This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

इम्युनिटी बढ़ाने वाले मसाले व औषधियों की बढ़ी मांग, पटना के बाजार में 10 से 20 फीसद तक चढ़ी कीमतें

कोरोना काल में रोग प्रतिरोधक अर्थात इम्युनिटी बढ़ाने वाली सामग्रियों की मांग बढ़ गयी है। काली मिर्च सोंठ दालचीनी लौंग बड़ी इलाइची तेजपत्ता अदरक आंवला समेत अन्य रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली सामग्रियों की बढ़ी खरीदारी से औषधि दुकानों में इसकी मांग बढऩे लगी है।

Shubh Narayan PathakSun, 25 Apr 2021 11:06 AM (IST)
इम्युनिटी बढ़ाने वाले मसाले व औषधियों की बढ़ी मांग, पटना के बाजार में 10 से 20 फीसद तक चढ़ी कीमतें

पटना सिटी, बाजार प्रतिनिधि। Patna City Market Update: वैश्विक आपदा कोरोना काल में रोग प्रतिरोधक अर्थात इम्युनिटी बढ़ाने वाली सामग्रियों की मांग बढ़ गयी है। खरीदार इसे ज्यादा तरजीह दे रहे है। ऐसे में कीमतों में भी दस से बीस फीसद की तेजी आयी है। खास तौर पर काली मिर्च, सोंठ, दालचीनी, लौंग, बड़ी इलाइची, तेजपत्ता, अदरक, आंवला समेत अन्य रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली सामग्रियों की बढ़ी खरीदारी से औषधि दुकानों में इसकी मांग बढऩे लगी है। दुकानदारों का कहना है कि पहले इनकी मांग उतनी नहीं थी जितनी की अब हो गई है। काढ़ा बनाने के लिए लोग इन सामग्रियों को खरीद रहे हैं।

श्रीलंका से आता है लौंग

किराना की थोक मंडी मारूफगंज में इसके कारोबार से जुड़े व्यापारी बसंत लाल व संत लाल गोलवारा बताते हैं कि पटना की मंडियों में काली मिर्च अर्थात गोलकी की आवक दक्षिण भारत में कालीकट व कोच्ची से होती है। बिक्री कम होने की वजह से मंडी में अभी आवक थोड़ा कम है। सोंठ भी कोच्चि व केरल से, लौंग पूर्वोत्तर भारत के अलावा श्रीलंका के मेदाकांकसर व कोलंबो से आता है। तेजपत्ता आसाम से आजवायन शीमठ व दक्षिण भारत से पटना की मंडियों में पहुंचता है।

वियतनाम और चीन से आता दालचीनी

दालचीनी भारतीय मूल का मोटा होता है। यह वियतनाम और चाइना से आता है। बड़ी इलायची व अदरक आसाम व सिलीगुड़़ी से, आंवला मध्य प्रदेश, सतना, छत्तीसगढ़ व झारखंड के कुछ जगहों से पटना की मंडियों में पहुंचता है। कारोबारियों ने बताया कि वर्तमान में सीजन नहीं होने की स्थिति में बाजार में सूखा आंवला उपलब्ध है। तुलसी पत्ता व उसका मंजर के साथ गिलाई अर्क व अन्य औषधि भी बाजार में है। जिसकी खरीदारी हो रही है।

खुदरा बाजार में कीमतों पर एक नजर  प्रति किलो

  वर्तमान               पहले

काली मिर्च : 480 रुपये से 560 रुपये, 460 से 540 रुपये

सोंठ :         250 से 350 रुपये,   230 से 340 रुपये

आजवायन : 190 से 260 रुपये,    180 से 240 रुपये

लौंग : 580 से 650 रुपये,     560 रुपये से 640 रुपये

तेजपत्ता :  50 से 60 रुपये      50 से 60 रुपये

आंवला : 350 से 400  रुपये, 320 से 380 रुपये

दाल चीनी : 255 से 280 रुपये, 240 से 270 रुपये

बड़ी इलायची : 510 से 620 रुपये, 500 से 600 रुपये

तुलसी पत्ता व मंजर : 250 से 350 रुपये

अदरक : 120 से 160 रुपये प्रति किलो

इनकी भी बढ़ी है मांग  

च्यवनप्राश : 335 से 760 रुपये प्रति किलो

गिलोय : 220 से लेकर 400 रुपये तक 500 एमएल

गिलोय तुलसी अर्क : 150 से 200 रुपये 500 एमएल

तुलसी अर्क ड्राप : 190 से 240 रुपये 30 एमएल में

इम्युनिटी बढ़ाने का कैप्सूल : 182 से 250 रुपये तक 50 पीस

तुलसी पत्तों की हरा माला : 30 से 40 रुपये

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!