खान सर को गिरफ्तार करने के लिए क्‍या है योजना, पटना के डीएम ने बताया पूरा प्‍लान

रेलवे भर्ती परीक्षा के नियमों में बदलाव से गुस्‍साए युवाओंं के बवाल मामले में पटना वाले खान सर पर भी प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। अब चर्चा तेज है कि पुलिस जल्‍द ही उन्‍हें गिरफ्तार कर सकती है।

Shubh Narayan PathakPublish: Thu, 27 Jan 2022 03:44 PM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 03:03 PM (IST)
खान सर को गिरफ्तार करने के लिए क्‍या है योजना, पटना के डीएम ने बताया पूरा प्‍लान

पटना, आनलाइन डेस्‍क। RRB NTPC Recruitment: रेलवे भर्ती परीक्षा के नियमों में बदलाव के विरोध में बिहार के अलग-अलग शहरों में हुए बवाल ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। पटना के स्टेशनों पर हंगामे के मामले में पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज करते हुए कुछ कोचिंग शिक्षकों को भी आरोपित बनाया है। इसमें बेहद मशहूर कोचिंग शिक्षक और इंटरनेट मीडिया सेलिब्रिटी खान सर का नाम भी शामिल है। खान सर पर प्राथमिकी दर्ज होने के बाद इस बात की संभावना जताई जा रही है कि पुलिस उन्हें गिरफ्तार भी कर सकती है। बताया यह भी जा रहा है क‍ि खान सर ने अपना मोबाइल बंद कर लिया है। वह पुलिस की कार्रवाई से बचने के लिए कानूनी उपायों पर राय ले रहे हैं। इस बीच पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर सिंह ने बताया है कि‍ खान सर का नाम प्राथमिकी में क्यों शामिल किया गया और पुलिस उनके खिलाफ क्या कार्रवाई करने जा रही है।

खान सर भी बनाए गए हैं आरोपित

आपको बता दें कि रेलवे की ओर से ग्रुप डी और एनटीपीसी की परीक्षा के नियमों में बदलाव किए जाने से इस परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले युवाओं में काफी रोष है। भर्ती प्रक्रिया के बीच नियमों में बड़े बदलाव किए जाने के विरोध में आवेदकों ने बिहार सहित अलग-अलग प्रांतों के रेलवे स्टेशनों पर काफी हंगामा किया है। इस दौरान ट्रेनों का परिचालन तो प्रभावित हुआ ही है। कई जगह रेलवे की संपत्ति को भी काफी नुकसान पहुंचाया गया है। बिहार में पटना, आरा, बक्सर, जहानाबाद, गया और नवादा जैसे स्टेशनों पर काफी उत्पात हुआ है। पटना के राजेंद्र नगर टर्मिनल पर ट्रेनों का परिचालन बाधित किए जाने के मामले में पुलिस ने जो प्राथमिकी दर्ज की है, उसमें खान सर का भी नाम बतौर आरोपित शामिल किया गया है।

साक्ष्‍य के साथ रखनी होगी अपनी बात

पटना के डीएम डॉ चंद्रशेखर ने बताया कि राजेंद्र नगर टर्मिनल पर हंगामे के दौरान प्रशासन ने पूरी कोशिश की क‍ि छात्र सही तरीके से अपनी बात रखें और उचित फोरम पर उनके मामले की सुनवाई हो। इसके बावजूद कुछ उपद्रवियों ने शांति भंग करने की कोशिश की। इसके बाद प्रशासन को मजबूर होकर कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने बताया कि घटनास्थल से कुछ लोगों को पकड़ा गया था। उनके बयान के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। घटनास्थल से पकड़े गए लोगों ने कुछ कोचिंग संचालकों के बारे में भी जानकारी दी थी। इस आधार पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस इस मामले में अपने तरीके से कार्रवाई कर रही है, लेकिन इस मामले में कोच‍िंंग शि‍क्षकों को भी उनका पक्ष रखने का मौका दिया जाएगा। डीएम ने कहा कि आरोपित शिक्षकों को साक्ष्‍य के साथ अपनी बात रखनी होगी।

Edited By Shubh Narayan Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept