सीतामढ़ी में मास्क का थैला लेकर घूम रहे थे डीएम, जो सामने दिखता उनको पहनाते-समझाते, जुर्माना भी लिया

सीतामढ़ी जिले में डीएम की अनूठी पहल डीएम पैदल चल रहे थे। एक-एक दुकान पर ग्राहकों को रोका-टोका मास्क पहनवाया। पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। लोग सतर्क हो गए। फटाफट मास्क पहनने लगे। कोरेाना संक्रमण से बचाव के ल‍िए गाइडलाइन का पालन जरूरी।

Dharmendra Kumar SinghPublish: Sun, 16 Jan 2022 03:16 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 03:16 PM (IST)
सीतामढ़ी में मास्क का थैला लेकर घूम रहे थे डीएम, जो सामने दिखता उनको पहनाते-समझाते, जुर्माना भी लिया

सीतामढ़ी, जासं। घर से निकलते वक्त शायद ही किसी को पता होगा कि आज उनका सामना जिले के कलेक्टर से होनेवाला है। बिना मास्क पहने जो लोग दिखाई पड़े डीएम सुनील कुमार यादव ने किसी को नहीं छोड़ा। सबको मास्क पहनवाया। बिना मास्क के घर से निकलने का कारण पूछते रहे, जुर्माना भी लगाया। कोविड-19 के नियमों की जानकारी दी और हिदायत के साथ उसका पालन करने को कहा।

डीएम अचानक बाजपट्टी प्रखंड मुख्यालय पहुंच गए। उनके साथ पूरा प्रशासनिक अमला चल रहा था। गाड़ी से उतरकर डीएम पैदल चल रहे थे। एक-एक दुकान चेक की। ग्राहकों को रोका-टोका, मास्क पहनवाया। पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। लोग सतर्क हो गए। फटाफट मास्क पहनने लगे। बैंक चौक, रामफल मंडल चौक पर डीएम खुद डटे रहे। अपने सामने मास्क चेङ्क्षकग अभियान चलाया। करीब दो दर्जन लोगों का मास्क नहीं पहने के कारण जुर्माना भी लगाया। एक दुकान में दुकानदार व ग्राहक मास्क नहीं पहने हुए थे जिससे डीएम ने दुकान बंद करा दी। डीपीआरओ परिमल कुमार, बीडीओ संजीत कुमार लोगों को रोक-टोक करते हुए मास्क पहना रहे थे। एक साधु बिना मास्क के गुजर रहे थे तो डीपीआरओ ने उनको टोका। बोले-बाबा कोरोना किसी व्यक्ति विशेष को नहीं पहचानता। इसलिए मास्क पहन लीजिए नहीं तो गमछा से ही मुंह और नाक अ'छे ढंग से ढक लीजिए।

बुरे फंस गए बाबा : बाजपट्टी में मास्क नहीं पहननेवालों को रोको-टोको अभियान चल रहा था। डीएम की मौजूदगी में कई अफसर लोगों को मास्क के लिए रोकते-टोकते और उन्हें मास्क पहनाने के बाद ही जाने देते। इसी बीच डीपीआरओ परिमल कुमार की नजर एक गेरुआ वस्त्र धारी बाबा पर पड़ी। बाबा साइकिल से थे और उन्हें लगा कि उनका वेशभूषा देखकर कोई उन्हें रोकेगा-टोकेगा नहीं। मगर, डीपीआरओ ने बड़े ही शालीनता से उन्हें रोका और मास्क के लिए टोका भी। बाबा उनकी बातों से प्रभावित हुए। डीपीआरओ ने कहा कि कोरोना वायरस किसी को नहीं पहचानता। मास्क व टीकाकरण ही बचाव का उपाय है। उनकी बातें सुनकर बाबा अपने गमछे से ही मुंह व नाक ढंक लिए। उनको मास्क भी दिया गया।

Edited By Dharmendra Kumar Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept