This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

मरने के बाद नहीं नसीब हुआ अपनों का कंधा, जानिए क्यों अस्पताल में ही शव छोड़ भाग खड़े हुए स्वजन

Coronavirus जिले में कोरोना से मौत का पहला मामला। पत्नी भी पॉजिटिव। अब प्रशासन निर्धारित मानक के अनुसार करेगा शव का अंतिम संस्कार।

Ajit KumarSun, 07 Jun 2020 08:59 AM (IST)
मरने के बाद नहीं नसीब हुआ अपनों का कंधा, जानिए क्यों अस्पताल में ही शव छोड़ भाग खड़े हुए स्वजन

मुजफ्फरपुर, जेएनएन। Coronavirus : कटरा इलाके के कोरोना पॉजिटिव एक व्यक्ति की मौत की सूचना मिलने के साथ ही स्वजन फरार हो गए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी जब खोज खबर में जुटे तो सबका स्विच ऑफ मिला। इस बीच शव को रिजर्व रखा गया है। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत शव का अंतिम संस्कार किया जाएगा। वहीं, मृतक आश्रित को चार लाख की सरकारी सहायता दी जाएगी। शनिवार देर शाम आई रिपोर्ट में दोनों पॉजिटिव मिले हैं। पत्नी का कोविड केयर सेंटर में इलाज कराया जाएगा। उधर, सीएस ने कहा कि उसके संपर्क में आए सभी लोगों की खोज की जा रही है। सबके नमूने लेकर जांच कराई जाएगी। डीएम ने कहा कि मरीजों के चैन बनने पर कंटेनमेंट जोन बनाने की कवायद की जाएगी। फिलहाल अभी ऐसा कुछ नहीं है।

एक जून को दिल्ली से आए थे दोनों 

बता दें कि जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों में मौत का यह पहला मामला है। बताया गया कि एक जून को दिल्ली से आने के बाद दोनों क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे थे। तबीयत खराब होने के बाद प्रखंड क्वारंटाइन केंद्र में पत्नी के साथ उसे शिफ्ट कराया गया था। वहां स्थानीय पीएचसी द्वारा इलाज किया जा रहा था। चार जून की रात अचानक स्थिति बिगडऩे पर उन्हें सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस बीच पांच जून को सुबह करीब सात बजे इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गई। डीपीआरओ कमल ङ्क्षसह ने बताया कि दो जून को दंपती के नमूने लिए गए थे। इसकी रिपोर्ट शनिवार की शाम मिली है। इसमें दोनों को कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। सिविल सर्जन डॉ.एसपी सिंह ने बताया कि रविवार को उसके अंतिम संस्कार की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। इस बीच संक्रमित का इलाज करने वाले पीएचसी और सदर अस्पताल के चिकित्सक के साथ अन्य स्टाफ और उसके गांव के दो दर्जन लोगों को चिह्नित किया गया है। सबके नमूने लिए जाएंगे।

इमरजेंसी व जनरल वार्ड को कराया सैनिटाइज

सदर अस्पताल में पॉजिटिव की सूचना मिलने के बाद अफरातफरी मच गई। इमरजेंसी वार्ड व जनरल वार्ड को सैनिटाइज कराया गया। सिविल सर्जन ने कहा कि लगातार चार दिनों तक सैनिटाइज कराया जाएगा। केयर इंडिया के जिला समन्वयक सौरभ तिवारी ने बताया कि रविवार को कटरा व सदर अस्पताल में नमूने संग्रहित किए जाएंगे।

कम्युनिटी स्प्रेडिंग का अभी मामला नहीं

 डीएम ने कहा कि बड़ी संख्या में पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। इसको लेकर इन सभी मरीजों के संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है। वैसे अभी कम्युनिटी स्प्रेडिंग का मामला नहीं लग रहा है। इन सभी मरीजों का पूरा विवरण लिया जा रहा है। इसके बाद ही यह पता चलेगा कि इनके संपर्क में कौन-कौन लोग आए हैं। अगर एक से दूसरे व दूसरे से तीसरे व आगे में मरीजों की संख्या बढ़ती है तभी कम्युनिटी स्प्रेडिंग का मामला बनता है। अभी ऐसा नहीं लग रहा है। इसमें कई ऐसे हैं जो बाहर से आकर होम क्वारंटाइन तो कई प्रखंड क्वारंटाइन में रह रहे थे।

तुर्की में 300 बेड वाला बना कोविड केयर सेंटर

 जिले में संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए कोविड केयर सेंटर बढ़ाने की दिशा में भी प्रशासन की कवायद जारी है। डीएम ने बताया कि तुर्की स्थित एक अस्पताल को कोविड केयर सेंटर के रूप में लिया गया है। वहां पर 300 बेड वाला कोविड केयर सेंटर तैयार हो गया है।  

Edited By: Ajit Kumar

मुजफ्फरपुर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!