जनकपुर के लोगों की आंखों में बसा अयोध्या सुकुमारों का मनोहारी रूप

जनकपुर में विवाहोत्सव के चौथे दिन धनुष यज्ञ किया गया। जैसे ही प्रभु श्रीराम ने भगवान शिव का धनुष उठाया लोग हर्षित हो उठे। धनुष भंग होते ही जयकारे से मंदिर परिसर गूंज उठा। इसके बाद माता जानकी ने बीच दरबार प्रभु श्रीराम को वरमाला पहनाई।

Ajit KumarPublish: Mon, 06 Dec 2021 08:56 AM (IST)Updated: Mon, 06 Dec 2021 08:56 AM (IST)
जनकपुर के लोगों की आंखों में बसा अयोध्या सुकुमारों का मनोहारी रूप

हरलाखी (मधुबनी), संस। माता जानकी व प्रभु श्रीराम के विवाह के जश्न में नेपाल का जनकपुरधाम डूबा है। मिथिला में भी उल्लास है। घर-घर मंगल उत्सव है। जनकपुर में विवाहोत्सव के चौथे दिन धनुष यज्ञ किया गया। मनोहारी वेश-भूषा में आए अयोध्या सुकुमारों को देखकर जनकपुर की जनता धन्य हो रही थी। हर किसी की नजर प्रभु श्रीराम, भाई लक्ष्मण और माता जानकी को निहार रही थी। जैसे ही प्रभु श्रीराम ने भगवान शिव का धनुष उठाया, लोग हर्षित हो उठे। धनुष भंग होते ही जयकारे से मंदिर परिसर गूंज उठा। लोग भावविभोर हो पुष्पवर्षा करते रहे। इसके बाद माता जानकी ने बीच दरबार प्रभु श्रीराम को वरमाला पहनाई। 

अब विवाह की तैयारी शुरू

राजा जनक की प्रतिज्ञा को पूर्ण कर प्रभु श्रीराम ने माता जानकी का वरण किया। इसके साथ ही दोनों के विवाह की रस्मों की तैयारी शुरू हो गई। सोमवार को प्रभु श्रीराम का तिलक उत्सव मनाया जाएगा। अगले दिन मंगलवार को मटकोर होगा और आठ दिसंबर, बुधवार को विवाह वेदी पर प्रभु श्रीराम व माता जानकी परिणय सूत्र में बंध जाएंगे। गुरुवार को रामकलेवा यानी विदाई के साथ ही विवाहोत्सव संपन्न होगा।

धनुष यज्ञ देखने बड़ी संख्या में पहुंचे थे लोग

स्वयंवर देखने के लिए नेपाल के साथ ही भारत के कई हिस्सों से लोग पहुंचे थे। जानकी मंदिर के उत्तराधिकारी महंत रामरोशन दास ने बताया कि इस विवाहोत्सव में शामिल होना सौभाग्य है। इस उत्सव में सभी वर्गों के लोग शामिल होते हैं। सभी की सहभागिता होती है। बाहर से आए लोग विवाहोत्सव तक यहीं रहेंगे और विदाई के बाद ही लौटेंगे।

मारवाड़ी युवा मंच के शिविर में 43 लोगों ने किया रक्तदान

जागरण संवाददाता, मुजफ्फरपुर : स्थानीय नवयुवक समिति ट्रस्ट भवन में रविवार को मारवाड़ी युवा मंच एवं अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन के संयुक्त तत्वावधान में महा रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। कुल 43 लोगों ने रक्तदान किया। सभी रक्त को संग्रह कर एसकेएमसीएच. रक्तकोष में जमा किया गया। शिविर में महिलाओं ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। सभी रक्तदाताओं को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया। शिविर में एसकेएमसीएच के डा. विजय रतन प्रकाश, डा. स्वर्णलता सिन्हा, उत्तम चौपाल, अशोक कुमार, पूजा कुमारी, शाखा अध्यक्ष राहुल नथानी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सुमित चमरिया, प्रांतीय सह सचिव आकाश कंदोई, सचिव वरुण अग्रवाल, रक्तदान संयोजक सूरज कंदोई, आलोक मखरिया, प्रकाश तुलस्यान, आर्यन ङ्क्षसघानिया,यश अग्रवाल, सौरभ खेतान, राजीव नथानी, अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मेलन की अध्यक्षा उर्मिला बंका, सचिव अर्चना बंका, ललिता ङ्क्षसघानिया, पूनम सराफ, नीतू केजरीवाल का भरपूर सहयोग मिला।

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept