साहस और पराक्रम दिवस के रूप में मनाई गई नेताजी की 125वीं जयंती

देश की आजादी के आंदोलन के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती रविवार को शहर से लेकर प्रखंड एवं ग्रामीण क्षेत्र तक मनाया गया। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी द्वारा सुभाषपल्ली चौक पर पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया।

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 07:06 PM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 07:06 PM (IST)
साहस और पराक्रम दिवस के रूप में मनाई गई नेताजी की 125वीं जयंती

संवाद सहयोगी, किशनगंज : देश की आजादी के आंदोलन के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती रविवार को शहर से लेकर प्रखंड एवं ग्रामीण क्षेत्र तक मनाया गया। इस दौरान भारतीय जनता पार्टी द्वारा सुभाषपल्ली चौक पर पराक्रम दिवस के रूप में मनाया गया। भाजपा जिलाध्यक्ष सुशांत गोप के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं द्वारा नेताजी के प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के साथ पुष्प किए गए।

उन्होंने कहा कि नेताजी के अंदर असीम साहस और अनूठी संकल्प शक्ति विद्यमान था। उनके अछ्वुत व्यक्तित्व और ओजस्वी वाणी ने लोगों के ह्रदय में स्वतंत्रता का ज्वार उत्पन्न कर दिया था। उनका जीवन देश के युवाओं के लिए आदर्श बन चुका है। इस दौरान मुख्य रूप से लखन लाल पंडित, मनीष सिन्हा, राजेश गुप्ता, जय किशन प्रसाद, अरविद मंडल, अजित दास, ज्योति कुमार सोनू, अजय सिंहा, राकेश गुप्ता, धीरज दास, शाहिल कुमार, संतोष मंडल, राहुल साह और मयंक सिंह सहित कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

इधर जीबीएम स्कूल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के पदचिन्हों पर चलकर देश की सेवा करना प्रत्येक विद्यार्थियों के जीवन का सपना के बारे में बताते हुए उनकी जयंती मनाई गई। विद्यार्थियों को नेताजी के बताए मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया गया। स्कूल के अध्यक्ष अनिल कुमार सिंह द्वारा विद्यालय परिसर में नेताजी के तैल्य चित्र पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित कर जयंती मनाई गई। उन्होंने कहा कि कोरोना गाइडलाइन के तहत नेताजी की जयंती मनाई गई। सुभाष चंद्र बोस जैसा नेता मिलना दुर्लभ है। वे हमारे देश के कर्णधार थे। युवाओं के लिए आज भी प्रासंगिक है। वहीं विद्यालय प्रशासक अतुल रौशन ने कहा कि नेताजी के जयंती के अवसर पर ही जीबीएम स्कूल की नींव रखी गई थी। योग शिक्षक रविराज ने सुभाष चंद्र बोस के आदर्श को आत्मसात कर निस्वार्थ भाव से देश सेवा में लगे रहने के संदेश दिए। इस दौरान मुख्य रूप से सैय्यद जैगम मिर्जा, राजकुमार सिंह, अमित दत्ता, गुलाम जिलानी, आरजू आरा, स्वाति गुप्ता, आभा झा,आकांक्षा गिरी, ओजस्विनी कुमारी, सुमन कुमारी,जगदेव कुमार मौजूद रहे।

वहीं, जेएनवी में सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती मनाई गई। कार्यक्रम का शुभारंभ आरंभ शिक्षक विनोद कुमार चौरसिया ने दीप प्रज्वलित कर किया। उन्होंने बताया कि यह देशनायक दिवस इसलिए हैं कि रवींद्रनाथ टैगोर नेताजी को इसी नाम से बुलाते थे। केंद्र सरकार ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती के अवसर पर उनके अदम्य साहस व शौर्य को सम्मान देने के लिए 23 जनवरी को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया था। वर्तमान समय में नेताजी के विचारों को आत्मसात करने की आवश्यकता है। इस दौरान वरिष्ठ शिक्षक अजीत कुमार, शिक्षक विजय राय, विनोद कुमार, इनामुर्र रहमान, मुनव्वर आजाद, लक्ष्मण, ऋतु, संजीव कुमार, सरिता कुमारी, सविता सिंह, प्रतिभा कुमारी, शैलजानंद झा मौजूद थे। ------

सुभाष चंद्र बोस भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक थे

संसू, ठाकुरगंज : रविवार को नगर पंचायत ठाकुरगंज द्वारा नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125वीं जयंती पराक्रम दिवस के रूप में मनाई गई। नेताजी सुभाष चंद्र बोस मार्केट में स्थापित आदमकद प्रतिमा स्थल पर आयोजित जयंती स्थल पर वरिष्ठ नागरिक नन्द किशोर गाड़ोदिया द्वारा राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। राष्ट्रीय गान गाए गए। उसके उपरांत कार्यक्रम में मौजूद नपं अध्यक्ष प्रमोद कुमार चौधरी, पूर्व नपं अध्यक्ष देवकी प्रसाद अग्रवाल, पूर्व पार्षद सिकंदर पटेल, स्थानीय पार्षद प्रतिनिधि प्रदीप साह व खालिक अंसारी, पूर्व पार्षद अनिल महाराज, भाजपा किसान मोर्चा के जिलाध्यक्ष बिजली प्रसाद सिंह, अधिवक्ता बलराम साह, भाजयुमो अमित कुमार सिंहा आदि ने बारी बारी से नेताजी सुभाष चंद्र बोस की आदमकद प्रतिमा में माल्यार्पण कर उन्हें मेरी आदरपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की। इस दौरान नगर के नागरिकों को संबोधित करते हुए नपं अध्यक्ष प्रमोद कुमार चौधरी, पूर्व नपं अध्यक्ष देवकी प्रसाद अग्रवाल ने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस देश के महान स्वतंत्रता सेनानी एवं भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक थे। नेताजी सुभाष चंद्र बोस का नारा तुम मुझे खून दो मैं तुझे आजादी दूंगा सुनने के बाद आज भी शरीर में क्रांतिकारी ऊर्जा का संचरण होता है। वे देश के लिए हर हाल में आजादी चाहते थे और अपना पूरा जीवन देश के नाम करते हुए अंतिम सांस तक देश की आजादी के लिए संघर्ष करते रहे। इस मौके पर प्रशांत पटेल, लोजपा नेता किशन बाबू पासवान, शिक्षक अक्षय सिन्हा, अरूप कुंडू, गुणाधर सिंह, भाबोतेश डे, विवेक साहा, संजीव झा, बादल कुंडू परमजीत मंडल, प्रकाश यादव, पवन गुप्ता, रोहित चौधरी, चंद्रकांत गौतम, विजय गुप्ता, नपं कर्मी मु. अ•ाीज सहित अन्य कई लोग मौजूद थे।

संसू, बिशनपुर : ग्राम पंचायत कार्यालय बिशनपुर में रविवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष सह मुखिया पिन्टू चौधरी के अध्यक्षता में स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस के 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में उनके तैल्य चित्र पर माल्यार्पण कर मनाया गया। तुम मुझे खून दो मैं तुम्हें आजादी दूंगा का नारा देने वाले महान स्वतंत्रता सेनानी सुभाष चंद्र बोस के मार्ग दर्शन पर चलने का संकल्प लिया। कार्यक्रम के दौरान कुमार प्रखर आर्या, अमर रजक, बाबुल रशीद, अरूण यादव, मु. तस्लीम सहित अन्य कई लोग मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept