सेक्टर पदाधिकारियों को मिला प्रशिक्षण

पंचायत चुनाव के सफल संचालन के लिए सोमवार को डीआरडीए परिसर स्थित रचना भवन में बहादुरगंज और ठाकुरगंन प्रखंड में मतदान के लिए सेक्टर पदाधिकारियों को चुनाव प्रशिक्षण दिया गया।

JagranPublish: Mon, 08 Nov 2021 10:56 PM (IST)Updated: Mon, 08 Nov 2021 10:56 PM (IST)
सेक्टर पदाधिकारियों को मिला प्रशिक्षण

संवाद सहयोगी, किशनगंज : पंचायत चुनाव के सफल संचालन के लिए सोमवार को डीआरडीए परिसर स्थित रचना भवन में बहादुरगंज और ठाकुरगंन प्रखंड में मतदान के लिए सेक्टर पदाधिकारियों को चुनाव प्रशिक्षण दिया गया। सभी 83 नियुक्त सेक्टर पदाधिकारियों को 18 अक्टूबर को भी विस्तृत प्रशिक्षण दिया जा चुका है। यह जानकारी जिलाधिकारी डा. आदित्य प्रकाश ने दी।

उन्होंने प्रशिक्षण कार्यक्रम में उपस्थित सेक्टर पदाधिकारियों से माक पोल, बायोमेट्रिक सत्यापन, आवश्यक वोटर सत्यापन दस्तावेज, ईवीएम कमिशनिग, वल्नरेबल बूथ विजिट के संबंध में प्रश्न किए। सभी पदाधिकारियों ने संतोषजनक जवाब दिए। 50 अंक की वस्तुनिष्ठ परीक्षा भी कराई गई थी। सभी पदाधिकारियों को निर्देश दिया कि शांतिपूर्ण, सफल और भयमुक्त मतदान संचालन में सभी अपने दायित्वों का निर्वहन शत प्रतिशत ऊर्जा के साथ करें। सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट यह सुनिश्चित करें कि उनके पास संबंधित बूथ के बीएलओ से संपर्क स्थापित हो। मतदान के दिन सुबह पांच बजे अपने क्षेत्र में उपस्थित हो जाएं। बहादुरगंज और ठाकुरगंज प्रखंड के लिए प्रति दो पंचायत पर एक जोन और सुपर जोन का गठन कर जोनल मजिस्ट्रेट और सुपर जोनल मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की गई है। इसी प्रकार एक पंचायत को दो सेक्टर में बांटकर मतदान केंद्र आवंटित कर दो सेक्टर पदाधिकारी की प्रतिनियुक्ति की गई है। सभी मजिस्ट्रेट के साथ पुलिस बल और वाहन टैग कर दिए गए हैं। निर्धारित समय पर वाहन उपलब्ध होते ही सभी पदाधिकारी क्षेत्र में भ्रमणशील रहेंगे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में सेक्टर पदाधिकारियों को ईवीएम के सीयू और बीयू को जोड़ना, माकपोल की प्रक्रिया तथा उसके परिणाम को दिखाना, मत डालना, क्लीयर करना, उसमें पेपर सील, स्पेशल टैग एवं स्ट्रीप सील से सील करना व मतदान प्रक्रिया आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। मतदान केंद्रों से संबंधित कोई भी समस्या हो तो तुरंत अपने निर्वाची पदाधिकारी के संज्ञान में ला कर ठीक करवाएं तथा बहादुरगंज प्रखंड के सेक्टर पदाधिकारी को 13 नवंबर तक सभी कार्य पूर्ण करने का निर्देश दिया। मतदान तिथि से 48 घंटे पूर्व सीमावर्ती क्षेत्र में एरिया डामिनेशन, बार्डर सीलिग, पेट्रोलिग को सुनिश्चित करवाने हेतु सक्रिय रहें। प्रशिक्षित सभी मास्टर ट्रेनरों द्वारा टेबुलों पर रखी गई ईवीएम एवं मतपेटी का हैंड्सआन प्रशिक्षण दिया गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept