This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Bihar Lockdown News: बिहार में हर रोज लागू होगा नाइट कर्फ्यू, 15 मई तक ये प्रतिष्‍ठान रहेंगे बंद, सीएम नीतीश ने की घोषणा

राज्‍य में कोविड-19 संक्रमण की विस्‍फोटक स्थिति को देखते हुए सीएम नीतीश कुमार ने आज फैसला ले लिया। अब बिहार में हर रोज रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। 15 मई तक स्‍कूल माॅल सहित ये रहेंगे बंद। पढि़ए गाइडलाइंस पर डिटेल खबर।

Sumita JaiswalSun, 18 Apr 2021 11:05 PM (IST)
Bihar Lockdown News: बिहार में हर रोज लागू होगा नाइट कर्फ्यू, 15 मई तक ये प्रतिष्‍ठान रहेंगे बंद, सीएम नीतीश ने की घोषणा

पटना, राज्य ब्यूरो। सीएम नीतीश कुमार बिहार में विस्‍फोटक हो रहे कोविड संक्रमण पर नियंत्रण के लिए बड़ा फैसला ले लिया । अब बिहार में अब हर रोज नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। सभी प्रतिष्‍ठान हर हाल में शाम छह बजे तक बंद हो जाएंगे। पूरे राज्‍य में रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। साथ ही धारा 144 को भी लागू किया जाएगा। सभी स्‍कूलों, कॉलेजों, कोचिंग, मॉल, क्‍लब, पार्क आदि 15 मई तक बंद रहेंगे। स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और डाक्‍टरों को पिछले साल की तरह ही इस साल भी एक माह का अतिरिक्‍त वेतन यानी 13 माह का वेतन दिया जाएगा। आज सीएम नीतीश कुमार ने बिहार के सभी जिलों के डीएम-एसपी के साथ चार  घंटे की मैराथन बैठकऔर इसके बाद क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक के बाद यह फैसला लिया गया। बैठक में पूरे राज्‍य में कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की गई। शाम में नीतीश कुमार ने संवाद कक्ष में आयोजित प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में यह घोषणा की है।

बता दें कि शनिवार को राज्‍यपाल फागू चौहान की अध्‍यक्षता में सर्वदलीय बैठक के दौरान बिहार के प्रमुख विपक्षी दल कांग्रेस और राजद ने सरकार को कड़े फैसले लेने की सलाह दी थी। भाजपा और लोजपा ने वीकेंड कर्फ्यू का सुझाव दिया था। हम पार्टी ने लाॅकडाउन का विरोध किया था। उम्‍मीद जताई जा रही थी कि इस अहम बैठक के बाद सरकार लॉकडाउन या नाइट कर्फ्यू जैसे उपायों की घोषणा कर सकती है।

बिहार में लागू गाइडलाइंस

- सभी सरकारी कार्यालयों को शाम पांच बजे तक बंद कर दिया जाएगा।

- सभी प्रतिष्‍ठान, मॉल, दुकानें, मांस-मछली बाजार, फल, सब्‍जी मंडी आदि शाम छह बजे तक बंद हो जाएंगे।

- हर रोज सरकारी कार्यालयों में 33 प्रतिशत पदाधिकारी और कर्मचारी ही आएंगे।

- स्‍वास्‍थ्‍य कर्मियों और डाक्‍टरों को पिछले साल की तरह ही इस साल भी 13 माह का वेतन दिया जाएगा।

- सभी शिक्षण संस्‍थान स्‍कूल, कॉलेज और काेचिंग आदि 15 मई तक बंद रहेंगे। इस दौरान राज्‍य के विश्‍वविद्यालय की ओर से कोई परीक्षा नहीं ली जाएगी।

- नौकरियों के लिए होनेवाली परीक्षा के बारे में फिलहाल कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

- 15 मई तक सभी धार्मिक स्‍थल बंद रहेंगे।

- राज्‍य में पार्क, उद्यान, क्‍लब, जिम, स्‍टेडियम, हेरिटेज साइट, खेल प्रशिक्षण आदि 15 मई तक बंद रहेंगे।

- रेस्‍टाॅरेंट में बैठकर खाना प्रतिबंधित रहेगा। मगर रात नाै बजे तक होम डिलीवरी होगी।

- शादियों और अंतिम संस्‍कार में सीमित संख्‍या में लोग शामिल हो सकेंगे।

- शादियों में पहले 200 लोगों को शामिल हाेने की इजाजत थी, अब 100 लोग ही शामिल हो सकेंगे।

- अंतिम संस्‍कार में 25 लोग शामिल हो सकेंगे।

- पूरे बिहार में गांव-गांव में बृहद स्‍तर पर माइकिंग कराकर कोविड महामारी से सतर्क रहने और महामारी के प्रति जागरूकता फैलाने को अभियान चलाया जाएगा।

- अब तक माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए जा रहे थे, मगर अब फिर से कोविड प्रभावित इलाकों को बांस-बल्‍ले से घेरकर कंटेनमेंट जोन बनाकर सख्‍ती लागू की जाएगी।

- अस्‍पतालों में मरीजों की संख्‍या बढ़ने के अनुमान पर अनुमंडल पर इलाज, दवाई , ऑक्‍सीजन आदि की व्‍यवस्‍था की जा रही है।

-अनुमंडल स्‍तर के डॉक्‍टरों को एम्‍स, पटना और आइजीआइएमएस के डॉक्‍टर वर्चुअल ट्रेनिंग देंगे।

इन पर नहीं होगा कोई प्रतिबंध

- अंतर जिला और अंतरराज्‍यीय परिवहन पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा।

- सभी इमरजेंसी सर्विसेज पुलिस, फायर, एम्‍बुलेंस एवं अन्‍य स्वास्थ्य सेवाएं आदि निर्बाध जारी रहेगी।

- बैंकिंग व डाक सेवाएं

-ई कॉमर्स

-निर्माण कार्य व औद्योगिक गतिविधि

सीएम ने दिए थे संकेत

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि रविवार को सरकार निर्णय लेगी कि कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ रहे मामले पर आगे किस रणनीति पर काम होगा। सभी जिलों के डीएम-एसपी के साथ बैठक के बाद  कुछ महत्वपूर्ण फैसले संभव हैं। यह स्पष्ट किया कि कल जो निर्णय होंगे वह आखिरी निर्णय नहीं होगा। आगे जैसी परिस्थिति बनेगी उसके आधार पर निर्णय लिए जाएंगे। यह भी कहा कि संक्रमण के मामले आज भी तेजी से बढ़े हैं। राज्यपाल की अध्यक्षता में शनिवार को कोरोना संकट पर हुई सर्वदलीय बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने यह बात कही थी।

बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले प्रतिदिन तेज गति से बढ़ रहे हैं। इसे नियंत्रित किए जाने को ले सरकार के स्तर पर जो काम हो रहे हैं उसकी जानकारी मुख्यमंत्री ने विस्तार से दी। उन्होंने कहा कि पटना मेदांता को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल के रूप में परिणत किए जाने को ले मेदांता अस्पताल के अध्यक्ष नरेश त्रेहान से बात हुई है।

बनेगी आगे की रणनीति

मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में विभिन्न राजनीतिक दलों ने सुझाव दिए हैं उस पर आपदा प्रबंधन समूह विचार करेगा। उसके आधार पर आगे की रणनीति तैयार की जाएगी। कल सुबह वह जिलों की वस्तु स्थिति के बारे में जानकारी लेंगे। आज की बैठक में आए सुझाव व कल होने वाली बैठक में मिली जानकारी के आधार पर आगे का निर्णय लिया जाएगा ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑक्सीजन की उपलब्धता को ले हमलोग सजग हैं। ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण हो इसके लिए प्रयासरत हैं। कोरोना संक्रमण को ले लोगों को जागरूक करते रहना होगा। किसी भी आयोजन में कम से कम लोग शामिल हों। लोग मास्क प्रयोग जरूर करें। आपस में दूरी बनाकर रहें। हमारा सभी से आग्रह है कि मिलजुल कर काम करें ताकि कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम से कम हो सकेे।

पटना में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!