कोरोना को लेकर नई चेतावनी ने डराया, पटना में बदली जांच की व्यवस्था; बिहार में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

Coronavirus Update कोरोना की तीसरी लहर खत्‍म होने का इंतजार कर रहे लोगों को विशेषज्ञों की चेतावनी ने फिर से डरा दिया है। विशेषज्ञों के मुताबिक संक्रमण के मामले फरवरी में फि‍र से बढ़ सकते हैं। इसे देखते हुए पटना में कोरोना जांच के नि‍यम फिर से बदल गए हैं।

Shubh Narayan PathakPublish: Sat, 29 Jan 2022 01:57 PM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 01:57 PM (IST)
कोरोना को लेकर नई चेतावनी ने डराया, पटना में बदली जांच की व्यवस्था; बिहार में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

पटना, जागरण संवाददाता। Bihar Coronavirus Update: बिहार की राजधानी पटना में कोरोना की तीसरी लहर अब उतार पर है। नए संक्रमितों के साथ उपचाराधीन मरीजों की संख्या भी घटकर हजार से नीचे हो गई है। हालांकि, फरवरी में दोबारा संक्रमण बढ़ने की विशेषज्ञों की चेतावनी को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार से दोबारा आशंकितों की कोरोना जांच तेज करने का निर्णय लिया है। अब भीड़भाड़ वाले इलाके में रैंडम जांच तो होगी ही, संक्रमितों के संपर्क में आने वाले सभी लोगों की पहचान कर जांच कराई जाएगी। पिछले दिनों तय किया गया था कि बिना लक्षण वाले किसी शख्‍स की जांच नहीं होगी। अब यह नियम फिर से बदला गया है।  

कोरोना संक्रमण के कभी भी तेज होने की आशंका

सिविल सर्जन डा. विभा कुमारी सिंह ने कहा कि संक्रमण कभी भी तेज होने की आशंका को देखते हुए कोरोना जांच संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही अब जो संक्रमित मिलेंगे उनके संपर्क में आए लोगों की जांच कराई जाएगी। साथ ही जिले में जिन लोगों ने अबतक वैक्सीन की पहली या दूसरी डोज नहीं ली है, उन्हें चिह्नित कर टीकाकरण कराने का कार्य चलता रहेगा।

वैक्‍सीन लेना संक्रमण से बचने की गारंटी नहीं देता

सिविल सर्जन ने कहा कि वैक्सीन की दोनों डोज लेने या कोरोना संक्रमण से मिली इम्युनिटी संक्रमण से सौ प्रतिशत सुरक्षा की गारंटी नहीं है। लोगों तक लगातार विभिन्न माध्यमों से यह संदेश पहुंचाने का कार्य जारी रहेगा कि कोरोना संक्रमण का खतरा पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। वे घर और सार्वजनिक स्थलों पर कोरोना अनुकूल व्यवहार यानी मास्क, हैंड सैनिटाइजेशन और शारीरिक दूरी नियम का पालन करते रहें। संक्रमण के गंभीर परिणामों से बच सकें इसलिए कोई भी लक्षण दिखने पर कोरोना जांच जरूर कराएं।

Edited By Shubh Narayan Pathak

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept