This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

बीएड कोर्स के पहले चरण की काउंसिलिंग के लिए सात से रजिस्ट्रेशन, यहां जानिए आगे की पूरी प्रक्रिया के बारे में

निर्धारित सीटों को भरने के लिए अधिकतम तीन बार काउंसिलिंग की तिथि होगी जारी। इसके बाद होगी स्पॉट काउंसिलिंग। मेरिट कम रिजर्वेशन के आधार पर अलॉट होंगे कॉलेज। विद्यार्थियों को नोडल विवि के रूप में चयनित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर इसके लिए जाना होगा।

Ajit KumarSun, 04 Oct 2020 07:11 AM (IST)
बीएड कोर्स के पहले चरण की काउंसिलिंग के लिए सात से रजिस्ट्रेशन, यहां जानिए आगे की पूरी प्रक्रिया के बारे में

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। बीएड कोर्स में नामांकन के लिए पहले चरण की कांउंसिलिंग सात अक्टूबर से होनी है। इसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होगा। विद्यार्थियों को नोडल विवि के रूप में चयनित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर इसके लिए जाना होगा। निर्धारित सीटों को भरने के लिए अधिकतम तीन बार ऑनलाइन काउंसिलिंग की तिथि जारी की जाएगी। इसके बाद भी यदि सीटें खाली रह जाती हैं तो स्पॉट काउंसिलिंग के आधार पर सीटों को भरा जाएगा। स्पॉट काउंसिलिंग ऑफलाइन मोड में ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा में आयोजित होगी। बीएड के राज्य नोडल पदाधिकारी प्रो.अजीत कुमार सिंह ने बताया कि रजिस्ट्रेशन के लिए तैयारियां अंतिम चरण में हैं। बीच में विधानसभा चुनाव आ जाने के कारण काउंसिलिंग के शेड्यूल को फिर से निर्धारित किया जा रहा है। प्रयास है कि 18 दिसंबर तक नामांकन की सारी प्रक्रिया पूरी हो जाए। इसके बाद 21 दिसंबर से कक्षाओं का संचालन शुरू होगा।

प्रमाणपत्रों के सत्यापन के लिए बनेंगे चार काउंटर

विद्यार्थी काउंसिलिंग के पूर्व रजिस्ट्रेशन में अपनी मर्जी से जितने चाहे कॉलेजों का विकल्प दे सकते हैं। रजिस्ट्रेशन में दिए गए विकल्पों पर विचार करने के बाद नोडल विवि की ओर से मेरिट कम रिजर्वेशन के आधार पर मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी। उसमें विद्यार्थियों को कॉलेज आवंटित किया जाएगा। वह कॉलेज जिस विवि के क्षेत्र में होगा उस विवि के मुख्यालय में चार काउंटर बनाए जाएंगे। जहां नामांकन लेने वाले विद्यार्थियों के प्रमाणपत्रों की नोडल पदाधिकारी द्वारा जांच की जाएगी। इसके बाद विद्यार्थी संबंधित कॉलेज में नामांकन ले सकेंगे। कॉलेज अपने विवि को नामांकन के संबंध में रिपोर्ट देंगे और खाली रह गई सीटों की जानकारी नोडल विवि को दी जाएगी। यहां से फिर दूसरी और तीसरी बार काउंसिलिंग के लिए मेरिट लिस्ट जारी की जाएगी।

नामांकन के लिए सात दिनों का मिलेगा समय

प्रमाणपत्रों के भौतिक सत्यापन के बाद संबंधित विद्यार्थियों को सात दिनों का समय दिया जाएगा। इस अवधि में यदि वे नामांकन नहीं ले सके तो इसके बाद उस सीट को रिक्त मानकर अगली काउंसिलिंग की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। बता दें कि बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के 58 बीएड कॉलेजों के करीब 6500 सीटों पर नामांकन होना है। इसके लिए 11 हजार परीक्षार्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी थी। इनमें 90 फीसद से अधिक परीक्षार्थी सफल भी हुए हैं।  

चार वर्षीय बीएड काेर्स में नामांकन के लिए प्रवेश परीक्षा आज 

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के तीन बीएड कॉलेजों में चार वर्षीय कोर्स में नामांकन के लिए रविवार को चार केंद्रों पर प्रवेश परीक्षा का आयोजन होगा। एलएस कॉलेज, आरडीएस कॉलेज, आरबीबीएम कॉलेज और नीतेश्वर कॉलेज केंद्रों के लिए कुल 2053 छात्र-छात्राएं अलॉटेड हैं। परीक्षा को लेकर शनिवार को जिला प्रशासन के साथ विवि के डीएसडब्ल्यू सह नोडल पदाधिकारी प्रो.अभय कुमार सिंह व मिथिला विवि के डॉ. केके साहू ने बैठक की। बताया कि परीक्षा को लेकर जिला प्रशासन और अधिकारियों ने संयुक्त दिशा-निर्देश दिए गए हैं। प्रशासन की ओर से चारों परीक्षा केंद्रों पर एक-एक स्टैटिक मजिस्ट्रेट की तैनाती होगी। जबकि विवि की ओर से भी एक-एक ऑर्ब्जवर प्रतिनियुक्त किए गए हैं। इसके अलावा दो फ्लाइंग स्कॉयड भी गठित हुई है। दोनों में कुल चार शिक्षक होंगे। इसके अलावा राजभवन के एक अधिकारी पूरे परीक्षा पर नजर रखेंगे। परीक्षा सुबह 11 से दोपहर 1 बजे तक चलेगी। लेकिन, इसके लिए डेढ़ घंटे पहले से ही प्रवेश की अनुमति होगी। कोरोना संबंधी सभी दिशा निर्देशों का पालन कराते हुए परीक्षार्थियों को प्रवेश करने दिया जाएगा।

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!