकलने नहीं दे रहा था। उसे पता चल गया कि वह ठगी का शिकार बन चुका है और अनहोनी की आशंका भी बनी थी। लक्ष्मी ने विक्रम को गला दबाकर मारने की तैयारी की थी। भोर में जब विक्रम गहरी नींद में सो रहा था, तब वह उसका गला दबाने लगा। विक्रम की नींद खुल गई। दोनों के बीच मारपीट होने लगी। इसी दौरान लक्ष्मी ने खाने की प्लेट से चाकू उठाया और विक्रम के सीने में कई बार वार किए। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। चीखने-चिल्लाने की आवाजें सुनकर दूसरे कमरे में ठहरे लोग और होटल कर्मी दौड़े। उन लोगों ने लक्ष्मी को पकड़ लिया।

लक्ष्मी की पत्नी को भी ठगा
तफ्तीश में पुलिस को मालूम चला कि लक्ष्मी की पत्नी उसके साथ नहीं रहती है। नौकरी दिलाने का झांसा देकर विक्रम ने उसकी पत्नी से भी मोटी रकम की ठगी की थी। वह मुलाकात करने के लिए उसकी पत्नी के घर भी आता-जाता था, जो लक्ष्मी को नागवार गुजरता था। इसको लेकर दोनों के बीच कई बार कहासुनी भी हुई थी।

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!