बख्तियारपुर में आंगनबाड़ी सहायिका की मौत पर हंगामा

नगर क्षेत्र के अब्बू महमदपुर निवासी एक आंगनबाड़ी सहायिका की मौत हो गई। स्वजन गुरुवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित सीडीपीओ कार्यालय शव लेकर पहुंच गए। उनके समर्थन में क्षेत्र से आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका भी सीडीपीओ कार्यालय पहुंच गई।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 01:20 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 01:20 AM (IST)
बख्तियारपुर में आंगनबाड़ी सहायिका की मौत पर हंगामा

पटना। नगर क्षेत्र के अब्बू महमदपुर निवासी एक आंगनबाड़ी सहायिका की मौत हो गई। स्वजन गुरुवार को प्रखंड मुख्यालय स्थित सीडीपीओ कार्यालय शव लेकर पहुंच गए। उनके समर्थन में क्षेत्र से आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका भी सीडीपीओ कार्यालय पहुंच गई। स्वजन और सेविका व सहायिका ठंड से हुई मौत का आरोप लगाते हुए हंगामा एवं प्रदर्शन किया।

इस संबंध में महिला के पुत्र संजय मांझी एवं सूरज मांझी ने सीडीपीओ कार्यालय में उपस्थित लिपिक सुजीत कुमार को बताया कि मेरी मां आशा देवी अब्बू महमदपुर स्थित आंगनबाड़ी केंद्र संख्या 11 पर सहायिका थीं। बुधवार को आंगनबाड़ी केंद्र में पढ़ने वाले छोटे बच्चों को गांव से बुलाने गई थीं। बच्चे बुलाकर आई तभी ठंड लग गई और देर शाम मौत हो गई।

प्रदर्शन कर रहीं आंगनबाड़ी, सेविका व सहायिका ने बताया कि कोरोना एवं ठंड को लेकर सभी निजी एवं सरकारी स्कूल बंद है, लेकिन आंगनबाड़ी केंद्र सुबह दस बजे से दोपहर दो बजे तक खुला हुआ है। अभी राज्यभर में ठंड का प्रकोप बढ़ा है। केंद्र में छोटे बच्चे आते हैं। उनके साथ कुछ हो गया तो हमलोगों को भुगतना पड़ेगा। साथ ही बताया कि हमलोगों को चार साल से केंद्र का किराया नहीं मिला है। साथ ही पांच महीना से मानदेय भी नहीं मिला है।

इस संबंध में सीडीपीओ मोनिका कुमारी ने बताया कि आंगनबाड़ी सहायिका आशा देवी की मौत हुई है। स्वजन ठंड से मौत होने का आरोप लगा रहे हैं। केंद्र खुला रहने के सवाल पर बताया कि हमलोगों के विभाग से बंद करने का कोई आदेश नहीं आया है। साथ ही बताया कि विभाग के निर्देशानुसार मुआवजा राशि दी जाएगी।

बख्तियारपुर में विकास कार्यो की तैयारी का अधिकारियों ने लिया जायजा

संवाद सूत्र, बख्तियारपुर : प्रखंड क्षेत्र में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा निर्देशित विकास कार्यों की अमलीजामा पहनाने के लिए अधिकारियों ने गुरुवार को जायजा लिया।

जायजा के उपरांत एसडीएम सुमित कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री ने बख्तियारपुर में निरीक्षण के दौरान शहर से दूर हुए गंगा नदी के पानी को शहर के करीब लाने एवं गंगा नदी के किनारे सड़क बनाने का निर्देश दिया था। साथ ही इंजीनियरिग कालेज जाने वाली सड़क का चौड़ीकरण करने, कालेज के समीप आरओबी बनाने, एसटीपी निर्माण में तेजी लाने, कालेज के छात्रों के लिए खेल मैदान बनाने, सीढ़ी घाट के समीप स्थित पुराने कुएं का जीर्णोद्धार करने समेत अन्य विकास कार्यों का निर्देश दिया था। कार्य प्रगति की समीक्षा को लेकर निरीक्षण किया गया।

मौके पर डीसीएलआर अनिल कुमार आर्य, बीडीओ रबींद्र कुमार, जल संसाधन विभाग के अभियंता दिलीप सिंह, राजस्व पदाधिकारी समेत अन्य कर्मी मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept