बिहार में जल्द लगेंगे 35 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर, 25 कंपनियों ने काम करने का बनाया मन

बिहार सरकार ने हाल ही में यह निर्णय लिया था कि पूरे राज्य में स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाए जाएंगे। इसके तहत 1.5 करोड़ मीटर बिहार में लगने हैं। 25 कंपनियों ने यहां स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाने में दिलचस्पी दिखायी और प्री बिड मीटिंग में शामिल हुए।

Rahul KumarPublish: Tue, 07 Dec 2021 03:39 PM (IST)Updated: Tue, 07 Dec 2021 03:39 PM (IST)
बिहार में जल्द लगेंगे 35 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर, 25 कंपनियों ने काम करने का बनाया मन

पटना, राज्य ब्यूरो। स्मार्ट प्री पेड मीटर के क्षेत्र में पायोनियर राज्य के रूप में स्थापित बिहार में इस क्षेत्र की कंपनियों ने बड़े स्तर पर दिलचस्पी दिखायी है। हाल ही में बिजली कंपनी ने 35 लाख स्मार्ट प्री पेड मीटर के लिए निविदा की थी। इस बाबत बिजली कंपनी के सीएमडी संजीव हंस ने बताया कि देश भर की 25 कंपनियों ने यहां स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाने में दिलचस्पी दिखायी और प्री बिड मीटिंग में शामिल हुए। देश के कई अन्य राज्यों में भी यह काम शुरू हुआ है। वहां तीन-चार कंपनियां ही आगे आयी हैं।

बिहार में 1.5 करोड़ स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाए जाने हैं

राज्य सरकार ने हाल ही में यह निर्णय लिया था कि पूरे प्रदेश में स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाए जाएंगे। इसके तहत 1.5 करोड़ मीटर बिहार में लगने हैं। यह 23.50 लाख स्मार्ट प्री पेड मीटर के लक्ष्य से अलग है जो कई जिलों के शहरी क्षेत्र में लगाए जा रहे हैं। इस लक्ष्य के तहत 3.50 लाख स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाए जा चुके हैं। कैबिनेट के फैसले के बाद बिजली कंपनी उत्तर बिहार के लिए 25 तथा दक्षिण बिहार के लिए 10 लाख स्मार्ट प्रीपेड मीटर के लिए निविदा की थी। पिछले हफ्ते इसके लिए प्री बिड मीटिंग हुई थी।

अमेरिका और चीन से आने वाला सेमी कंडक्टर है आपूर्ति में बाधक

स्मार्ट प्री पेड मीटर का सबसे महत्वपूर्ण उपकरण सेमी कंडक्टर है। देश में यह अमेरिका और चीन से आयात किया जाता है। इसकी आपूर्ति अभी कम है। इसलिए स्मार्ट प्री पेड कम संख्या में आ रहे। ऊर्जा मंत्रालय की जानकारी में भी यह बात है। वैसे बिजली कंपनी की सोच यह है कि स्मार्ट प्रीपेड मीटर की निविदा को निष्पादित करते-करते दो माह हो जाएंगे। अगले वर्ष फरवरी महीने तक ही यह निष्पादित हो पाएगा। ऐसी उम्मीद है कि तब तक सेमी कंडक्टर के आयात की स्थिति सामान्य हो जाएगी।

इसलिए जितनी संख्या में बिहार को अभी स्मार्ट प्री पेड मीटर की जरूरत है उसकी आपूर्ति में परेशानी नहीं होगी। वैसे देश भर में 25 करोड़ स्मार्ट प्री पेड मीटर लगाए जाने हैं। प्री बिड मीटिंग में शामिल कंपनियों का यह कहना था कि स्मार्ट प्री पेड मीटर के मामले सरकार अपना निवेश बढ़ाए। वर्तमान में निविदा के शर्तों के अनुसार यह 22.5 प्रतिशत है। 

Edited By Rahul Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept