Bihar Weather: बिहार में बादल दिखाएंगे कमाल, पटना के मौसम विज्ञान केंद्र ने जारी किया पूर्वानुमान

Bihar Weather Forecast बंगाल की खाड़ी में फिर तेज हुई हलचल कम दबाव का क्षेत्र बनने से बदल सकता है बिहार का मौसम राज्‍य में बादल फिर से दिखा सकते हैं कमाल पटना के मौसम विज्ञान केंद्र ने कही ये बात

Shubh Narayan PathakPublish: Sat, 13 Nov 2021 06:28 AM (IST)Updated: Sat, 13 Nov 2021 06:28 AM (IST)
Bihar Weather: बिहार में बादल दिखाएंगे कमाल, पटना के मौसम विज्ञान केंद्र ने जारी किया पूर्वानुमान

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Weather Forecast: बिहार में अगले 48 घंटों के दौरान मौसम शुष्क रहेगा। इन दिनों बंगाल की खाड़ी में एक कम दबाव का क्षेत्र विकसित हो रहा है। इसके प्रभाव से दक्षिण बिहार के अधिकांश भागों में आंशिक रूप से बादल छाए रहने के आसार हैं। दिन और रात के तापमान में कोई खास वृद्धि नहीं होगी। प्रदेश का न्यूनतम तापमान 16-18 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने का अनुमान है।

  • दक्षिण बिहार के अधिकांश भागों में छाए रहेंगे बादल
  • अगले 48 घंटे तक सामान्य रहेगा प्रदेश का तापमान
  • 17.6 डिग्री सेल्सियस रहा पटना का न्यूनतम तापमान
  • 14.0 डिग्री दर्ज किया गया डेहरी का न्यूनतम तापमान

मौसम विज्ञान केंद्र पटना के अनुसार प्रदेश के कुछ भागों में पूर्वी हवा का प्रवाह धीरे-धीरे हो रहा है हालांकि इसका प्रवाह पूरे प्रदेश में होने में कुछ वक्त लगेगा। बीते 24 घंटे के दौरान प्रदेश का औसत न्यूनतम तापमान 15-18 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। शुक्रवार को पटना का न्यूनतम तापमान 17.6 डिग्री व अधिकतम तापमान 29.2 डिग्री दर्ज किया गया। डेहरी का न्यूनतम तापमान 14.0 डिग्री रहा। मौसम विज्ञान से प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को पटना व इसके आसपास के क्षेत्रों में सुबह के समय आकाश में कोहरा छाया रहेगा। धूप निकलने के बाद मौसम सामान्य हो जाएगा।

राज्‍य के प्रमुख शहरों का अधिकतम तापमान

  • शहर     -  तापमान
  • पटना -     29.2
  • गया     -  28.9
  • भागलपुर  - 29.6
  • मुजफ्फरपुर - 29.2
  • (डिग्री सेल्सियस में)

प्रदूषण का हाल भी खराब

ठंड और कोहरे का मौसम आते ही राज्‍य में वायु प्रदूषण का हाल लगातार खराब चल रहा है। पटना सहित बिहार के तमाम शहरी इलाकों में फिलहाल हवा की गुणवत्‍ता का स्‍तर स्‍वास्‍थ्‍य के लिहाज से खराब चल रहा है। पटना में वायु गुणवत्‍ता सूचकांक फिलहाल औसतन 150 से 200 के बीच रहता है। बेहतर हवा के लिए इसे 50 से कम होना चाहिए।

Edited By Shubh Narayan Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept