मुजफ्फरपुर में खतरनाक स्तर पर वायु प्रदूषण, जानें वर्तमान स्थिति

Muzaffarpur Pollution Update फिर से रेड जोन में पहुंच गया जिला गया व पटना से भी अधिक प्रदूषण। मौसम की मार संग प्रदूषण का बढ़ रहा ग्राफ रोकने की बनी रणनीति। 399 एक्यआइ पर जाकर थमा मुजफ्फरपुर के प्रदूषण का स्तर पटना का एक्यूआइ 343 और गया का 126।

Ajit KumarPublish: Mon, 24 Jan 2022 09:39 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 09:39 AM (IST)
मुजफ्फरपुर में खतरनाक स्तर पर वायु प्रदूषण, जानें वर्तमान स्थिति

मुजफ्फरपुर, जासं। Muzaffarpur Pollution Update: जिले के प्रदूषण का ग्राफ रेड जोन में पहुुंच गया। रविवार को यहां के प्रदूषण का स्तर पटना व गया से ज्यादा रहा। जानकारी के अनुसार पटना का एक्यूआइ 343, गया का एक्यूआइ 126 और मुजफ्फरपुर का एक्यआइ 399 पर जाकर ठहरा। रविवार को शनिवार से कम प्रदूषण का ग्राफ रहा। शनिवार की बात करें तो मुजफ्फरपुर की हवा में पीएम 2.5 की मात्रा पांच सौ पर पहुंच गई। शहर की हवा में पीएम 2.5 की यह अधिकतम मात्रा रही, जबकि औसत 404 पाया गया। यह दिल्ली व पटना से भी अधिक है। एयर क्वालिटी इंडेक्स के मुताबिक, पटना में भी पीएम 2.5 की अधिकतम मात्रा पांच सौ के आंकड़े को छू गई, जबकि औसत मात्रा 403 व न्यूनतम मात्रा 322 रही। वहीं, दिल्ली के आनंद विहार की हवा में पीएम 2.5 की अधिकतम मात्रा 451, औसत मात्रा 348 व न्यूनतम मात्रा 263 रही।

रोकने की ये बनी रणनीति

लगातार प्रदूषण के ग्राफ को रोकने के लिए निगम की ओर से रणनीति बनी है। हवा में पार्टिकिल मैटिरियल की मात्रा को कम करने के लिए निगम ने कई आदेश जारी किए। इसके मुताबिक शहर में निर्माण कार्य ढंककर करना है, ताकि धूल हवा में न उड़े। निर्माण सामग्री सहित मिट्टी ढुलाई तिरपाल से ढंककर करना है। निगम ने हाल ही में सड़कों पर स्प्रींकलर मशीन से पानी का छिड़काव शुरू किया है। प्रदूषण नियंत्रण के लिए बनी योजना क्लीन एयर के तहत भी काम नहीं हो पाया है। इसके तहत शहर में पेट्रोल चालित आटो पर अंकुश लगाने व ग्रिनरी एरिया में बढ़ोतरी का प्रस्ताव है। 

जनप्रतिनिधियों के मानदेय में कराएंगे वृद्धि

मनियारी (मुजफ्फरपुर): कुढऩी प्रखंड के केरमा खेल मैदान में पंचायत प्रतिनिधियों का सम्मान समारोह आयोजित किया गया। निवर्तमान विधान पार्षद दिनेश प्रसाद सिंह ने कहा कि जनप्रनिधियों के अधिकार एवं मानदेय को लेकर वे विधान परिषद में हमेशा आवाज उठाते रहे हैं। पुन: अवसर मिला तो मानदेय में बढ़ोतरी का मामला सदन में उठाएंगे। मौके पर सांसद वीणा देवी, जिला परिषद अध्यक्ष रीना पासवान, पूर्व मंत्री मनोज कुशवाहा, पूर्व उपाध्यक्ष शब्बू आलम, प्रखंड प्रमुख सुष्मिता कुमारी, सांसद प्रतिनिधि प्रो. हरिशंकर भारती, जिला पार्षद तेज नरायण सहनी, जदयू प्रखंड अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार अबोध, शशिरंजन सिंह, पप्पू सिंह, मुकेश पासवान, सुनील सिंह, मुखिया सुमंगल सहनी, अजय कुमार निराला, लालबाबू सिंह, संजय पासवान, व्यापार मंडल अध्यक्ष महेश राय, श्रीकांत यादव, संतोष सहनी, अजय सहनी आदि थे। अध्यक्षता मुखिया संघ प्रखंड अध्यक्ष अशोक राय व संचालन जिला मुखिया संघ के अध्यक्ष इंद्रभूषण सिंह अशोक ने किया।

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept