बिहार में अपराधियों पर गिरेगा पुलिस का 'वज्र', हर थाने में जाएगी विशेष सशस्‍त्र टीम

Bihar Crime बिहार में पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर पिछले माह दिसंबर में रेंज वाले जिलों में वज्र जबकि अन्य जिलों में प्लाटून का गठन किया गया है। राज्य में पहली बार सिर्फ गिरफ्तारी के लिए विशेष तौर पर सशस्त्र बल की कंपनी या प्लाटून का गठन किया गया है।

Shubh Narayan PathakPublish: Wed, 19 Jan 2022 10:27 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 10:27 AM (IST)
बिहार में अपराधियों पर गिरेगा पुलिस का 'वज्र', हर थाने में जाएगी विशेष सशस्‍त्र टीम

पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। Bihar Crime: हत्या, डकैती जैसे गंभीर आपराधिक मामलों में अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए बनी वज्र टीम और प्लाटून अब एक जगह स्थिर न रहकर थानावार कैंप करेगी। सशस्त्र पुलिस के जवानों से बनाई गई यह टीम अलग-अलग थाना क्षेत्रों में जाकर निश्चित समय में अपराधियों की गिरफ्तारी के एिल अभियान चलाएगी। डीजीपी एसके सिंघल से इस बाबत सभी जिलों के एसएसपी और एसपी को निर्देश जारी किया है। वज्र कंपनी प्लाटून की निगरानी और निगरानी की जवाबदेही रेंज आइजी और डीआइजी की होगी। कौन सी टीम किस थाने में है और क्या कार्रवाई कर रही है, इसकी रिपोर्ट भी अधिकारियों को नियमित रूप से दी जाएगी।

दिसंबर में हुआ था गठन

पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर पिछले माह दिसंबर में रेंज वाले जिलों में वज्र जबकि अन्य जिलों में प्लाटून का गठन किया गया है। राज्य में पहली बार सिर्फ गिरफ्तारी के लिए जिला स्तर पर विशेष तौर पर सशस्त्र बल की कंपनी या प्लाटून का गठन किया गया है। इसमें सिर्फ सशस्त्र बल के जवानों को रखा गया है। वज्र की कंपनी व प्लाटून के द्वारा एक से 5 जनवरी के बीच चलाए गए ऑपरेशन 'प्रहार' के तहत 160 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया था। इसमें हत्या के 45, पुलिस पर हमले के 16 और हत्या के प्रयास के 98 अभियुक्त शामिल थे। 

Edited By Shubh Narayan Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept