कोरोना काल में बंद पड़ी ट्रेनों का परिचालन हो शुरू

पूर्वोत्तर बिहार रेल उपभोक्ता संघर्ष समिति की कार्यसमिति की बैठक कचहरी रोड में हुई। बैठक में रेलवे से जुड़े मुद्दों पर गहन विचार विमर्श किया गया।

JagranPublish: Sun, 22 May 2022 08:44 PM (IST)Updated: Sun, 22 May 2022 08:44 PM (IST)
कोरोना काल में बंद पड़ी ट्रेनों का परिचालन हो शुरू

जागरण संवाददाता, खगड़िया : पूर्वोत्तर बिहार रेल उपभोक्ता संघर्ष समिति की कार्यसमिति की बैठक कचहरी रोड में हुई। बैठक में रेलवे से जुड़े मुद्दों पर गहन विचार विमर्श किया गया। इस मौके पर संघर्ष समिति ने ऐलान किया कि खगड़िया रेल से जुड़ी समस्याओं के समाधान को लेकर अनवरत आंदोलन जारी रहेगा। कहा कि बिना संघर्ष के समस्याओं का समाधान नहीं होगा। इसलिए शांतिपूर्ण ढंग से आंदोलन को जारी रखेंगे।

बैठक को संबोधित करते हुए परबत्ता विधायक के प्रतिनिधि सह जेडआरयूसीसी सदस्य (पूर्व रेलवे) राकेश कुमार सिंह ने कहा कि रेलवे के विकास में स्थानीय सांसद को और सक्रियता बढ़ानी होगी। उन्होंने कहा कि मुंगेर रूट में ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जाए। बोले, कटिहार भाया बरौनी और कटिहार से समस्तीपुर के बीच पैसेंजर ट्रेन चलाने की जरूरत है। कटिहार से पटना, कटिहार से मुंगेर- जमालपुर होकर डीएमयू ट्रेन का परिचालन किया जाए। वहीं कोरोना काल में बंद पड़ी ट्रेनों का पुन: परिचालन अपने नियत समय सारणी से किया जाए। ताकि यात्री सुविधा का विस्तार हो। इससे रेलवे के राजस्व में इजाफा भी होगा।

वहीं प्रेम कुमार यशवंत ने कहा कि टाटा कटिहार एक्सप्रेस का प्रतिदिन परिचालन किया जाए। केंद्रीय संयोजक सह जेडआरयूसीसी सदस्य सुभाषचंद्र जोशी ने कहा कि मानसी रैक प्वाइंट उतर साइड में है। इसे दक्षिण साइड में शिफ्ट किया जाए। इस तरफ रेलवे की खाली जमीन है और नेशनल हाइवे से जुड़ा भी है। जाम की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी। इस मौके पर केंद्रीय सह संयोजक अब्दुल गनी, राम सूचित पासवान, मु. सादुल्ला, साकिब अहमद, सुरेश चंद्र समदर्शी, मदन सदा, रंजन साह, बासुदेव बिहारी, मु. रिजवान, महंत पुलकित गोस्वामी आदि मौजूद थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept