पटना में लगातार कम हो रही कोरोना संक्रमण की दर, गांवों की अपेक्षा शहरी क्षेत्र में वायरस का खतरा अधिक

पटना के लोगों के लिए राहत वाली खबर है पटना में कोविड संक्रमण के मामले लगातार कम हो रहे हैं। इसी के साथ संक्रमण की दर भी लगातार घटती जा रही है। इससे उम्मीद जताई जा रही है। की तीसरी लहर अब लौटने लगी है।

Shubh Narayan PathakPublish: Sat, 22 Jan 2022 07:52 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 07:52 AM (IST)
पटना में लगातार कम हो रही कोरोना संक्रमण की दर, गांवों की अपेक्षा शहरी क्षेत्र में वायरस का खतरा अधिक

पटना, जागरण संवाददाता। कोरोना संक्रमण की दर पटना जिले में 28 से गिरकर 12.7 प्रतिशत पर पहुंच गई है। पटना के छह प्रखंडों में एक्टिव केस की संख्या 10 से नीचे है। सबसे अधिक पटना सदर क्षेत्र में 7024 एक्टिव केस शेष बचे हैं। जिलाधिकारी डा. चंद्रशेखर सिंह ने गुरुवार को अधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण की समीक्षा के बाद यह जानकारी दी। बताया गया कि बीते 24 घंटे मे पटना जिले में 758 नए संक्रमित मिले हैं। वहीं स्वस्थ होने वालों की संख्या 2559 दर्ज की गई है। पटना जिले मे  8808 एक्टिव केस बचे हैं। होम आइसोलेशन में 8670 व्यक्ति उपचार करा रहे हैं। अस्पतालों में भर्ती पटना जिले के मरीजों की संख्या 75 है। तीसरी लहर के दौरान 15 जनवरी को पटना में कोरोना के सर्वाधिक 14907 एक्टिव केस थे। 9 जनवरी को  सर्वाधिक 28 प्रतिशत पाजिटिव केस मिले थे। 10 जनवरी को कोरोना के सर्वाधिक 2645 केस मिले थे।

राजधानी में लगातार दूसरे दिन एक हजार से कम मामले आए। गुरुवार को पटना जिले में 745 कोरोना के नए संक्रमित मिले, जबकि आठ लोगों की मौत हो गई। इसमें चार पीएमसीएच तथा चार अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में हो गई। संक्रमितों में आधा दर्जन डाक्टर समेत एक दर्जन से अधिक स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं। पटना में 6,894 मरीजों की जांच हुई, जिनमें से 745 संक्रमित मिले। इससे यहां का संक्रमण दर 10.81 तक पहुंच गई है।

पीएमसीएच प्राचार्य डा. विद्यापति चौधरी ने बताया कि कोरोना वार्ड में भर्ती चार मरीज की मौत हो गई। इनकों कोरोना के साथ दूसरी बीमारी भी थी। मृतकों में पश्चिमी बंगाल के 54 वर्षीय राम परीक्षण साव, औरंगाबाद की 30 वर्षीया चुनचुन देवी, नवादा के 76 वर्षीय रामाश्रय ङ्क्षसह एवं भोजपुर के 69 वर्षीय रामाशंकर साहू की मौत हो गई। पीएमसीएच के कोविड वार्ड में तीन नया मरीज भर्ती किया गया, जबकि पहले से छह भर्ती है। जांच में 33 मरीज संक्रमित मिले। इनमें दो डाक्टर हैं।

एम्स के नोडल अधिकारी डा. संजीव कुमार ने बताया कि 21 नए मरीज भर्ती किए गए हैं। 15 को डिस्चार्ज एवं चार मरीजों की मौत हो गई। मृतकों में प्रियदर्शनी नगर पटना के 71 वर्षीया कमला देवी, अलीपुर पटना के 45 वर्षीया लाचो देवी, सैदपुर के 41 वर्षीया प्रीति देवी एवं पूर्वी चंपारण के 74 वर्षीय दशरथ प्रसाद की मौत हो गई। इंदिरा गांधी इंस्टीट््यूट आफ मेडिकल साइंस में 18 मरीज भर्ती हैं।

Edited By Shubh Narayan Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept