अतिक्रमण खाली कराने पहुंचे पुलिस-प्रशासन पर पथराव, जेसीबी क्षतिग्रस्त

मधुबनी। पंडौल मध्यम पंचायत के डीहटोल बड़की गाछी क्षेत्र में अतिक्रमण खाली कराने गए प्रशासन क

JagranPublish: Sat, 10 Apr 2021 12:15 AM (IST)Updated: Sat, 10 Apr 2021 12:15 AM (IST)
अतिक्रमण खाली कराने पहुंचे पुलिस-प्रशासन पर पथराव, जेसीबी क्षतिग्रस्त

मधुबनी। पंडौल मध्यम पंचायत के डीहटोल बड़की गाछी क्षेत्र में अतिक्रमण खाली कराने गए प्रशासन को विरोध का सामना करना पड़ा। अतिक्रमणकारियों ने जेसीबी को क्षतिग्रस्त कर दिया। पुलिस बल पर पथराव किया गया। हालात बिगड़ता देख पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। आंसू गैस के गोले भी छोड़े। इसके बाद लोग भागने लगे। इसके बाद जेसीबी की मदद से अतिक्रमण खाली कराया गया। इस दौरान प्रदर्शन कर रही एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जानकारी के अनुसार शुक्रवार की दोपहर सदर एसडीओ अभिषेक रंजन, सदर एसडीपीओ कामिनी बाला, बीडीओ महेश्वर पंडित, सीओ पंकज कुमार, पंडौल थानाध्यक्ष अनोज कुमार, एसआई सुरति महतो, एएसआई अबुल कलाम एजाज, मनोज कुमार सिंह, सकरी थाना के एसआई अमरनाथ ठाकुर, विमल कुमार सिंह व पुलिस लाईन से आए दर्जनों महिला-पुरूष पुलिस बल के साथ पंडौल डीह टोल अतिक्रमण खाली कराने पहुंचे। पुलिस को आते देख अतिक्रमणकारियों ने विरोध शुरू कर दिया और जेसीबी पर हमला कर दिया। जेसीबी चालक जान बचाकर भागा। प्रदर्शनकारियों ने पुलिस बल पर भी ईंट-पत्थर बरसाना शुरू कर दिया। मजबूरन, प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए आंसू गैस के गोले छोड़े। इसके बाद लोग तितर-बितर हो गए और अतिक्रमण को खाली कराया गया। तत्काल एक महिला प्रदर्शनकारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सदर एसडीपीओ कमिनी बाला ने निर्देश दिया कि उक्त मामले में भू स्वामियों के द्वारा प्राप्त आवेदनों के आधार पर अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करते हुए उन सबों की गिरफ्तारी की जाए। -------------------- 10 एकड़ जमीन का हुआ अतिक्रमण : पंडौल डीहटोल निवासी बिहार सरकार के अवर सचिव पद से सेवानिवृत्त अरविद कुमार झा व अतिद्र नाथ उर्फ शंकर झा की लगभग 10 एकड़ जमीन पर दर्जनों अज्ञात लोगों ने गुरुवार की देर रात जबरन कब्जा कर रातों-रात झोपड़ी बना ली। उस जगह पर अरविद कुमार झा का कृषि फॉर्म है। जिसे बांस-बल्ले से घेराबंदी की गई थी। अतिक्रमणकारियों ने उसे तोड़ दिया और सैकड़ों की संख्या में लोगों ने आनन-फानन में रात के अंधेरे में ही उस जमीन पर झोपड़ी बना अतिक्रमण कर लिया। कृषि फॉर्म में कुछ दिन पूर्व ही भू-स्वामी ने अरूमा एग्रो फॉर्मस प्राईवेट लिमिटेड नाम की नव निर्माण कंपनी का बोर्ड लगा गेट बनवाया था। जिसे तोड़ते हुए फॉर्म में तालाब, आम का बगीचा, शीशम के कुछ पेड़, पंपिग सेट, गृह निर्माण संबंधी सामग्री, इमारती लकड़ी आदि रखे हुए थे, जिन्हें क्षतिग्रस्त करके अतिक्रमणकारियों ने लूट लिया। ------------- भू-स्वामियों ने प्रशासन से लगाई गुहार : शुक्रवार की सुबह जब भू-स्वामियों ने अपने जमीन पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा देखा तो न्याय की गुहार लगाने प्रखंड व जिला प्रशासन के पास पहुंच गए। पदाधिकारियों ने भी तत्परता दिखाई और भारी पुलिस बल के साथ अतिक्रमण खाली कराने पहुंच गए, लेकिन वहां उन्हें विरोध का सामना करना पड़ा। वरीय पदाधिकारियों के निर्देश पर पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए लोगों को वहां से हटाया और अतिक्रमण खाली कराया। कुछ देर तक वहां तनावपूर्ण माहौल बना रहा। सदर एसडीओ अभिषेक रंजन ने कहा कि इस तरह का कृत्य बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। ऐसे हिसात्मक कार्य करने वालों को नहीं छोड़ा जाएगा। उन सबों के विरुद्ध विधिसम्मत कार्रवाई की जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept