This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Muzaffarpur Nagar Nigam : हंगामे के बाद बिना चर्चा नगर निगम का वार्षिक बजट पारित

Muzaffarpur Nagar Nigam पहली बार बिना सशक्त स्थायी समिति से पारित कराए सीधे बोर्ड की बैठक में पेश किया गया बजट। वार्ड पार्षद राजीव कुमार पंकू ने किया विरोध बेल में आकर सो गए पार्षद संतोष महाराज ने दिया साथ।

Ajit KumarSat, 27 Mar 2021 09:16 AM (IST)
Muzaffarpur Nagar Nigam : हंगामे के बाद बिना चर्चा नगर निगम का वार्षिक बजट पारित

मुजफ्फरपुर, जासं। हो-हंगामे के बाद शुक्रवार को बोर्ड की बैठक में बिना चर्चा नगर निगम के वित्तीय वर्ष 2021-22 का बजट पारित हो गया। निगम में पहली बार ऐसा हुआ है कि बिना सशक्त स्थायी समिति से पारित बजट को बोर्ड की बैठक में रखा गया। महापौर सुरेश कुमार ने बैठक की शुरुआत करते हुए जैसे ही बजट को रखा वार्ड 25 के पार्षद संतोष महाराज ने इससे पूर्व विशेष बैठक में 17 पार्षदों की ओर से रखे गए एजेंडे को शामिल नहीं करने की बात उठा दी। वार्ड 28 के पार्षद राजीव कुमार पंकू ने सशक्त स्थायी समिति से बजट को नहीं पास कराए जाने को मुद्दा बना दिया। 

महापौर सुरेश कुमार ने मौन धारण कर लिया। वार्ड पार्षद राजीव कुमार बेल में आकर लेट गए, संतोष महाराज ने भी उनका साथ दिया। उपमहापौर मानमर्दन शुक्ला ने कहा कि यदि महापौर पार्षदों द्वारा रखे गए एजेंडे को बैठक में शामिल करेंगे तभी बैठक आगे बढ़ेगी। लेकिन महापौर ने चुप रहे। इससे नाराज होकर उपमहापौर एवं उनके समर्थक पार्षद बजट को पारित करने की घोषणा करते हुए बैठक का बहिष्कार कर चले गए। उनके जाने के बाद महापौर ने चुप्पी तोड़ी। 22 पार्षदों एवं नगर विधायक की उपस्थिति में बजट के साथ नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय द्वारा रखे गए विकास से संबंधित एक दर्जन प्रस्तावों को पास कर दिया। वार्ड 20 के पार्षद संजय केजरीवाल, 23 के पार्षद राकेश कुमार सिन्हा पप्पू, वार्ड चार के पार्षद हरिओम कुमार ने अपनी बातें रखी। नगर विधायक विजेंद्र चौधरी ने कहा कि पार्षदों को मिलकर शहर के विकास का कार्य करना चाहिए। राशि की कमी नहीं होने दी जाएगी। निगम अपना काम करे और वे निगम के लिए धन जुटाने का काम करेंगे।

69.35 करोड़ के लाभ का है निगम का बजट

मुजफ्फरपुर : निगम बोर्ड द्वारा लगातार पांचवीं बार 69.35 करोड़ के लाभ का बजट पारित किया गया है। बजट में अनुमानित आय 711.81 एवं व्यय 642.46 करोड़ रुपये दिखाया गया है। अगले साल होने वाले निगम चुनाव का देखते हुए संपत्ति कर के दर में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं की गई है। बजट में संपत्ति कर मद में अनुमानित आय 17.60 करोड़, लाइसेंस शुल्क मद में 1.10 करोड़ दिखाया गया है। निगम ने बजट में विद्युत उपभोग पर 2.5 प्रतिशत अधिभार लगाया है। निगम वित्तीय वर्ष में सफाई उपकरणों की खरीद पर 6.60 करोड़, सामुदायिक शौचालय एवं मूत्रालय के निर्माण पर 5.50 करोड़, शहरी गरीबों के लिए मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने के लिए 185 करोड़, जल जीवन हरियाली योजना के तहत कुओं के जीर्णोद्धार एवं वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के निर्माण पर पांच करोड़ आकस्मिक दुर्घटना मद में दो करोड़, घर-घर नल जल योजना पर 66 करोड़, नली गली योजना पर 186 करोड़, ठोस कचरा प्रोसेसिंग प्लांट के निर्माण पर 10 करोड़, वेंडिंग जोन के निर्माण पर तीन करोड़, भूमिहीन गरीबों के लिए बहुमंजिला आवासीय भवन निर्माण पर 20 करोड़, जलजमाव से मुक्ति पर 10 करोड़ रुपये खर्च का प्रावधान किया गया है।

आंकड़ों में निगम का बजट : राजस्व प्राप्ति

अनुमानित आय

मद राशि करोड़ में

कर राजस्व 18.61

स्टांप ड््यूटी व अनय 10.50

निगम संपत्ति से किराया 1.46

फीस एवं उपभोक्ता शुल्क 3.62

बिक्री एवं भाड़ा शुल्क 3.20

राजस्व अनुदान, अंशदान 78.21

ब्याज व अन्य मद 1.00

अनुमानित व्यय

मद राशि करोड़ में

स्थापना व्यय 79.54

प्रशासनिक व्यय 4.25

संचालन व अनुरक्षण व्यय 42.98

कार्यक्रम व्यय 87.18

------------------------

पूंजीगत प्राप्ति - अनुमानित आय

मद राशि करोड़ में

अनुदान, अंशदान 455.10

जमा राशि प्राप्त 2.00

अन्य प्राप्तियां 13.88

अनुमानित व्यय

स्थायी संपत्ति 419.53

ऋण, अग्रिम और जमा 5.88

अन्य भुगतान 3.05

-------------------------

दैनिक सफाईकर्मियों का बढ़ा पारिश्रमिक, हर वार्ड को 50-50 लाख

मुजफ्फरपुर : नगर निगम बोर्ड की बैठक में नगर आयुक्त द्वारा लाए गए आधा दर्जन प्रस्तावों को मंजूरी दी गई। जो इस प्रकार है-

- चंदवारा पानी कल स्थित निगम की जमीन पर बनेगा निगम कार्यालय एवं सम्राट अशोक भवन

- नगर निगम में कार्यरत दैनिक सफाईकर्मियों के पारिश्रमिक में की गई वृद्धि

- कच्ची नाली गली योजना मद से शहर के सभी वार्डो में 50-50 लाख की विकास योजना पर होगा काम

- पांच करोड़ की लागत से एक सुपर शकर मशीन, दो रोड स्वीपिंग मशीन, एक वाटर स्पिंकलर बड़ा एवं एक छोटा मशीन की खरीद की जाएगी।

- रौतनिया स्थित नगर निगम की जमीन में ठोस अपशिष्ट प्रसंस्करण परिसर का विकास किया जाएगा। इस पर डेढ़ करोड़ रुपया खर्च होगा।

- बरसात पूर्व नालियों की उड़ाही पर खर्च किया जाएगा 21 लाख रुपये

- शहर में चार स्थानों पर बनेगा वेंडिंग जोन। चयनित स्थानों में एमआईटी गेट से बैरिया रोड में पुष्पांजलि विवाह भवन तक, चक्कर चौक से बटलर रोड तक, अखाड़ाघाट रोड में देना बैंक के पास एवं रामबाग में संस्कृत कॉलेज के पास एनयूएलएम योजना से होगा निर्माण

- प्लास्टिक कचरा से ईंधन बनाने की योजना को मिली स्वीकृति

- पानी कारोबारियों से वसूल किए जाने वाले लाइसेंस शुल्क को मिली हरी झंडी  

Edited By: Ajit Kumar

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!