जदयू नेता जय कुमार सिंह की हार की पटकथा लिखने वाले राजेंद्र सिंह की घर वापसी, लोजपा छोड़ भाजपा में लौटे

बिहार में भाजपा और जदयू के बीच तल्खी और बढ़ती जा रही है। विधानसभा चुनाव में लोजपा प्रत्याशी के रूप में बिहार के कद्दावर मंत्री जय कुमार सिंह की हार की पटकथा लिखने वाले पूर्व प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह की रविवार को भाजपा में वापसी हो गई।

Vyas ChandraPublish: Sun, 16 Jan 2022 03:04 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 03:04 PM (IST)
जदयू नेता जय कुमार सिंह की हार की पटकथा लिखने वाले राजेंद्र सिंह की घर वापसी, लोजपा छोड़ भाजपा में लौटे

पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। Bihar Politics: बिहार में भाजपा और जदयू के बीच तल्खी और बढ़ती जा रही है। इस बीच विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections 2020) में लोजपा  प्रत्याशी के रूप में बिहार के कद्दावर मंत्री जय कुमार सिंह (Ex Minister Jay Kumar Singh) की हार की पटकथा लिखने वाले पूर्व प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह की रविवार को भाजपा में वापसी हो गई। बिहार भाजपा अध्यक्ष संजय जयसवाल (BJP President Sanjay Jaiswal) ने बेतिया स्थित आवास पर राजेंद्र सिंह को पुनः पार्टी की सदस्यता दिलाई। एक साथ काम करने के लिए स्वागत किया। जायसवाल ने ट्वीट कर यह जानकारी सार्वजनिक की । इस मौके पर बिहार सरकार के गन्ना उद्योग और विधि मंत्री प्रमोद कुमार भी उपस्थित थे। भाजपा ने राजेंद्र सिंह की घर  वापसी कर सहयोगी जदयू को साफ मैसेज दे दिया है। 

लोजपा प्रत्‍याशी के रूप में लड़े थे चुनाव 

बता दें, राजेन्द्र सिंह पहले बिहार  भाजपा में प्रदेश महामंत्री और उपाध्यक्ष रह चुके थे। 2020 विस चुनाव के दौरान ये लोजपा में शामिल होकर रोहतास के दिनारा सीट से चुनाव लड़े थे। इस चुनाव में उनकी हार हो गई थी। बाद में भाजपा ने राजेंद्र सिंह को पार्टी से निकाल दिया था। राजेन्द्र सिंह ने उस सीट पर नीतीश कैबिनेट के मंत्री रहे व जदयू के कद्दावर नेता जय कुमार सिंह को तीसरे नंबर पर ढ़केल दिया था। लोजपा के टिकट पर राजेन्द्र सिंह दूसरे नंबर पर रहे थे। राजेन्द्र सिंह को भाजपा में लाने के लिए काफी दिनों से चर्चा थी। अब जाकर उन्हें दल में शामिल कराया गया है। इस मौके पर भाजपा के कई वरिष्ठ नेता, पार्टी पदाधिकारी और सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित थे। 

मालूम हो कि राजेंद्र सिंह भाजपा के बड़े नेताओंं में शुमार किए जाते थे। वे आरएसएस के प्रचारक भी थे। लेकिन विधानसभा चुनाव से ठीक पहले उन्‍होंने भाजपा उपाध्‍यक्ष का पद छोड़ दिया और लोजपा में शामिल हो गए थे। चिराग पासवान ने उन्‍हें पार्टी की सदस्‍यता दिलाई थी।  

Edited By Vyas Chandra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept