तीन लड़कियां नदी में डूबीं, दो की बची जान, एक लापता

मधवापुर प्रखंड क्षेत्र में धौंस व जमुनी नदी के संगम तट पर स्नान करने गई तीन लड़कियां अचानक गहरे पानी में डूब गई। हालांकि आनन- फानन में ग्रामीणों के सहयोग से दो लड़कियों को नदी के गहरे पानी से निकाल कर बचा लिया गया। जबकि एक लड़की लापता बताई जा रही है।

JagranPublish: Sun, 07 Nov 2021 12:09 AM (IST)Updated: Sun, 07 Nov 2021 12:09 AM (IST)
तीन लड़कियां नदी में डूबीं, दो की बची जान, एक लापता

मधुबनी । मधवापुर प्रखंड क्षेत्र में धौंस व जमुनी नदी के संगम तट पर स्नान करने गई तीन लड़कियां अचानक गहरे पानी में डूब गई। हालांकि आनन- फानन में ग्रामीणों के सहयोग से दो लड़कियों को नदी के गहरे पानी से निकाल कर बचा लिया गया। जबकि एक लड़की लापता बताई जा रही है। शनिवार की सुबह भैयादूज पर्व के अवसर पर अखरहरघाट के संगम तट पर स्नान करने के लिए हरलाखी थाना क्षेत्र के पनसलवा निवासी राम एकबाल यादव की 18 वर्षीय पुत्री सविता कुमारी, ननटून यादव की 16 वर्षीय पुत्री मनीषा कुमारी और इंद्रजीत यादव की 14 वर्षीय रूबी कुमारी नदी में गई थी। स्नान करने के दौरान तीनों लड़कियां नदी के गहरे पानी में चली गई। जिस कारण तीनों लड़कियां डूब गई। हालांकि इस दौरान वहां पर मौजूद ग्रामीणों ने नदी में कूदकर लड़कियों की जान बचाने की कोशिश किया। ग्रामीणों ने मनीषा कुमारी व रूबी कुमारी की जान बचा लिया। जबकि रामएकबाल यादव की पुत्री सविता कुमारी नहीं मिल सकी। इसके बाद मधवापुर व साहरघाट थाना पुलिस को घटना की सूचना दी गई। सूचना मिलते ही अंचलाधिकारी रामकुमार पासवान, मधवापुर थानाध्यक्ष गया सिंह व साहरघाट थानाध्यक्ष रामचंद्र चौपाल मौके पर पहुंचकर गोताखोर के माध्यम से कई घंटों तक नदी के पानी में डूबी तीसरी लड़की की खोजबीन कराया। लेकिन समाचार लिखे जाने तक तीसरी लड़की का कोई अतापता नहीं चल सका था।

संगम तट पर काफी संख्या में लोग स्नान करने पहुंच रहे थे। उक्त घटना के बाद पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी। नदी के खतरनाक जोन को बांस बल्ले लगा कर घेर दिया गया। घटना के बाद पीड़ित परिवार में चीख पुकार मच गई है। कुछ दिन बाद लापता लड़की का विवाह भी होना था। बचाई गई दोनों लड़की का इलाज अस्पताल में किया जा रहा है। दोनों लड़की खतरे से बाहर है। अंचलाधिकारी रामकुमार पासवान ने बताया कि तीसरी लड़की की खोजबीन के लिए दरभंगा से एनडीआरएफ की टीम को बुलाया गया है। प्रशासन लगातार नदी के किनारे कैम्प कर रही है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept