मुजफ्फरपुर में जमीन के नाम पर धोखाधड़ी, 21 लाख लेकर दूसरे को रजिस्ट्री

Muzaffarpur Crime News मो. शमीम ने मिठनपुरा चौक स्थित तीन क_ा 10 धूर जमीन का सौदा तीन करोड़ 28 लाख 12 हजार पांच सौ रुपये में किया था। इसके बाद चेक व नकदी के माध्यम से 21 लाख रुपये देकर एग्रीमेंट बनाया गया।

Ajit KumarPublish: Fri, 28 Jan 2022 10:57 AM (IST)Updated: Fri, 28 Jan 2022 10:57 AM (IST)
मुजफ्फरपुर में जमीन के नाम पर धोखाधड़ी, 21 लाख लेकर दूसरे को रजिस्ट्री

मुजफ्फरपुर, जासं। जमीन बेचने के नाम पर जालसाजी व धोखाधड़ी कर 21 लाख रुपये लेने का मामला सामने आया है। राशि लेने के बाद दूसरे के नाम से जमीन की रजिस्ट्री कर दी गई। अब पीडि़त को धमकी भी दी जा रही है। इस मामले में माड़ीपुर के प्रभात कुमार ने ब्रह्मपुरा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पुलिस का कहना है कि मामला दर्ज कर लिया गया है। आवेदन में प्रभात ने कहा कि इमलीचटटी में टूर एंड ट्रेवल्स का कार्यालय है। उनके कार्यालय पर मो. शमीम ने मिठनपुरा चौक स्थित तीन क_ा 10 धूर जमीन का सौदा तीन करोड़ 28 लाख 12 हजार पांच सौ रुपये में किया था। इसके बाद चेक व नकदी के माध्यम से 21 लाख रुपये देकर एग्रीमेंट बनाया गया।

इस बीच सदर थाना क्षेत्र के भगवानपुर के शाहनबाज अहमद उर्फ लाडले के द्वारा बार-बार महादनामा वाली जमीन अपने नाम से कर देने को कहा जाने लगा। आवेदक द्वारा इन्कार कर दिया गया। इसी बीच मो. शमीम, पत्नी और शाहनबाज ने जाली महदनामा बना लिया गया। आवेदक ने पुलिस को बताया कि उनके 21 लाख रुपये लेकर धोखाधड़ी कर शाहनवाज हुसैन से मिलकर आरोपितों ने उक्त भूमि का केवाला दूसरे को कर दिया।  

घर पर कब्जा को लेकर फायङ्क्षरग व पथराव मामले की जांच में उलझी पुलिस

मुजफ्फरपुर : नगर थाना क्षेत्र के अखाड़ाघाट में पांचों दिन पूर्व रात में दिव्यांग प्रशांत कुमार के घर पर कब्जा करने की नीयत से पथराव कर जेसीबी से मकान तोडऩे के प्रयास मामले में अब पुलिस जांच में उलझी है। दिव्यांग की ओर से नगर थाने में दिए गए आवेदन पर अब तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई है। इसको लेकर पीडि़त की तरफ से वरीय अधिकारियों से गुहार लगाई गई है। मालूम हो कि रविवार की देर रात दबंगों ने मकान को जेसीबी से तोडऩे का भी प्रयास किया था। इस दौरान कई राउंड फायङ्क्षरग की गई थी। सूचना पर सिकंदरपुर ओपी की पुलिस मौके पर पहुंची, मगर सभी आरोपित वहां से भाग निकले थे। मामले में आवेदक ने प्रवीण पंकज, दिनेश प्रसाद गुप्ता, मनोज कुमार टिबरेवाल, गणेश कुमार मारोदिया समेत अन्य के साथ करीब 50 लोगों को आरोपित करते हुए पुलिस को आवेदन दिया था। मामले में नगर थानाध्यक्ष अनिल कुमार ने बताया कि एक पक्ष का जो आवेदन मिला है, उसमें कई लोगों को नामजद किया गया है। उसके आधार पर इसकी जांच की जा रही है। हालांकि अब तक दूसरे पक्ष की तरफ से कोई आवेदन नहीं मिला है। बता दें कि पूरे प्रकरण में पुलिस संबंधित सीओ से भी संपर्क की है, ताकि आगे की कार्रवाई की जा सके।

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept