मुजफ्फरपुर कोरोना अपडेट: तीन स्वास्थ्यकर्मी और दो पुलिस जवान समेत 120 नए मरीज संक्रमित

Muzaffarpur Corona News Update जिला प्रशासन की आेर से जारी रिपोर्ट के अनुसार बुधवार को चार हजार 259 लोगों के सैंपल की जांच की गई। इसमें से 120 लोगों में संक्रमण पाया गया है। इस तरह से देखा जाए तो जिले में कुल एक्टिव केस 1534 हो गए।

Ajit KumarPublish: Thu, 20 Jan 2022 06:40 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 06:40 AM (IST)
मुजफ्फरपुर कोरोना अपडेट: तीन स्वास्थ्यकर्मी और दो पुलिस जवान समेत 120 नए मरीज संक्रमित

मुजफ्फरपुर, जासं। जिले में बुधवार को 120 कोरोना पाजिटिव मरीज मिले। इसमे स्वास्थ्य विभाग के तीन कर्मी, दो पुलिस जवान शामिल हैं। जिला प्रशासन की ओर से जारी किए गए आंकड़े के अनुसार बुधवार को 4259 लोगों के सैंपल की जांच की गई। इसमें कुल 120 लोग संक्रमित मिले। इसके साथ अब कुल एक्टिव केस की संख्या 1534 हो गई है। बुधवार को 278 लोग स्वस्थ भी हुए। पहली लहर से लेकर अब तक जिले में कुल 23 लाख 11हजार 112 लोगों के सैंपल की जांच की गई है। इसमें 34200 लोग पाजिटिव पाए गए हैं। 31944 लोग स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज हुए। सिविल सर्जन डा. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि कोविड-19 वायरस का ग्राफ बढ़ा है, मगर संक्रमितों में से अधिकतर होम आइसोलेशन में ही ठीक हो रहे हैं। 

जिले में ओमिक्रान के पांच मरीज

मुजफ्फरपुर : स्वास्थ्य विभाग ने आइजीआइएमएस की जिनोम सिक्वेंङ्क्षसग रिपोर्ट से मुजफ्फरपुर मे ओमिक्रोन के पांच मरीज की जानकारी दी है। रिपोर्ट आने पर हड़कंप मच गया है।

रिपोर्ट के लिए सिविल सर्जन कार्यालय ने मुख्यालय से संपर्क साधा है। इधर, रिपोर्ट के बाद अभी जिस तरह से सतर्कता रहनी चाहिए, वह नहीं दिख रही है। सिविल सर्जन डा. विनय शर्मा ने बताया है कि 1700 नमूने जांच के लिए भेजे गए हंै। ओमिक्रोन का पांच संक्रमित से संबंधित कोई डिटेल उन्हें प्राप्त नहीं हुई है। डिटेल लेकर संबंधित जगह पर बचाव के लिए अभियान चलाया जाएगा। वह इसके लिए राज्य मुख्यालय से संपर्क में हैं। जानकारी के अनुसार राज्य के अलग-अलग क्षेत्र से 40 रैंडम सैंपल में 40 संक्रमितों में कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रान पाया गया है। इसमें से पांच मुजफ्फरपुर के हंै। रैंडम सैंपल रिपोर्ट बताती है कि राज्य में ओमिक्रान का कम्युनिटी स्पे्रड हुआ है। तेजी से मामलों के बढऩे के पीछे कोरोना का यह नया वैरिएंट है।

टीकाकरण वाले पर नहीं दिखता गंभीर प्रभाव

विशेषज्ञों की मानें तो ओमिक्रान से संक्रमित होने वाले पूरी तरह से वैक्सीनेट लोगों में इसके गंभीर लक्षण नहीं दिखाई दे रहे हैं। ऐसे मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं पड़ रही है। ओमिक्रान के इंफेक्शन का खतरा शरीर की क्षमता पर निर्भर करता है। एक स्वस्थ फेफड़े, मजबूत मांसपेशी और पूरी तरह से स्वस्थ इंसान पर इसका प्रभाव कम दिखाई देगा। दूसरा, कमजोर इम्यूनिटी, डायबिटीज, हार्ट डिसीज, कैंसर या आर्थराइटिस जैसी बीमारियों के शिकार लोगों को इससे ज्यादा खतरा है। वरीय नागरिकों की इम्यूनिटी भी धीरे-धीरे कम हो जाती है, इसलिए उन्हें भी संभलकर रहने की जरूरत है। जिन लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज नहीं लगी है, उन पर वायरस ज्यादा प्रभाव दिखा रहा है।  

Edited By Ajit Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept