लूट-डकैती करने वाले अंतरजिला पेशेवर गिरोह के आठ गिरफ्तार

शहर के आसपास के क्षेत्रों में किराए का मकान लेकर लूटपाट व डकैती करने वाले अंतरजिला पेशेवर गिरोह के आठ बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 01:00 AM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 01:00 AM (IST)
लूट-डकैती करने वाले अंतरजिला पेशेवर गिरोह के आठ गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर : शहर के आसपास के क्षेत्रों में किराए का मकान लेकर लूटपाट व डकैती करने वाले अंतरजिला पेशेवर गिरोह के आठ बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इसमें समस्तीपुर जिला के मोहद्दीनगर थाना राजगमा गांव का दीपक कुमार उर्फ प्रदीप, चकमेहसी थाना के बेलसंडी गांव का अमरजीत कुमार उर्फ बालाजी, अहियापुर थाना क्षेत्र चंदन बखरी गांव के रूमी हसन, सिकंदरपुर का अनिल सहनी, मुशहरी थाना के बेला रोड रोहुआ का सोनू कुमार उर्फ चिकरना, गंगापुर गांव का सोनू कुमार उर्फ सुखा, बेदौलिया गांव का संजय सहनी व अहियापुर थाना क्षेत्र के झपहां का राजू पांडेय शामिल है। सभी की गिरफ्तारी मुशहरी थाना क्षेत्र से हुई है। इसके पास से दो पिस्टल, एक देसी कट्टा, एक मैगजीन, आठ कारतूस, सात मोबाइल, चोरी की एक बाइक व मादक पदार्थ बरामद किया गया है। सभी पेशेवर आपराधिक गिरोह से जुड़े हुए हैं। ये पहले भी जेल जा चुके हैं। जमानत पर जेल से रिहा होने के बाद फिर से लूटपाट करने लगते थे। एसएसपी जयंतकांत ने गुरुवार की शाम अपने कार्यालय कक्ष में आयोजित प्रेसवार्ता में इसकी जानकारी दी। मौके पर डीएसपी पूर्वी मनोज कुमार पांडेय व मुशहरी थानाध्यक्ष शशिभूषण भी मौजूद थे।

गिरोह का सरगना मुन्ना खां तीन बार जा चुका जेल : एसएसपी ने बताया गिरोह का सरगना मुन्ना खां है। वह लूट, डकैती, छिनतई व आ‌र्म्स एक्ट के मामले में तीन बार जेल जा चुका है। अन्य बदमाशों में प्रदीप कुमार उर्फ दीपक दो बार, अनिल सहनी चार बार, संजय सहनी दो बार, सोनू कुमार एक बार व राजू पांडेय दो बार जेल जा चुका है। सभी बदमाशों के विस्तृत आपराधिक इतिहास को खंगाला जा रहा है।

समस्तीपुर व गायघाट में लूट की रची जा रही थी साजिश : बताया कि तकनीकी व मानवीय सूचना के आधार पर उन्हें जानकारी मिली कि गुरुवार की सुबह कुछ बदमाश अपराध की घटना को अंजाम देने के लिए मुशहरी थाना के रोहुआ मठ के निकट जुटे हैं। सूचना मिलने के बाद डीएसपी पूर्वी मनोज कुमार पांडेय व मुशहरी थानाध्यक्ष शशिभूषण के नेतृत्व में एक विशेष पुलिस टीम गठित की गई। इस टीम ने छापेमारी कर सभी को गिरफ्तार किया। पूछताछ में सभी ने बताया कि समस्तीपुर व गायघाट में लूट की साजिश रचने के लिए सभी यहां एकत्रित हुए थे। किराए के मकान में रह करते थे लूटपाट : पूछताछ में सभी ने पुलिस को बताया कि जिस इलाके में लूटपाट करना होता था, उस इलाके में किराए में अलग-अलग कमरा लेते थे। वहां वे सभी निजी कंपनी का कर्मी बताते थे। इसके बाद टारगेट तय कर उसकी रेकी करते थे। लूटपाट करने के बाद उस क्षेत्र को छोड़ देते थे। हाल के दिनों में अहियापुर में किराए के कमरे में रहकर लूटपाट को अंजाम दिया था।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम