This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

अपहृत युवती को 52 दिन बाद ढूंढ लाई हाजीपुर पुलिस, कोर्ट के समक्ष दिए बयान ने बदला पूरा मामला

Bihar Crime हाजीपुर में 52 दिनों से गायब एक युवती को खोजने के लिए पुलिस परेशान रही। हालांकि पुलिस ने जब युवती को खोज निकाला तो मामला और ही निकला। कोर्ट में युवती का बयान दर्ज करा दिया गया है।

Shubh Narayan PathakSat, 24 Apr 2021 09:47 AM (IST)
अपहृत युवती को 52 दिन बाद ढूंढ लाई हाजीपुर पुलिस, कोर्ट के समक्ष दिए बयान ने बदला पूरा मामला

हाजीपुर, जागरण संवाददाता। Bihar Crime: वैशाली (Vaishali Crime) जिले से गायब एक युवती 52 दिन बाद आखिरकार पुलिस के हाथ लग गई। हाजीपुर (Hajipur) नगर थाना क्षेत्र के महावीर काॅलोनी अंजानपीर मोहल्ले से लापता इस युवती के स्‍वजनों ने उसके अपहरण का मामला दर्ज कराया था। इस मामले को लेकर पुलिस कई दिनों तक परेशान रही। बाद में पुलिस को युवती का सुराग मिला और आखिरकार उसे हिरासत में लेते हुए हाजीपुर न्‍यायालय में प्रस्‍तुत किया गया। कोर्ट में युवती का बयान दर्ज होने के बाद पूरा मामला ही बदल गया। इसके बाद पुलिस भी राहत की सांस ले रही है।

भाई ने दो मार्च को दर्ज कराई थी अपहरण की प्राथमिकी

पुलिस के मुताबिक युवती को सदर थाना क्षेत्र के ही बलवा कुवांरी गांव से बरामद कर न्यायालय में प्रस्तुत किया गया। न्यायिक दंडाधिकारी प्रीति राय के समक्ष युवती का बयान कलमबंद कराया गया। युवती के भाई ने दो मार्च को नगर थाना में अपनी बहन के अपहरण की प्राथमिकी सदर थाना क्षेत्र के बलवा कुवांरी गांव के राहुल कुमार सिंह के विरुद्ध दर्ज कराई थी।

कोर्ट के समक्ष युवती ने अपहरण की बात से किया इनकार

कोर्ट के समक्ष युवती ने खुद का अपहरण कर लिए जाने की घटना से इंकार करते हुए हुए आरोपी के साथ स्वेच्छा से जाने की बात बताई। उसने कोर्ट को बताया कि वह शादी कर चुकी है और अब अपने पति के साथ ही रहना चाहती है। युवती द्वारा खुद को और पति काे बालिग बताए जाने के बाद न्यायालय से उसे पति के साथ जाने के लिए मुक्त कर दिया।

विवाहिता को मारपीट कर घर से निकाला

इधर, सारण जिले के मढ़ौरा प्रखंड में नौतन मठिया निवासी विवाहिता को उसके ससुराल वालों के द्वारा मारपीट कर घर निकाल दिया गया। इस संबंध में पीडि़त हमीद मियां की पुत्री शहनाज खातुन ने प्राथमिकी दर्ज करायी है। प्राथमिकी में कहा है कि मुजफ्फरपुर जिला के औराई में मेरी शादी मुस्लिम रीति रिवाज के साथ सन 2013 में हुई थी। मेरे पति कोलकाता में कमाते हैं, जहां से परिवार चलाने का खर्चा हर महीना भेजते हैं। मैं अपने बच्चों के साथ ससुराल में ही रहती थी। इस दौरान जब मैने ससुराल के लोगों से परिवार का खर्चा मांगा तो मेरे ससुर अहमद रजा ,सास जरीना खातुन ,देवर इसराद आलम व ननद हैना खातुन मेरा बाल पकड़ के लात ,फैट व डंडा से मारने लगे। मारपीट करके मेरा समान ,कपड़ा ,मोबाइल व जेवरात सब छिन लिये और घर से निकाल दिये ।

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!