This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Pappu Yadav Arrested: 30 साल पुराने मामले में पूर्व सांसद पप्‍पू यादव अरेस्‍ट, पुलिस काफिले को रोकने की कोशिश

Pappu Yadav Arrested Video बिहार में जन अधिकार पार्टी के संरक्षक और मधेपुरा के पूर्व सांसद राजेश रंजन यादव उर्फ पप्‍पू यादव को आखिरकार गिरफ्तार कर लिया गया। उन्‍हें पटना स्थित आवास से मंगलवार की सुबह लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में हिरासत में लिया गया था।

Shubh Narayan PathakWed, 12 May 2021 06:09 AM (IST)
Pappu Yadav Arrested: 30 साल पुराने मामले में पूर्व सांसद पप्‍पू यादव अरेस्‍ट, पुलिस काफिले को रोकने की कोशिश

पटना, ऑनलाइन डेस्‍क। Pappu Yadav Arrested: बिहार में जन अधिकार पार्टी के संरक्षक राजेश रंजन यादव उर्फ पप्‍पू यादव को आखिरकार पटना की बजाय मधेपुरा की पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उन्‍हें करीब 30 साल पुराने अपहरण के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है। मधेपुरा की कोर्ट ने उन्‍हें न्‍यायिक हिरासत में भेजने का आदेश मंगलवार की देर शाम दिया। उन्‍हें पटना के मंदिरी स्थित आवास से लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में हिरासत में लिया गया था। बुद्धा कॉलोनी थाना क्षेत्र स्थित उनके आवास पर हिरासत में लेने राजधानी के पांच थानों की पुलिस डीएसपी स्‍तर के एक अधिकारी के नेतृत्‍व में पहुंची थी। मंगलवार की सुबह उन्‍हें हिरासत में लेने के बाद पहले पटना के गांधी मैदान थाना ले जाया गया था।

पुलिस के हिरासत में लेते ही पूर्व सांसद ने दी थी जानकारी

मधेपुरा के पूर्व सांसद ने मंगलवार की सुबह खुद ट्वीट कर बताया कि उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा और एएसपी स्‍वर्ण प्रभात का कहते रहे कि उन्‍हें हिरासत में लिया गया है। इस बीच ऐसी खबरें मिलती रही कि उन्‍हें गिरफ्तार करने के लिए मधेपुरा की पुलिस पटना आ रही है। उन्‍हें मधेपुरा के ही किसी मामले में गिरफ्तार किए जाने की संभावना जाहिर की जा रही था। और आखिरकार हुआ भी ऐसा ही। मधेपुरा की पुलिस पटना के गांधी मैदान थाने से पूर्व सांसद को अपने साथ ले गई। इधर, उनके समर्थक गांधी मैदान थाने के सामने धरने पर बैठ गए हैं।

हाल में भाजपा के सांसद के साथ हुआ था विवाद

पप्‍पू यादव ने पिछले दिनों सारण से भाजपा के सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी की सांसद निधि से खरीदी गई करीब 30 से 40 एंबुलेंस के बेकार पड़े रहने का मसला उठाया था। इस प्रकरण पर दोनों नेताओं के बीच काफी बयानबाजी भी हुई थी। इस मामले में उन पर दो प्राथमिकियां भी दर्ज की गई हैं। पूर्व सांसद पर हाल के दिनों में अस्‍पतालों में अनधिकृत प्रवेश को लेकर कुछ और जगहों पर भी प्राथमिकी दर्ज हुई है।

यह भी पढ़ें- जाप के प्रदेश प्रवक्‍ता की धमकी- चार बजे तक पप्‍पू यादव को रिहा नहीं किया तो तोड़ेंगे लॉकडाउन

शुरू में आ रही थी हाउस अरेस्‍ट की खबरें

पटना के मंदिरी स्थित आवास से पूर्व सांसद को हिरासत में लेने के लिए पांच थानों की पुलिस को लगाया गया था। यह इलाका बुद्धा कॉलोनी थाने में पड़ता है। पुलिस मंगलवार की सुबह से ही उनके आवास के बाहर जुटने लगी थी। शुरू में कहा जा रहा था कि शायद उन्‍हें हाउस अरेस्‍ट किया गया है। लेकिन अब जो खबर मिल रही है, उसके अनुसार उन्‍हें लेकर पुलिस गांधी मैदान थाने में पहुंच गई है। पप्‍पू यादव अपनी ही गाड़ी में सवार होकर थाने तक पहुंचे, लेकिन उनके साथ पटना पुलिस की गाडि़यां भी थीं।

खुद ट्वीट कर दी गिरफ्तार किए जाने की जानकारी

पूर्व सांसद पप्‍पू यादव ने थोड़ी ही देर पहले ट्वीट कर खुद को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी दी है। उन्‍होंने बताया है कि उन्‍हें गिरफ्तार कर गांधी मैदान थाने में ले जाया गया है। अभी यह सामने नहीं आया है कि उन्‍हें किस मामले में हिरासत में लिया गया है।

बोले- उठाता रहूंगा आवाज, चाहे दे दो फांसी

पूर्व सांसद ने एक और ट्वीट कर कहा है कि उन्‍हें कोरोना काल में जिंदगियां बचाने की सजा दी जा रही है। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को चुनौती देते हुए कहा है कि वे अपना मिशन बंद नहीं करेंगे, भले सरकार उन्‍हें फांसी दे दे। उन्‍होंने कहा है कि खुद की जान को हथेली पर रखकर वे कोरोना के मरीजों के बीच गए हैं और उनकी मदद की है।

तीन बार हिदायत के बावजूद पहुंचे पीएमसीएच कोविड वार्ड

पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने कहा कि पप्पू यादव लगातार बिना पास के घूम रहे थे। जबकि उन्हें हिदायत दी गई थी कि वे बिना किसी ठोस वजह के घर से बाहर ना निकलें। मंगलवार को सूचना मिली कि वह कोविड गाइडलाइन का उलंघन करते हुए पीएमसीएच के कोविड वार्ड में पहुंच गए हैं। इसके बाद पुलिस के पास फोन आया कि उनकी वजह से मरीजों को इलाज से परेशानी हो रही है। जिसके बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया। उनकी अभी गिरफ्तारी नहीं की गई है। कानूनी प्रकिया चल रही है। 

आवास पर पहुंची तो कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर बना रहे थे रणनीति

पप्पू यादव कोरोना काल में लगातार अस्पतालों में घूमकर जरूरतदों की मदद करने में जुटे थे। वे कभी शमशान घाट और अलग अलग जिलों में घूम रहे थे। हाल ही में उन्‍होंने छपरा पहुंच कर सांसद के आवास से 30 से अधिक एंबुलेंस को ढक कर रखे जाने का मामला उजागर किया था। इसके बाद पुलिस उन्हें हिदायत दी थी कि बिना पास या बेवजह बाहर ना निकलें। मंगलवार को जब पुलिस उनके आवास पर पहुंची तो वे कार्यकर्ताओं के साथ बैठकर रणनीति बना रहे थे।

पुलिस टीम को झेलना पड़ा काफी विरोध

पप्‍पू यादव को गिरफ्तार करने में पप्‍पू यादव को काफी विरोध झेलना पड़ा। पटना के गांधी मैदान थाने के बाहर उनके समर्थकों ने प्रदर्शन किया। मधेपुरा ले जाने के क्रम में भी उनके समर्थक पुलिस का रास्‍ता रोकते नजर आए। एक जगह तो पप्‍पू के समर्थक उनकी गाड़ी के सामने ही लेटते दिखे। कई समर्थक उनकी गाड़ी के बोनट पर चढ़ गए। पुलिस ने समर्थकों को हटाकर उन्‍हें ले जाने के लिए रास्‍ता बनाया।

यह भी पढ़ें - Bihar: पूर्व सांसद पप्‍पू यादव की गिरफ्तारी पर भड़के समर्थक, दी यह धमकी, जेल भेजे गए जाप सुप्रीमो

Edited By: Shubh Narayan Pathak

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!