जदयू साथ रहे या जाए, भाजपा का दावा- यूपी में फिर बनेगी योगी सरकार

UP Assembly Election 2022भारतीय जनता पार्टी पिछड़ा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मुजफ्फरपुर सांसद अजय निषाद ने कहा कि जदयू इससे पहले भी हमलोगों से अलग होकर चुनाव लड़ा है। वैसे उसे अरुणाचल प्रदेश माडल पर भी विचार करना चाहिए।

Ajit KumarPublish: Wed, 19 Jan 2022 08:33 AM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 11:16 AM (IST)
जदयू साथ रहे या जाए, भाजपा का दावा- यूपी में फिर बनेगी योगी सरकार

मुजफ्फरपुर, [अमरेन्द्र तिवारी]। वीआइपी (VIP)और हम (HAM)के बाद एनडीए (NDA)के प्रमुख सहयोगी जदयू (JDU)ने भी भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party)से अलग होकर अकेले ही यूपी विधानसभा चुनाव 2022 (UP assembly elections 2022)लड़ने का फैसला किया है। इसको लेकर बिहार में राजनीति (Bihar Politics)तेज हो गई है। लोजपा नेता चिराग पासवान (LJP leader Chirag Paswan) ने इस मुद्​दे पर व्यंग्य किया है वहीं दूसरी ओर भाजपा (BJP)ने भी अपने तेवर सख्त कर लिए हैं। भाजपा पिछड़ा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मुजफ्फरपुर के सांसद अजय निषाद (Muzaffarpur MP Ajay Nishad)ने कहा कि बिहार में भाजपा व जदयू (JDU)का गठबंधन है। यहां से बाहर यदि जदयू अकेले चुनाव लड़ रहा है यह कोई नई बात नहीं है। इससे पहले भी वे ऐसा कर चुके हैं। 

दिलाई अरुणाचल प्रदेश की याद

मुजफ्फरपुर सांसद अजय निषाद ने तंजिया अंदाज में कहा, वैसे उत्तर प्रदेश चुनाव लड़ने से पहले जदयू को अरुणाचल प्रदेश माडल पर मंथन जरूर करना चाहिए। समाजवादियों को मंथन पर ज्यादा विश्वास होता है। भारतीय जनता पार्टी मंथन नहीं, चिंतन करती है। अपने कार्यकर्ताओं के साथ सालों भर संवाद स्थापित करती है। हमलोग पूरे वर्ष चुनावी मोड में रहते हैं। जदयू चुनाव के समय सक्रिय होता है। उसका परिणाम बिहार के बाहर हर जगह दिखाई देता है। यदि अभी कोई प्रत्याशी की तलाश शुरू करेगा तो उसके चुनाव परिणाम का आकलन सहज ही किया जा सकता है।

यूपी में फिर से योगी सरकार

अजय निषाद ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भी भारतीय जनता पार्टी अपने सहयागी दलों का सम्मान कर रही है। उसके साथ समझौता हो गया है और उसके अनुसार ही आगे बढ़ रही है। वहां की जनता योगी काे चाह रही है। उनके किए गए कार्य की लोग प्रशंसा कर रहे हैं। कानून व्यवस्था में अपेक्षित सुधार दिख रहा है। इसलिए फिर से योगी आदित्यानाथ ही चुनकर आ रहे हैं।

जदयू के कुछ नेताओं को चर्चा में रहने का शौक

भाजपा सांसद ने कहा कि बिहार में सीएम नीतीश कुमार गठबंधन के नेता हैं और उनके नेतृत्व में सभी काम कर रहे हैं। जदयू के अंदर कुछ नेता ऐसे हैं जो टीआरपी बढ़ाने के लिए कुछ से कुछ बोलते रहते हैं। इस पर भाजपा को ध्यान देने की जरूरत नहीं है। वैसे बिहार से बाहर उनका क्या वजूद है यह कहने की जरूरत नहीं है। अजय निषाद ने कहा कि जदयू कहां से लड़ेगा? कौन प्रत्याशी होगा? क्या रणनीति होगी? यह उनका अपना मामला है। भारतीय जनता पार्टी बड़ी पार्टी है और उसका पूरे देश में इसका जनाधार है। इसलिए हमलोगों को चिंता करने की जरूरत नहीं है।  

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept