This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

मधुबनी ज‍िले में जिप अध्यक्ष पराजित, पूर्व विधायक गुलाब यादव की पुत्री जीती, पत्नी हारी

Madhubani News आठवें चरण में दो निवर्तमान जिला पार्षदों ने की वापसी दो का पत्ता साफ अब तक घोषित परिणाम में 37 निवर्तमान जिला पार्षदों में से महज छह ने ही की वापसीअब तक जिप सदस्य के 31 पदों पर नए चेहरे को मिली कामयाबी।

Dharmendra Kumar SinghFri, 26 Nov 2021 10:16 PM (IST)
मधुबनी ज‍िले में जिप अध्यक्ष पराजित, पूर्व विधायक गुलाब यादव की पुत्री जीती, पत्नी हारी

मधुबनी, जासं। पंचायत आम चुनाव के आठवें चरण के तहत जिले के दो प्रखंडों लखनौर एवं झंझारपुर की मतगणना शुक्रवार को जिला मुख्यालय स्थित आरके कॉलेज में कराई गई। मतगणना के बाद इन दोनों प्रखंडों से विभिन्न पदों के कुल 3,262 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला हो गया। इन उम्मीदवारों में 1,619 महिला उम्मीदवार भी शामिल थीं। मतगणना परिणाम सामने आते ही विजयी उम्मीदवार एवं उनके समर्थकों के चेहरे खिल उठते थे। विजयी उम्मीदवारों एवं उनके समर्थकों में होली-दीवाली सा नजारा रहा। जबकि, पराजित उम्मीदवार एवं उनके समर्थकों के बीच मायूसी छाया रहा। आठवें चरण की मतगणना में उक्त दोनों प्रखंड क्षेत्र स्थित जिला परिषद सदस्य पद के पांच सीटों में से तीन सीटों पर नए चेहरे को कामयाबी मिली।

यह भी पढ़ें: नए कोरोना वायरस स्ट्रेन Omicron ने बढ़ाई मुजफ्फरपुर के लोगों की चिंता, लाकडाउन की याद ताजा

हालांकि दो निवर्तमान पार्षद मो. रेजाउद्दीन एवं प्रेम नारायण झा अपनी सीट बचाने एवं वापसी करने में सफल रहे। खास बात यह रही कि निवर्तमान जिला परिषद अध्यक्ष शीला देवी को जिला परिषद सदस्य पद के चुनाव में बुरी तरह पराजय का सामना करना पड़ा। वहीं पूर्व विधायक गुलाब यादव की पुत्री जिला परिषद सदस्य पद का चुनाव जीतने में कामयाब रहीं। हालांकि पूर्व विधायक गुलाब यादव की पत्नी को जिला परिषद सदस्य पद के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा।

नौवें चरण में एक निवर्तमान जिला पार्षद जिला परिषद सदस्य पद के लिए चुनाव मैदान में नहीं उतरे थे। अब तक सात चरणों में 15 प्रखंड क्षेत्र स्थित जिला परिषद सदस्यों के 37 पदों का परिणाम घोषित हो चुका है। इसमें महज छह निवर्तमान जिला पार्षद ही अपनी सीट बचाने में कामयाब हुए। शेष 31 जिला परिषद सदस्य निर्वाचन क्षेत्रों से जिला पार्षद के रूप में नए चेहरे सामने आए हैं। खजौली, राजनगर, पंडौल एवं अंधराठाढ़ी प्रखंडों से महज एक-एक निवर्तमान जिला पार्षद एवं झंझारपुर प्रखंड क्षेत्र से दो निवर्तमान जिला पार्षद अपनी सीट बचाने में सफल रहे हैं।

वहीं आठवें चरण में मधवापुर प्रखंड क्षेत्र स्थित जिला परिषद निर्वाचन क्षेत्र संख्या-तीन की निवर्तमान जिला पार्षद चुनाव मैदान में नहीं थी। इन्होंने अपने बदले अपनी पुत्रवधू को चुनाव मैदान में उतारा था। इनकी पुत्रवधू ने चुनाव जीत कर अपने परिवार में जिला पार्षद का पद बरकरार रखने में कामयाब हुई थीं। इस प्रकार सातवें चरण में एक निवर्तमान महिला जिला पार्षद की पुत्रवधू को भी कामयाबी हाथ लगी थी। वहीं लखनौर प्रखंड क्षेत्र के 17 निवर्तमान मुखिया में से 16 निवर्तमान मुखिया चुनाव मैदान में उतरे थे। इन 16 निवर्तमान मुखिया में से महज दो को कामयाबी हाथ लगी। जबकि झंझारपुर प्रखंड क्षेत्र के 17 निवर्तमान मुखिया में से चार निवर्तमान मुखिया को ही अपनी सीट बचाने में कामयाबी मिली।

Edited By: Dharmendra Kumar Singh

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!