RRB NTPC Bihar Bandh: खान सर की अपील पर बंद से दूर दिखे सामान्‍य छात्र, छात्रों के आंदोलन को विपक्ष ने हथियाया

RRB NTPC Protest रेलवे की परीक्षा में धांधली के खिलाफ आंदाेलन कर रहे सामान्‍य छात्र आज के बिहार बंद से अंतिम समय में दूर हो गए। खान सर सहित कई शिक्षकों ने इसके लिए अपील की थी। ऐसे में पूर्व निर्धारित बिहार बंद को विपक्ष ने हथिया लिया।

Amit AlokPublish: Fri, 28 Jan 2022 01:08 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 03:07 PM (IST)
RRB NTPC Bihar Bandh: खान सर की अपील पर बंद से दूर दिखे सामान्‍य छात्र, छात्रों के आंदोलन को विपक्ष ने हथियाया

पटना, स्‍टेट ब्‍यूरो। RRB NTPC Bihar Bandh: रेलवे की गैर तकनीकी लोकप्रिय श्रेणी की भर्ती परीक्षा (RRB NTPC) में अनियमितता के खिलाफ भड़के छात्रों के पक्ष में छात्र संगठनों ने शुक्रवार को बिहार बंद का आह्वान किया है। इस बीच रेलवे ने मामले की जांच के लिए कमेटी गठित करते हुए आगामी परीक्षा स्‍थगित कर दी है। इसके बाद पटना के खान सर (Khan Sir) ने समान्‍य छात्रों से बिहार बंद से दूर रहने की अपील की। खान सर की अपील पर बिहार बंद से समान्‍य छात्र दूर दिख रहे हैं। ऐसे में छात्रों के आंदोलन को समर्थन देने की घोषणा करने वाले विपक्ष ने आंदोलन को हथिया लिया है। परीक्षा प्रणाली के विरोध में शुक्रवार को बिहार बंद के दौरन छात्रों और अभ्यर्थियों से ज्यादा राजनीतिक कार्यकर्ता ही सड़कों पर दिख रहे हैं।

खान सर समेत अन्य शिक्षकों की अपील का दिखा असर

पटना के खान सर समेत अन्य शिक्षकों की अपील का आंदोलनकारी अभ्यर्थियों पर असर साफ-साफ दिखा है। खान सर ने बंद शुरू होने से पहले ही देर रात अपील की थी कि केंद्र सरकार एवं रेलवे बोर्ड ने अभ्यर्थियों की मांगें मान ली हैं। इसलिए छात्रों को आंदोलन में शामिल नहीं होना चाहिए। नतीजा हुआ कि अधिकतर अभ्यर्थियों ने कुछ घंटे पहले ही बंद से स्वयं को अलग कर लिया।राजनीतिक गतिविधियों से दूर रहने वाले समान्‍य छात्र आंदोलन से दूर दिख रहे हैं।

राजनीतिक दलों ने थाम ली इस आंदोलन की कमान

इस बीच, पहले से तय बंद की कमान राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) व जन अधिकर पार्टी (JAP) समेत विभिन्न दलों के नेताओं-कार्यकर्ताओं ने थाम ली है। उनके साथ राजनीतिक दलों के जुड़े छात्र संगठन हैं। पटना, गया, समस्तीपुर, दरभंगा, आरा, मुजफ्फरपुर समेत कई शहरों पर रास्ता जाम किया। ट्रेनें रोकीं। आगजनी और नारेबाजी की। अभ्यर्थियों की जगह विभिन्न दलों के छात्र संगठनों के सदस्यों एवं कार्यकर्ता ही सड़कों पर सक्रिय दिख रहे हैं।

Edited By Amit Alok

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept