बिहारः राजस्व अधिकारियों से बोले अपर मुख्य सचिव- मिलने जा रही बड़ी जिम्मेदारी; ईमानदारी से करें काम

नव नियुक्त राजस्व अधिकारियों से राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने कहा है कि उन्हें बेहद महत्वपूर्ण जिम्मेवारी मिलने जा रही है। वे इसका निर्वहन पूरी ईमानदारी से करें। उन्होंने नए अधिकारियों को उनके प्राथमिक दायित्वों की जानकारी दी।

Akshay PandeyPublish: Tue, 25 Jan 2022 04:50 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 04:50 PM (IST)
बिहारः राजस्व अधिकारियों से बोले अपर मुख्य सचिव- मिलने जा रही बड़ी जिम्मेदारी; ईमानदारी से करें काम

राज्य ब्यूरो, पटना: राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव विवेक कुमार सिंह ने नव नियुक्त राजस्व अधिकारियों को कहा है कि उन्हें बेहद महत्वपूर्ण जिम्मेवारी मिलने जा रही है। वे इसका निर्वहन पूरी ईमानदारी से करें। वे राजस्व अधिकारियों के दूसरे बैच के प्रशिक्षण सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राजस्व सेवा से हरेक नागरिक का लगाव है। गांव और शहर के लोग इस विभाग की गतिविधियों और कामकाज से प्रभावित होते हैं। अगर आपका कामकाज अच्छा रहेगा तो आम लोगों की नजर में आपकी इज्जत बढ़ेगी। उन्होंने नए अधिकारियों को उनके प्राथमिक दायित्वों की जानकारी दी। निदेशक, भू परिमाप जय सिंह ने भी प्रशिक्षण सत्र को संबोधित किया। 

जमीन से जुड़े कानूनों की दी जाएगी जानकारी

शास्त्रीनगर स्थित राजस्व सर्वे प्रशिक्षण संस्थान में यह प्रशिक्षण चल रहा है। महीने भर का प्रशिक्षण 24 जनवरी को शुरू हुआ। अधिकारियों को चकबंदी, भू-अर्जन, भूमि सर्वेक्षण के अलावा जमीन से जुड़े कानूनों की जानकारी दी जाएगी। व्यवहारिक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इस बैच में फिलहाल 29 अधिकारी शामिल हैं। 

34 अधिकारियों ने राजस्व सेवा में नहीं दिखाई दिलचस्पी

बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की  64वीं संयुक्त परीक्षा के आधार पर 566 राजस्व अधिकारियों का चयन किया गया। इनकी सेवा राजस्व एवं भूमि सुधार विभाग को दी गई। 409 अधिकारियों को दिसंबर के आखिरी सप्ताह में एक माह के प्रशिक्षण के बाद विभिन्न अंचलों में पदस्थापित कर दिया गया है। बाकि 90 अधिकारी ऐसे हैं, जिन्होंने नियुक्ति पत्र प्राप्त कर लिया है। इनमें से ही 29 अधिकारी इस प्रशिक्षण में शामिल हो रहे हैं। 566 में 34 ने राजस्व सेवा में दिलचस्पी नहीं दिखाई, जबकि 33 के दस्तावेज अधूरे हैं। बता दें कि पटना के शास्त्रीनगर स्थित राजस्व सर्वे प्रशिक्षण संस्थान में यह प्रशिक्षण 24 जनवरी को शुरू हुआ। इसमें जमीन से जुड़े कानूनों की जानकारी दी जा रही है। इस बैच में फिलहाल 29 अधिकारी शामिल हैं। 

Edited By Akshay Pandey

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept