This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Madhubani News: प्रतिशोध में अपराधियों ने धबौली के युवक को मारी थी गोली, पुलिस ने हत्याकांड का किया पर्दाफाश

Madhubani News लौकही थाना के नरहिया ओपी क्षेत्र में बनगामा आरा मील के समीप बुधवार की देर शाम अज्ञात अपराधी ने युवक को मार दी थी गोली। जेल से बाहर निकल अपराधियों ने प्रतिशोध में दिया घटना को अंजाम। जानिए पूरा मामला

Murari KumarSat, 28 Nov 2020 05:35 PM (IST)
Madhubani News: प्रतिशोध में अपराधियों ने धबौली के युवक को मारी थी गोली, पुलिस ने हत्याकांड का किया पर्दाफाश

मधुबनी, जेएनएन। लौकही प्रखंड के नरहिया ओपी थाना क्षेत्र में हुई बीते बुधवार 25 नवंबर को हुए गोलीकांड का पुलिस ने पर्दाफाश कर लिया है। घटना में शामिल पांच अपराधियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने शनिवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। जानकारी देते हुए नरहिया ओपी अध्यक्ष सुनील कुमार झा ने बताया कि बनगामा गांव के शैलेंद्र यादव, मनीष यादव, नितेश कुमार यादव, सरवन कुमार यादव एवं औरहा गांव के ङ्क्षसटू कुमार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। जबकि, बनगामा गांव निवासी शंकर कुमार यादव अभी भी फरार है। पुलिस उसके तलाश मे जुटी हुई है।

 ओपी अध्यक्ष ने बताया कि गत वर्ष छठ के अवसर पर धबौली गांव में इन लोगों ने एक कार्यक्रम मे गोली फायङ्क्षरग कर अपनी दबंगई दिखाई थी। इस घटना के बाद ग्रामीणों ने इनके विरुद्ध अंधरामठ थाना मे कांड दर्ज कराया था एवं ये लोग गिरफ्तार कर जेल भेजे गए थे। जेल से बाहर आने के बाद उसी घटना के प्रतिरोध में अपराधियों ने इस घटना को अंजाम दिया है। बता दें कि नरहिया ओपी क्षेत्र में बनगामा आरा मील के समीप बुधवार की देर शाम अपराधियों ने एक युवक को गोली मार दी थी। युवक की मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी। मृतक युवक की पहचान अंधरामठ थाना क्षेत्र के धबौली गांव के 30 वर्षीय दिनेश मंडल के रूप में की गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी थी।

 मृतक युवक गांव-गांव घुमकर कपड़ों की फेरी लगाता था। बुधवार की देर शाम वह बनगामा हटिया से कपड़ा बेच कर वापस घर लौट रहा था। इसी क्रम में बनगामा-धबौली मार्ग पर आरा मील के समीप अपराधियों ने उसे गोली मार दी जिससे उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई थी। दिनभर के बिक्री के रुपये मृतक के पास मौजूद थे। इससे अंदाजा लगाया जा रहा था कि छिनतई की नियत से इस वारदात को अंजाम नहीं दिया गया था। बहरहाल, पुलिस ने अब इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझा ली है। 

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!