खुसरुपुर में सड़क पर जलजमाव व कीचड़ से राहगीर परेशान

खुसरुपुर प्रखंड के बांसटाल चौराहा स्थित स्टेट हाइवे से खुसरुपुर जाने वाली पीसीसी सड़क पर गनीचक में जलजमाव रहने से लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी हो रही है। सड़क में नाला नही होने से जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो गई है। सड़क के किनारे पहले हंटर में पानी जमा होता था लेकिन आज की तारीख में हंटर की अस्तित्व समाप्त हो गया।

JagranPublish: Wed, 26 Jan 2022 01:58 AM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 01:58 AM (IST)
खुसरुपुर में सड़क पर जलजमाव व कीचड़ से राहगीर परेशान

पटना। खुसरुपुर प्रखंड के बांसटाल चौराहा स्थित स्टेट हाइवे से खुसरुपुर जाने वाली पीसीसी सड़क पर गनीचक में जलजमाव रहने से लोगों को आने-जाने में काफी परेशानी हो रही है। सड़क में नाला नही होने से जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो गई है। सड़क के किनारे पहले हंटर में पानी जमा होता था, लेकिन आज की तारीख में हंटर की अस्तित्व समाप्त हो गया। जलनिकासी की व्यवस्था नहीं रहने के कारण पानी सड़क पर ही जमा रहता है। सड़क के पूर्व दिशा में मौसीमपुर पंचायत और पश्चिम दिशा में बैकठपुर पंचायत हैं। ये सड़क ग्रामीण कार्य विभाग के अधीन है। सड़क के दोनों तरफ लोग रहते हैं और घरों व सेफ्टी टैंक का पानी सड़क पर गिरता है। इस सड़क से दर्जनों गांव के लोग खुसरुपुर स्थित रेलवे स्टेशन, थाना, बैंक, डाकघर, अस्पताल, उच्च विद्यालय के साथ बाजार आते हैं। जलजमाव के कारण लोगों को आने जाने में वर्षों से फजीहत झेलनी पड़ती है। जलजमाव व कीचड़ की वजह से आय दिन आमलोग खासकर बाइक सवार दुर्घटना के शिकार होते रहते हैं। सबसे ज्यादा परेशानी स्कूल जाने वाले छोटे बच्चों को झेलनी पड़ रही है। इस सड़क से सांसद, विधायक, सरकारी पदाधिकारी तक आते-जाते हैं, पर किसी का कोई ध्यान नहीं होने से लोग आक्रोशित हैं।

---------------

मसौढ़ी में माले ने बैठक कर लिए कई फैसले

संस, मसौढ़ी : भाकपा माले के प्रखंड की भैसवा पंचायत का कंवेंशन मंगलवार को भैसवा मठिया में रमेश प्रसाद की अध्यक्षता में हुई। इस मौके पर किसान आंदोलन की जीत को मजबूत बनाते हुए संघर्ष तेज करने के लिए पार्टी को ब्रांच व लोकल कमेटी के स्तर पर राजनीतिक, संगठनिक व वैचारिक तौर पर मजबूत बनाने का फैसला लिया गया। साथ ही विभिन्न समस्याओं मसलन आवास योजना पेंशन, रोजगार, मनरेगा में 200 दिन काम और 600 रूपए मजदूरी, बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था, बेहतर शिक्षा व अन्य का संकल्प लिया गया। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर झंडातोलन कर संविधान का पाठ करने और तीन फरवरी को सम्मेलन हसनपुरा में व्यापक जनभागीदारी के साथ करने का निर्णय लिया गया। कंवेंशन को सतनारायण प्रसाद, कमलेश कुमार, नागेश्वर पासवान, विनेश चौधरी, संजय पासवान, गणेश मांझी, दिनेश मांझी, विजय ठाकुर, उदय महतो, रामदेव महतो, मंगल मांझी, कृष्ण रविदास, जगदीश प्रसाद, राघव महतो, गरीबन प्रसाद, सीतापति देवी समेत अन्य ने संबोधित किया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम