मुजफ्फरपुर में विशेष टीम ने शराब धंधेबाजों के खिलाफ चलाया अभियान, छह पकड़ाए

पुलिस को सूचना मिली कि साहेबगंज व उसके आसपास के इलाके में दूसरे प्रदेश के शराब धंधेबाजों से संपर्क कर शराब की बड़ी खेप उतारने की तैयारी चल रही है। इसी सूचना के बाद एएलटीएफ व जिला पुलिस की टीम ने विशेष अभियान चलाकर इन संदिग्धों को हिरासत में लिया।

Ajit KumarPublish: Sat, 22 Jan 2022 10:26 AM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 10:26 AM (IST)
मुजफ्फरपुर में विशेष टीम ने शराब धंधेबाजों के खिलाफ चलाया अभियान, छह पकड़ाए

मुजफ्फरपुर, जासं। शराब धंधेबाजों पर नकेल कसने के लिए विशेष पुलिस टीम ने जिले के विभिन्न इलाकों में छापेमारी कर छह संदिग्धों को उठाया है। इन सभी से पूछताछ कर सत्यापन की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस इन सभी से पूछताछ कर शराब के नेटवर्क के बारे में जानकरी ले रही है। पुलिस का कहना है कि पकड़े गए आरोपितों के संपर्क पंजाब, झारखंड व हरियाणा के शराब धंधेबाजों से है। पूर्व में भी जिले के पश्चिमी व पूर्वी इलाके में सक्रिय चार धंधेबाजों को पकड़ा गया था। इन सभी के पूछताछ में जिले में सक्रिय अंतरजिला शराब सिंडिकेट से जुड़े कई के नाम सामने आए थे। बताया जा रहा कि पुलिस को सूचना मिली थी कि साहेबगंज व उसके आसपास के इलाके में दूसरे प्रदेश के शराब धंधेबाजों से संपर्क कर शराब की बड़ी खेप उतारने की तैयारी चल रही है। इसी सूचना के बाद एएलटीएफ व जिला पुलिस की टीम ने विशेष अभियान चलाकर इन संदिग्धों को हिरासत में लिया। इन सभी के मोबाइल का काल डिटेल्स को भी खंगाला जा रहा है।  

शराब बरामदगी मामले में दवा दुकान सील करने पहुंची टीम पर हमला

मुजफ्फरपुर : मोतीपुर थाना के बरूराज रोड स्थित सुंदरसराय के समीप शराब मामले में दवा दुकान सील करने पहुंची उत्पाद विभाग की टीम एवं पुलिस पर धंधेबाजों एवं उनके समर्थकों ने हमला कर दिया। कई पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई की। हमले में एक दारोगा आंशिक रूप से घायल हो गए। बाद में पुलिस द्वारा सख्ती बरतने पर हमलावर फरार हो गए। जानकारी हो कि तीन दिन पूर्व उत्पाद विभाग की टीम ने बरूराज रोड में सुंदरसराय के समीप सील दवा दुकान से 100 ट्रेंटा पैक शराब बरामद की थी। इस दौरान धंधेबाज संजय राय को गिरफ्तार कर लिया था। शुक्रवार को उत्पाद निरीक्षक डेज़ी कुमारी स्थानीय पुलिस के साथ फिर उस दवा दुकान को सील करने पहुंचे। इसी क्रम में कुछ धंधेबाज व उनके सहयोगी वहां आ धमके। पहले टीम के साथ बकझक की। फिर लाठी-डंडे से हमला बोल दिया। कई पुलिस कर्मियों के साथ हाथापाई की। आधा दर्जन से अधिक पुलिसकर्मियों ने इधर-उधर छुपकर अपनी जान बचाई। हमले में थाने के दारोगा उमाकांत सिंह आंशिक रूप से चोटिल हो गए। उनकी चिकित्सा पीएचसी में कराई गई। बाद में थाने से अतिरिक्त पुलिस बलों के वहां पहुंचने के बाद हमलावर भाग खङे हुए। थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने बताया कि पुलिस पर हमला नहीं, बल्कि झड़प हुई है। वैसै लोगों की पहचान कर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept