स्मार्ट सिटी की योजनाओं पर देरी से काम, आगे विलंब बर्दाश्त नहीं

सूबे के पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री मुकेश सहनी ने गुरुवार को समाहरणालय सभाकक्ष में शहर में होने वाले जलजमाव एवं स्मार्ट सिटी मिशन से संबंधित योजनाओं की समीक्षा की।

JagranPublish: Fri, 17 Dec 2021 01:46 AM (IST)Updated: Fri, 17 Dec 2021 01:46 AM (IST)
स्मार्ट सिटी की योजनाओं पर देरी  से काम, आगे विलंब बर्दाश्त नहीं

मुजफ्फरपुर : सूबे के पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग के मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री मुकेश सहनी ने गुरुवार को समाहरणालय सभाकक्ष में शहर में होने वाले जलजमाव एवं स्मार्ट सिटी मिशन से संबंधित योजनाओं की समीक्षा की। बैठक में शामिल नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय ने स्मार्ट सिटी मिशन से संबंधित योजनाओं की जानकारी दी। बैठक में मंत्री ने निर्देश दिया कि स्मार्ट सिटी मिशन के तहत चल रही योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि पूर्व में ही इसमें विलंब हो चुका है। ऐसा विभागों के बीच तालमेल नहीं होने के कारण काम बाधित होता है। उन्होंने विभागीय समन्वय स्थापित करते हुए तीव्र गति से योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने को कहा, ताकि आम जनता को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत चल रही योजनाओं की समीक्षा प्रत्येक दो माह पर की जाएगी। किसी भी सूरत में विलंब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

बैठक में स्मार्ट सिटी कंपनी के पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि स्मार्ट सिटी को लेकर शहर देश के 100 शहरों में फिलहाल 82वें स्थान पर है। बीते तीन माह में स्थिति में अपेक्षित सुधार हुआ है। कई महत्वपूर्ण योजनाओं पर तेजी से काम चल रहा है।

जलजमाव से निदान को हो हर तरह की तैयारी : प्रभारी मंत्री ने बरसात में उत्पन्न जलजमाव की स्थिति के निराकरण की दिशा में चल रहे प्रयासों की समीक्षा की। बैठक में नगर आयुक्त द्वारा मौजूदा ड्रेनेज नेटवर्क का विवरण, शहर में जलजमाव, जल निकासी एवं नाले की समस्या और समाधान को लेकर विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई गई। मंत्री ने निर्देश दिया कि शहर में जल जमाव की समस्या के निराकरण की दिशा में प्रभावी कार्य करना सुनिश्चित करें। विभिन्न विभागों यथा- रेलवे एवं एनएचएआइ से समन्वय स्थापित करते हुए जो भी तकनीकी बाधाएं हैं उसे शीघ्र दूर करते हुए उक्त समस्या के समाधान की दिशा में त्वरित कार्रवाई करें। रेलवे और एनएचएआइ से समन्वय स्थापित करने को कहा। विलंब करने पर संबंधित पर जवाबदेही तय की जाएगी। कार्य को रफ्तार दें ताकि अगले बरसात के पूर्व लोगों को समस्याओं से दो-चार न होना पड़े।

बैठक में बुडको के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि अगली बारिश तक 60 प्रतिशत समस्याओं का समाधान हो जाएगा। एसडब्ल्यूडी एवं एसटीपी मुजफ्फरपुर योजना के बारे में बताया गया है कि वर्तमान में मिठनपुरा तिरहुत कैनाल भाग एवं कच्ची पक्की भाग में नाली निर्माण कार्य प्रगति पर है। लगभग 16 मीटर नाली,दो अदद पुलिया निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है । आगामी मानसून से पूर्व दोनों भागों में नाला निर्माण कार्य पूर्ण हो जाएगा।

बैठक में नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, उप विकास आयुक्त आशुतोष द्विवेदी, नगर निगम के पदाधिकारी, तकनीकी विभागों के पदाधिकारियों के साथ विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे। जलजमाव वाले क्षेत्र में पहले पूर्ण कराएं योजना

मंत्री ने बैठक के बाद प्रेस वार्ता में कहा कि जलजमाव वाले क्षेत्र में योजना पहले पूर्ण करें। इससे इस बरसात इस क्षेत्र के लोगों को राहत मिलेगी। काम आगे भी जारी रहेगा। यहां वर्ष 1895 से यह काम चल रहा है। धीरे-धीरे जनता भी स्मार्ट हो जाएगी। एसटीपी के लिए जमीन उपलब्ध नहीं होने के सवाल के जवाब में मंत्री ने कहा कि विभागों से एनओसी लेनी है। जमीन का चयन हो चुका है। शहर में अतिक्रमण को लेकर उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी के रास्ते में कुछ भी आएगा तो हटाया जाएगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept