This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Highlights Bihar Coronavirus News: बिहार में मिले रिकॉर्ड तोड़ 12,672 नए संक्रमित, 54 की कोरोना से मौत

Highlights Bihar Coronavirus News बिहार में शुक्रवार को सबसे ज्यादा 12672 संक्रमित मिले। इसके पहले 21 अप्रैल को 12222 संक्रमित मिले थे। राज्य में अब एक्टिव केस बढ़कर 69868 हो गई है। वहीं कोरोना से 54 लोगों की जान भी गई।

Shubh Narayan PathakFri, 23 Apr 2021 08:39 PM (IST)
Highlights Bihar Coronavirus News: बिहार में मिले रिकॉर्ड तोड़ 12,672 नए संक्रमित, 54 की कोरोना से मौत

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Highlights Bihar Coronavirus News: बिहार में कोरोना वायरस संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। राज्य में जांच बढ़ने के साथ ही संक्रमित भी बढ़ रहे हैं। शुक्रवार को  सबसे ज्यादा 12672 संक्रमित मिले। इसके पहले 21 अप्रैल को 12,222 संक्रमित मिले थे। राज्य में अब एक्टिव केस बढ़कर 69868 हो गई है। शुक्रवार को कोरोना संक्रमण की वजह से स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी रविशंकर चौधरी समेत 54 लोगों की जान भी गई।

Highlights Bihar Coronavirus Update News:

08:40 PM - बिहार में कोरोना ने एकबार फिर नया रिकॉर्ड कायम किया। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार एक दिन में रिकॉर्ड तोड़ 12672 संक्रमित मिले। वहीं 54 लोगों ने कोरोना से अपनी जान गंवा दी। इसबीच नीतीश कुमार ने आइजीआइएमएस में कोविड-19 मरीजों के मुफ्त इलाज की घोषणा की है। वहीं शुक्रवार को राज्य के 77,466 लोगों ने कोरोना से बचाव का टीका लिया।

08:26 PM - बिहार के बेगूसराय में एक बार फिर करोना विस्फोट हुआ है। शुक्रवार को कुल 666 कोरोना पॉजिटिव जिले में मिले हैं। बेगूसराय में एक्टिव मरीजों की संख्या 3336 हो गई है। एक दिन में 168 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। वहीं 136 मरीजों का अलग-अलग अस्पतालों में चल रहा है इलाज।

08:07 PM - गोपालगंज में मांझा प्रखंड के बीडीओ, इनकी पत्नी व दो वर्षीय पुत्र कोरोना संक्रमित हो गया है। बीडीओ तथा इनके परिवार के कोरोना संक्रमित होने से प्रखंड कर्मियों में हड़कंप मच गया है। कर्मी अपनी-अपनी कोरोना जांच करा रहे हैं। बताया जाता है कि बीडीओ अजीत कुमार ने  सर्दी- बुखार होने पर कोरोना जांच कराई थी। जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

07:33 PM - कोविड अस्पताल एनएमसीएच में शुक्रवार की शाम ऑक्सीजन खत्म होने की अफवाह फैलते ही मरीजों और उनके परिवार वालों के बीच अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई। सूचना पाकर एसएसपी और डीएम अस्पताल पहुंचे गए।

07:07 PM -बिहार में कोरोना से रोज दस हजार से अधिक संक्रमित मिल रहे हैं। शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 12,672 नए कोरोना पॉजिटिव बिहार में मिले हैं। इसमें अकेले पटना से 2801 कोरोना पॉजिटिव शामिल हैं। 

06:21 PM - स्वास्थ्य विभाग के अपर सचिव रविशंकर चौधरी की शुक्रवार को कोरोना से मौत हो गई। वह संक्रमित होने के बाद एम्स में भर्ती थे। उनके निधन पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने शोक जताया है। शोक संवेदना व्यक्त करते हुए मंगल पांडेय ने कहा कि रविशंकर के निधन से विभाग को अपूरणीय क्षति हुई है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को चिर शांति एवं संकट की इस घड़ी में उनके परिजनों को दुःख सहन की शक्ति दे।

05:54 PM - औरंगाबाद में प्रतिदिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए डीएम सौरभ जोरवाल ने दुकानों को खोलने का दिन एवं समय निर्धारित किया है। इससे संबंधित आदेश शुक्रवार को जारी किया है। डीएम ने दुकानों के संचालन का समय तीन श्रेणियों में बांटा है। डीएम का यह आदेश 24 अप्रैल से 15 मई तक लागू रहेगा। आदेश के अनुसार दवा, मेडिकल, अस्पताल एवं निजी क्लीनिक प्रतिदिन 24 घंटे खुली रहेंगी।

05:04 PM - कोविड अस्पताल एनएमसीएच में भर्ती मरीजों के लिए पर्याप्त संख्या में ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने एवं सुरक्षा सुनिश्चित करने को लेकर अस्पताल प्रशासन की नींद उड़ी है। अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि इन दो बड़ी समस्या के लिए उन्होंने स्वास्थ्य मंत्री, विभाग के प्रधान सचिव, मानवाधिकार आयोग के सचिव, डीजीपी, एसएसपी, डीएम सबसे फोन पर गुहार लगा चुके हैं। सबने समस्या के समाधान का आश्वासन दिया लेकिन शुक्रवार की शाम तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है।

04:22 PM - कोविड अस्पताल एनएमसीएच में शुक्रवार को भर्ती 24 मरीजों की मौत हो गई। स्वजन अपने नाते-रिश्तेदार का शव लेने के लिए घंटों इंतजार करते रहे हैं। नोडल पदाधिकारी डॉ. मुकुल कुमार सिंह ने बताया कि मरने वालों में 17 पटना और सात अन्य जिलों के थे। 28 वर्ष के युवा से लेकर 82 वर्ष तक के वृद्ध की मौत हुई है। 58 नए मरीजों को भर्ती किया गया है। इलाज के बाद स्वस्थ होने वाले पांच लोगों को अस्पताल से छुट्टी दी गई है।

03:40 PM - जहानाबाद में चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा दुकानों को बंद रखने के प्रस्ताव को तत्काल जिलाधिकारी नवीन कुमार द्वारा स्थगित कर दिया गया है। जिला प्रशासन द्वारा जो पूर्व से आदेश जारी है, वह लागू रहेगा। बताते चलें कि चेंबर ऑफ कॉमर्स द्वारा कोरोना संक्रमण को देखते हुए आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर सभी दुकानों को 23 एवं 24 अप्रैल के लिए बंद करने के निर्णय लिया गया था। इसके अलावा प्रत्येक सोमवार एवं मंगलवार को बंद रखने के लिए भी निर्णय लिया गया था। 

02:45 PM - कटिहार जिले के मनिहारी गंगा तट पर कोरोना संक्रमितों के शव जलाने की खबर मिल रही है। इससे करीब 50 हजार की आबादी खते में है। इस घाट पर दो यात्री जहाज चलते हैं। साथ ही झारखंड से पत्थर के कारोबार के लिए प्रतिदिन ढाई सौ से अधिक ट्रक भी आते-जाते हैं। यहां सौ से अधिक चाय-नाश्ता की दुकानें भी हैं। ऐसे में यहां से फैले संक्रमण की चेन दूर-दूर तक जाएगी।

02:15 PM - कोरोना से जंग जीतने वालों के मुकाबले जिंदगी की जंग हारने वालों का प्रतिशत बढ़ रहा है। 24 घंटे के अंदर 60 से अधिक मरीजों की मौत की बात प्रशासन भी मान रहा है। हालांकि, सही आंकड़ा इससे अधिक हो सकता है, क्‍योंकि सरकार के पास अस्‍पताल में मौत का सटीक आंकड़ा तो रहता है, लेकिन हाेम आइसोलेशन वाला सही आंकड़ा मिलने में वक्‍त लगता है। इस बात को खुद सरकार के मंत्री भी स्‍वीकार कर चुके हैं।

01:45 PM - एनएमसीएच के डॉक्‍टरों का कहना है कि जिला प्रशासन अपने आश्‍वासन को पूरा नहीं कर रहा है। ऐसे में बगैर सुरक्षा काम करना संभव नहीं है। प्रशासन ने अस्‍पताल में एक पुलिस पोस्‍ट स्‍थापित किया है, लेकिन जूनियर डॉक्‍टर चाहते हैं कि वहां 20-20 की संख्‍या में तीन शिफ्ट में 24 घंटे पुलिस बल की तैनाती रहे।

01:15 PM - कोविड अस्‍पताल एनएमसीएच में अव्‍यवस्‍था का आरोप मरीजों के स्‍वजन लगा रहे हैं। इसी वजह से गुरुवार को हंगामा भी हुआ था। मरीजों के स्‍वजनों का कहना है कि सीनियर डॉक्‍टर मरीजों को देखने तक नहीं जाते हैं। केवल जूनियर डॉक्‍टरों के भरोसे इलाज चल रहा है। जाप के नेता और पूर्व सांसद पप्‍पू यादव ने भी ऐसा ही आरोप लगाया है। उन्‍होंने तो यहां तक कहा कि पुराने मरीजों को देखने वाला कोई नहीं है।

12:45 PM - पटना स्थित Nmch में ऑक्सीजन को लेकर भी काफी तनाव बना हुआ है। अधीक्षक का कहना है कि भर्ती मरीजों के अनुपात में ऑक्सीजन मिल तो रहा है, लेकिन अंतिम समय में। डर बना रहता है कि अंतिम समय में ऑक्सीजन नहीं मिला तो क्या होगा? जरूरत के मुताबिक आपूर्ति नहीं हो पा रही है।

12:15 PM - 500 बेड वाले कोविड अस्पताल एनएमसीएच मैं सभी बेड फुल होने और नया मरीज नहीं भर्ती करने का नोटिस चस्पा कर दिया गया है। अधीक्षक का कहना है कि ऑक्सीजन वाला सभी 400 बेड मरीजों से भर चुका है। बिना ऑक्सीजन वाले एक सौ बेड पर वैसे ही मरीजों को भर्ती किया जाएगा, जिन्हें ऑक्सीजन की आवश्यकता नहीं है। मरीज के मरने या डिस्चार्ज होने के बाद ऑक्सीजन वाला बेड खाली होने पर ही उस पर दूसरे मरीज को भर्ती किया जाएगा।

11:30 AM - एनएमसीएच के अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे, प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, सीनियर एसपी, डीएम, मानव अधिकार आयोग के सचिव सभी से गुहार लगाने के बावजूद एनएमसीएच में ना तो अभी तक ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था ठीक हुई है न ही  जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षा सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि पत्र लिखकर प्रत्येक पाली में 20-20 पुलिसकर्मी की तैनाती किए जाने की मांग की गई है। मदर एंड चाइल्ड कोविड अस्पताल में आठ पुलिसकर्मी और एनएमसीएच में 12 पुलिसकर्मी एक पाली में तैनात किया जाना आवश्यक है।

11:00 AM - बिहार के सबसे बड़े कोविड अस्‍पताल एनएमसीएच के कोरोना वार्ड में ड्यूटी कर रहे जूनियर डॉक्टरों का कहना है कि अभी तक एनएमसीएच में सुरक्षा व्यवस्था बहाल नहीं हुई है। वह मरीजों के बीच राउंड लगाने से भी डर रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक जिला प्रशासन द्वारा पुलिसकर्मी की तैनाती नहीं की जाएगी, तब तक वह मरीजों के बीच नहीं जाएंगे। जून‍ि‍यर डॉक्‍टरों के दावे से उनकी हड़ताल खत्‍म होने पर सवाल उठ रहा है।

10:30 AM - एनएमसीएच में हंगामे के बाद जूनियर डॉक्टरों ने कार्य बहिष्कार किया था। प्राचार्य डॉ. हीरालाल महतो और अधीक्षक डॉ. विनोद कुमार सिंह द्वारा जिलाधिकारी के आश्वासन पर सुरक्षा व्यवस्था चुस्त करने का भरोसा दिलाने के बाद जूनियर डॉक्टर काम पर लौट आए हैं। अस्‍पताल प्रशासन का दावा है कि अब स्थिति बिल्कुल सामान्य है। जूनियर डॉक्टर अपनी ड्यूटी पर हैं। मरीजों की भर्ती और उनका इलाज जारी है।

10:00 AM - पटना स्थित एम्‍स यानी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान के 384 डॉक्टर व स्वास्थ्य कर्मी संक्रमित हो गए हैं। इसमें फैकेल्टी से लेकर जूनियर रेजिडेंट, सीनियर रेजिडेंट, नर्स व अन्य स्वास्थ्य कर्मी शामिल हैं। निदेशक डॉ. पीके सिन्हा ने बताया कि सभी होम आइसोलेशन पर है। वैक्सीन लेने के कारण किन्हीं को कोई विशेष परेशानी नहीं है। लेकिन, एक साथ इतने के आइसोलेशन पर रहने के कारण ओपीडी व कोरोना ड्यूटी पर थोड़ा प्रभाव जरूर दिख रहा है।

09:30 AM - पटना के कंकड़बाग में स्थित मेदांता अस्‍पताल में कोविड का इलाज शुरू कराने की सरकार की कोशिश अब तक कामयाब नहीं हो सकी है। इसके लिए खुद मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पहल की थी। पटना के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने गुरुवार को इस अस्‍पताल का जायजा लिया। इससे पहले डीडीसी भी इस अस्‍पताल का जायजा ले चुके हैं।

09:00 AM - बिहार के रहने वाले मशहूर भोजपुरी अभिनेता-गायक और भाजपा के सांसद मनोज तिवारी भी कोरोना संक्रमित हो गए हैं। उन्‍होंने खुद ही ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है। मनोज तिवारी कैमूर जिले के रहने वाले हैं। वे फिलहाल दिल्‍ली से भाजपा के सांसद हैं। उनके संक्रमित होने की खबर से चाहने वालों में मायूसी है।

08:30 AM - आरा के वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय में समाजशास्त्र विभाग के प्रोफेसर दिलीप चौधरी का निधन गुरुवार सुबह पटना के एक अस्पताल  में हो गया। प्रो. चौधरी की 10 अप्रैल को कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। वे घर पर ही क्वारंटाइन थे। तीन दिन पहले उनके सांस लेने में दिक्कत होने पर पटना के दीघा रोड स्थित हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। उनके पुत्र भी कोरोना संक्रमित हो गए थे, जो अब ठीक बताए गए हैं। बता दें कि बुधवार को विश्वविद्यालय को मनोविज्ञान के शिक्षक प्रो. इकबाल अहमद का निधन कोरोना संक्रमण से पटना के एक निजी अस्पताल में हो गया था।

08:00 AM - पटना के कोरोना की दूसरी लहर चिकित्‍साकर्मियों को भी नहीं बख्‍श रही है। पिछले 15 दिनों में करीब 700 डॉक्‍टर और मेडिकल स्‍टाफ कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। कम से कम एक डॉक्‍टर की संक्रमण के कारण मौत हो गई है, जबकि एक डॉक्‍टर आइसीयू में हैं। इस बीच अच्‍छी बात यह है कि कोरोना वैक्‍सीन की दोनों डोज ले चुके डॉक्‍टरों में इसके लक्षण हल्‍के हैं और उनकी तबीयत में तेजी से सुधार हो रहा है।

07:30 AM - पटना जिले के बिहटा में बेटे के तिलक की तैयारियों के बीच जदयू के जिला सचिव प्रेमनाथ राम की बुधवार की अचानक तबीयत बिगड़ गई। प्रेमनाथ को लगा कि उनके पेट में गैस हो गई है। आनन-फानन में उन्हें समीप के अस्पताल ले जाया गया। जांच पता चला कि उनका ऑक्सीजन लेवल कम था। उन्हें पटना ले जाने की सलाह दी गई। कहीं भी उन्हें ऑक्सीजन वाला बेड नहीं मिला। अंतत: उनकी मौत हो गई। सूचना मिलते ही परिजनों में शोक की लहर दौड़ गई। शादी वाले घर में माहौल गमगीन हो गया। गुरुवार को उनका दाह संस्कार किया गया।

07:00 AM - कोविड-19 के संक्रमण की सबसे खराब स्थिति प्रदेश की राजधानी पटना में है। गुरुवार को अकेले पटना जिले में ही 2643 यानी करीब एक चौथाई मरीज पाए गए। पटना के बाद औरंगाबाद में 498, बेगूसराय में 530, गया में 945, मुजफ्फरपुर में 602 कोरोना वायरस संक्रमित पाए गए। कोरोना वायरस के कम असर वाले जिलों में बांका, कैमूर और लखीसराय हैं। इन तीन जिलों में गुरुवार को मिले नए संक्रमितों की तादाद 100 से कम यानी दो अंकों में है।

06:30 AM - बिहार के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मंगल पांडेय के मुताबिक गुरुवार की शाम तक राज्‍य में करीब दो लाख 94 हजार मरीज कोरोना वायरस को मात देकर स्‍वस्‍थ हो चुके हैं। 24 घंटे के अंदर 5308 मरीज स्‍वस्‍थ हुए हैं। इसी दौरान 11,489 नए मरीज पाए गए हैं। यह स्‍वस्‍थ होने वाले मरीजों के लिहाज से दोगुना से भी अधिक है।

 

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!