नीतीश ने सड़क निर्माण में तेजी लाने के दिए निर्देश, जानें बिहार के किन-किन रोड को लेकर हुई बात

पथ निर्माण विभाग की समीक्षा के क्रम मेें उन्होंने विभाग के अधिकारियों को यह हिदायत दी कि सड़क निर्माण की योजनाओं का काम तेजी से पूरा करें। इस क्रम में उन्होंने विशेष रूप से सात निश्चय-2 के तहत ली गयी सुलभ संपर्कता योजना की गति बढ़ाने पर बल दिया।

Akshay PandeyPublish: Thu, 27 Jan 2022 06:08 PM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 06:08 PM (IST)
नीतीश ने सड़क निर्माण में तेजी लाने के दिए निर्देश, जानें बिहार के किन-किन रोड को लेकर हुई बात

राज्य ब्यूरो, पटना। कोरोना संक्रमण से मुक्त होने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से पहली समीक्षा बैठक की। पथ निर्माण विभाग की समीक्षा के क्रम मेें उन्होंने विभाग के अधिकारियों को यह हिदायत दी कि सड़क निर्माण की योजनाओं का काम तेजी से पूरा करें। इस क्रम में उन्होंने विशेष रूप से सात निश्चय-2 के तहत ली गयी सुलभ संपर्कता योजना की गति बढ़ाने पर बल दिया। पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने एक प्रेजेंटेशन के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के अद्यतन स्थिति की जानकारी दी।

इन योजनाओं पर हुई बात

मुख्यमंत्री की बैठक में सत्तर घाट पुल, बख्तियारपुर-ताजपुर पुल, जेपी गंगा पथ, मीठापुर-करबिगहिया फ्लाईओवर के बारे में विस्तार से चर्चा हुई। इसके अतिरिक्त बिहटा-सरमेरा रोड, अटल पथ फेज-2, मीठापुर-महुली एलिवेटेड रोड, कच्ची दरगाह-बिदुपुर पुल के अपडेट से भी मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया। 

एनएचएआई की योजनाओं पर भी चर्चा

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में एनएचएआई की देखरेख में चल रही और आरंभ होने वाली योजनाओं के बारे में चर्चा हुई। इस क्रम में दानापुर-बिहटा एलिवेटेड कारिडोर, राम जानकी पथ, औैंटा-सिमरिया छह लेन पुल, पटना-गया-डोभी रोड, जेपी सेतु के समानांतर पुल तथा बिक्रमशिला पुल से जुड़ी अद्यतन जानकारी मुख्यमंत्री को दी गयी। 

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश दिया

मुख्यमंत्री ने यह कहा कि सभी परियोजनाओं का काम तेजी से पूरा करें इससे लोगों के आवागमन में और सहूलियत होगी। बिहार आने वाले पर्यटक को राज्य के विभिन्न पर्यटक स्थलों पर जाने में सहूलियत होगी। सात निश्चय-2 के तहत सुलभ संपर्कता का काम तेजी से बढ़ाने की भी उन्होंने बात कही। इसके तहत कई शहरों में बाईपास का निर्माण कराया जाना है। 

ये रहे मौजूद

मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, मुख्य सचिव आमिर सुबहानी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अनुपम कुमार, मुख्यमंत्री के ओएसडी गोपाल सिंह मुख्य रूप से मौजूद थे। वहीं पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन, पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत, बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अध्यक्ष पंकज कुमार पाल व अन्य अधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े हुए थे।

Edited By Akshay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept